BREAKING NEWS

शरद पवार का ऐलान- महाराष्ट्र में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी NCP और कांग्रेस◾हिंदी को लेकर अमित शाह के बयान पर बोले कमल हासन - कोई 'शाह' नहीं तोड़ सकता, 1950 का वादा◾CJI रंजन गोगोई बोले-जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट◾गंगवार के बयान पर प्रियंका का वार, कहा-मंत्री जी, 5 साल में कितने उत्तर भारतीयों को दी हैं नौकरियां◾SC ने गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की दी अनुमति, कोई राजनीतिक रैली न करने का दिया आदेश◾हिंद महासागर में दिखा चीनी युद्धपोत जियान-32, अलर्ट पर भारतीय नौसेना◾कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के लिए हरसंभव प्रयास करें केंद्र : सुप्रीम कोर्ट◾SC ने फारूक अब्दुल्ला को पेश करने संबंधी याचिका पर केंद्र को जारी किया नोटिस ◾जन्मदिन पर चिदंबरम को बेटे कार्ति का पत्र, लिखा-कोई 56 इंच वाला आपको रोक नहीं सकता◾Howdy Modi कार्यक्रम में शामिल होने के ट्रंप के फैसले की PM ने की प्रशंसा, ट्वीट कर कही यह बात◾अयोध्या विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्वाणी अखाड़े ने सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता पैनल को लिखा पत्र◾पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तिहाड़ जेल में मनाएंगे अपना 74वां जन्मदिन◾‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होंगे ट्रम्प, भारतीय-अमेरिकी लोगों को एक साथ करेंगे संबोधित◾पुंछ: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, तीन जवान घायल◾अखिलेश यादव बोले- तानाशाही से सरकार चलाकर अपना लोकतंत्र चला रही है भाजपा◾शरद पवार ने NCP छोड़ने वाले नेताओं को बताया ‘कायर’◾जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करना भाजपा की राष्ट्रीय प्रतिबद्धता थी : नड्डा ◾आजाद ने अपने गृह राज्य जाने की अनुमति के लिए उच्चतम न्यायालय का किया रुख◾सिद्धारमैया ने बाढ़ राहत को लेकर केन्द्र कर्नाटक सरकार की आलोचना की◾बेरोजगारी पर बोले श्रम मंत्री-उत्तर भारत में योग्य लोगों की कमी, विपक्ष ने किया पलटवार ◾

पंजाब

जेतों में पंडित जवाहर लाल नेहरू की यादगर वाली जेल की कोठरी की गिरी छत

लुधियाना-जेतो :  पंजाब में दो दिन से लगातार पड़ रही छमाछम बारिश ने पटियाला, बठिण्डा समेत कई इलाकों में जहां भारी नुकसान पहुंचाया है वही जेतों मंडी में स्थित देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की यादगार वाली जेल की कोठरी की  छत गिरने का समाचार मिला है। इसके अतिरिक्त दूसरी बिल्डिंगों का हिस्सा भी किसी भी वक्त गिर सकने का अंदेशा बना हुआ है। 

उल्लेखनीय है कि जेतों के इतिहासिक मोर्चे के दौरान पटियाला और नाभा रियासत के बाहरी झगड़े के तौर पर अस्तित्व में आएं क्योंकि अंग्रेजी हुकूमत पहले ही इसी ताक में थी कि नाभा रियासत के महाराजा रिपू दमन सिंह के विरूद्ध कोई कार्यवाही करके उसको अंग्रेजी हुकूमत का प्रभाव कबूल करने के लिए मजबूर किया जा सके। अंग्रेजी हुकूमत ने दोनों रियासतों के मध्य कूदकर होशियारी के साथ दोनों महाराजों से फैसला करवाकर अधिकार प्राप्त कर लिए। 

हकू मत को ऐसा अधिकार देना ही महाराजाओं को महंगा पड़ा, इस संबंध में जानकारी देते पंजाब प्रदेश कमेटी के महासचिव पवन गोयल ने बताया कि उक्त स्थिति संबंधित पंजाब सरकार और जिले के उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया जा चुका है। इलाके के लोगों ने केंद्र सरकार और पंजाब सरकार से मांग की है कि नेहरू की यादगार को बचाने के लिए उचित कदम उठाएं जाएं और ठेकेदारों द्वारा किए गए कामों की जांच की जाएं।

स्मरण रहे कि जेतों की इसी कोठरी में पंडित जवाहर लाल नेहरू समेत पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह और देश के असंख्य स्वतंत्रता सेनानियों ने समय-समय पर अंग्रेजी हुकूमत के विरूद्ध इसी स्थान से आवाज बुलंद की थी और जेतों मोर्चे का अपना ही इतिहासिक महत्व है। 

- सुनीलराय कामरेड