BREAKING NEWS

कोरोना वायरस से निपटने के लिए PM मोदी की माता जी ने दिए 25 हजार रुपये◾Covid-19 को लेकर प्रियंका का ट्वीट , कहा - कांग्रेस सरकारों का इंतजाम शानदार ◾गृह मंत्रालय का बयान - इस साल तबलीगी गतिविधियों के लिये 2100 विदेशी भारत आए◾कोविड-19 के देशभर मे फैलने की आशंका, निजामुद्दीन से जुड़े संदिग्ध मामलों की देशभर में तलाश शुरू◾ITBP के जवानों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए पीएम राहत कोष में दिया एक दिन का वेतन ◾सरकार ने विदेशी तब्लीगी कार्यकर्ताओं को पर्यटन वीजा देने पर लगाई रोक ◾Covid 19 का कहर जारी : देश में कोरोना के 227 नये मामले आये सामने, पिछले 24 घंटों में तीन और मौतें◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 82 नए मामले आये सामने , मरीज़ों की तादाद 300 के पार◾निजामुद्दीन मुद्दे पर योगी सरकार एक्शन में ,तबलीगी जमात के 157 लोगों में से 95 प्रतिशत की हुई पहचान ◾तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में दी सहायता राशि, PM को पत्र लिख कर दिया समर्थन ◾कोरोना का कहर : यूपी में संक्रमितों की संख्या 100 के पार, नोएडा में सबसे अधिक पॉजिटिव मरीज◾कोरोना तबाही : दुनियाभर में सख्ती से लॉकडाउन लागू, मरने वालों का आंकड़ा 39 हजार के पार ◾निजामुद्दीन मरकज मामले में प्रबंधन के खिलाफ FIR दर्ज, जांच के लिए मामला अपराध शाखा को सौंपा गया ◾मरकज पर CM केजरीवाल ने दिखाई सख्ती, कहा- लापरवाही होने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा◾निजामुद्दीन मरकज मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- यह समय कमियां खोजने का नहीं बल्कि कार्रवाई करने का है◾कोरोना वायरस : मध्य प्रदेश में 17 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों की संख्या 64 हुई◾दिल्ली : मोहल्ला क्लिनिक के एक और डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, प्रशासन ने चस्पा किए नोटिस◾प्रवासी मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को कमेटी बनाने का दिया निर्देश◾तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने वाले विदेशियों के वीजा में मंत्रालय ने पाई गड़बड़ियां◾तबलीगी जमात के मरकज में आए 24 लोगों में कोरोना की पुष्टि, 1500 से 1700 लोग हुए थे शामिल◾

पंजाब के गांवों में सीमा प्रहरियों ने प्रदिर्शत किया अपना हुनर

लुधियाना-फाजिलका : ‘ बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ’ और ‘स्वच्छ भारत ’ मिशन के तहत सीमा सुरक्षा बल और भारतीय हवाई सेना की महिला आधिकारियों और सीमा प्रहरियों द्वारा गुजरात से 1400 किलोमीटर का सफर तय करके देश के सरहदी गाँवों की औरतो और बेटियों के अधिकारों प्रति निकाली जा रही कैमल सफारी यात्रा के तहत आज पंजाब आगमन के दौरान फाजिल्का सैक्टर की अंतरराष्ट्रीय सरहद के गाँव रूप नगर में पहुंचने पर भरपूर स्वागत किया गया। महिला अधिकारियों के माथे पर जहां भारतीय सभ्यता के अनुसार तिलक लगाकर और पुष्प वर्षा करके जयकारों के बीच उनकी हौसला अफजाई की गई वही इस रैली में शामिल होने वाली महिलाएं स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रही थी।

यह समूह भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती गांव बारेका ,शहतीर वाला में पहुंची तो महिला कममंडो द्वारा अपने हुनर के जौहर दिखाऐ गए, आसपास के दर्जनों गांवों की अनपढ़ महिलाओं और बुजुर्ग मांओं ने जहां जुग-जुग जिओं के आर्शीवाद दिए वही उनके हुनर और ताकत के प्रदर्शनों को देखकर दांतों तले उंगलियां दबाई। इस मौके पर सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियो द्वारा लोगों को लड़कियों के अधिकारों प्रति जागरूक होने के लिए प्रेरित किया ।

\"\"

कैमल सफारी यात्रा का नेतृत्व कर रही भारतीय हवाई सेना की अधिकारी अनूष्का ल्यूमस ने बताया कि उनको इससे एक अलग तरह का तजुर्बा हासिल हुआ है, उन्होंने बताया कि इस यात्रा के दौरान उन्हें कई ऐसे गाँव भी देखने को मिले जहाँ 100 -100 साल हो गए बारात नहीं आई, उन्होंने बताया कि राजस्थान के कई गाँवो में औरतो की काफी समस्याऐ हैं लेकिन पंजाब में इस तरह की समस्या कम है और लोगो के पास मौका है कि वह पंजाब को तरक्की की तरफ ले कर जाएँ ।

इस मौके सीमा सुरक्षा बल की 90 बटालियन के कमांडर एम.पी सिंह ने बताया कि देश की महिला आगे बढ़ रही है लेकिन कई इलाके ऐसे हैं जहाँ कई समस्याएं है लेकिन आज के समय में जो पढ़ेगा वह ही आगे बढ़ेगा, उन्होंने कहा कि आज हर किसी को सिर्फ बराबर का दर्जा देने की जरूरत है ।

इस कैमल सफरी यात्रा के फाजिल्का अंतरराष्ट्रीय सरहन्द के गाँव रूप नगर में पहुंचने पर एक देश भक्ति का प्रोगराम स्कूल में करवाया गया जहाँ स्कूल की एक छात्रा ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो कश्मीर भारत का हिस्सा रहेगा लेकिन पाकिस्तान नहीं रहेगा।

\"\"

इस मौके स्कूली छात्रा कविता ने बताया कि भारत की फौज एक मजबूत फौज है और जिस लिये उसे किसी तरह का खतरा नहीं है और वह पूरी तरह साथ अपने देश में महफूज है और वह भी इन महिला आधिकारियों की तरह पढक़र अफसर बनेगी ।

जब सीमा सुरक्षा बल की जांबाज महिला कमांडो द्वारा सरहदी गाँव वासियें के सामने अपने जौहर का प्रदर्शन किया जा रहा था उस समय गाँव की औरतें उनके जौहर अपने घुंगट में देखते नजर आई और जब औरतो से पूछा गया कि वह घूंघट क्यों नहीं उठाते तो उन्होंने बताया कि उन को इस की इजाजत नहीं है ।

- सुनीलराय कामरेड , रीना अरोड़ा