BREAKING NEWS

TMC में शामिल होने के बाद बाबुल सुप्रियो ने रखी दिल की बात, बोले- जिंदगी ने मेरे लिए नया रास्ता खोल दिया है ◾सिद्धू पर लगे एंटीनेशनल के आरोपों पर BJP का सवाल, सोनिया और राहुल चुप क्यों हैं?◾सुखजिंदर रंधावा हो सकते पंजाब के नए मुख्यमंत्री, अरुणा चौधरी और भारत भूषण बनेंगे डिप्टी सीएम◾इस्तीफा देने से पहले सोनिया को अमरिंदर ने लिखी थी चिट्ठी, हालिया घटनाक्रमों पर पीड़ा व्यक्त की◾सिद्धू के सलाहकार का अमरिंदर पर वार, कहा-मुझे मुंह खोलने के लिए मजबूर न करें◾पंजाब : मुख्यमंत्री पद की रेस में नाम होने पर बोले रंधावा-कभी नहीं रही पद की लालसा◾प्रियंका गांधी का योगी पर हमला, बोलीं- जनता से जुड़े वादों को पूरा करने में असफल क्यों रही सरकार ◾पंजाब कांग्रेस की रार पर बोली BJP-अमरिंदर की बढ़ती लोकप्रियता के डर से लिया गया उनका इस्तीफा◾कैप्टन के भाजपा में शामिल होने के कयास पर बोले नेता, अमरिंदर जताएंगे इच्छा, तो पार्टी कर सकती है विचार◾कौन संभालेगा पंजाब CM का पद? कांग्रेस MLA ने कहा-अगले 2-3 घंटे में नए मुख्यमंत्री के नाम का होगा फैसला◾पंजाब में हो सकती है बगावत? गहलोत बोले-उम्मीद है कि कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने वाला कदम नहीं उठाएंगे कैप्टन ◾CM योगी ने साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर गिनाईं अपनी सरकार की उपलब्धियां◾राहुल ने ट्वीट किया कोरोना टीकाकरण का ग्राफ, लिखा-'इवेंट खत्म'◾अंबिका सोनी ने पंजाब CM की कमान संभालने से किया इनकार, टली कांग्रेस विधायक दल की बैठक◾अफगानिस्तान में आगे बुनियादी ढांचा निवेश को जारी रखने के बारे में पीएम मोदी करेंगे निर्णय : नितिन गडकरी◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 30,773 नए मामलों की पुष्टि, 309 लोगों की हुई मौत◾पंजाब के बाद अब राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी निगाहें, क्या होगा उलटफेर?◾पंजाब के बाद राजस्थान कांग्रेस में हलचल, CM गहलोत के OSD लोकेश शर्मा ने दिया इस्तीफा◾तीन दिन की अंतरिक्ष की सैर कर वापस लौटे यात्री, अटलांटिक सागर में लैंड हुआ कैप्सूल◾ योगी सरकार के साढ़े चार साल हुए पूरे, CM योगी आज उपलब्धियों का रिपोर्ट कार्ड करेंगे पेश ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

किसान रैली में नजर आया लक्खा सिधाना, कहा- दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करने आये तो उनका घेराव करें

कृषि कानून के खिलाफ गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के मामले में वांछित गैंगस्टर से कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना ने मंगलवार को यहां किसानों की एक रैली को खुलेआम संबोधित किया और दिल्ली पुलिस का सहयोग करने की स्थिति में पंजाब पुलिस को चेतावनी दी। बठिंडा के मेहराज गांव में राज्य पुलिस को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात किया गया था। 

यह पूछने पर कि पंजाब पुलिस ने उसे गिरफ्तार क्यों नहीं किया, बठिंडा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक जसकरन सिंह ने कहा कि उनका काम कानून-व्यवस्था बनाए रखना था। उन्होंने कहा, ‘‘कानून के मुताबिक, हम ऐसा नहीं कर सकते थे क्योंकि हमने कोई मामला दर्ज नहीं किया था।’’ पंजाब की कांग्रेस नीत सरकार केन्द्र द्वारा पिछले साल बनाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का समर्थन कर रही है। गैंगस्टर से कार्यकर्ता बने सिधाना ने पिछले सप्ताह जनसभा का आह्वान किया था। जनसभा को संबोधित करने के बाद सिधाना वहां से चले गए। 

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के पैतृक गांव में आयोजित इस जनसभा स्थल पर पंजाब पुलिस के कर्मी तैनात थे। सभा को संबोधित करते हुए सिधाना ने कहा कि इसका आयोजन केन्द्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए किया गया है। 

दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा का परोक्ष संदर्भ देते हुए उन्होंने लोगों से कहा कि अगर दिल्ली पुलिस के कर्मी राज्य के युवाओं को गिरफ्तार करने आते हैं तो उनका घेराव करें। उन्होंने केन्द्र पर आरोप लगाया कि वह युवाओं को गिरफ्तार कर लोगों के दिमाग में ‘डर पैदा’ करना चाहती है और उसका लक्ष्य ऐसा करके उन्हें आंदोलन से दूर करने का है। सिधाना ने कहा, ‘‘अगर दिल्ली पुलिस के कर्मी किसी को भी गिरफ्तार करने पंजाब आते हैं तो गांवों में मुनादी करें, भीड़ जमा करें और उनका घेराव करें।’’ 

उन्होंने कहा कि अगर पंजाब पुलिस राज्य के युवाओं और किसानों की गिरफ्तारी में दिल्ली पुलिस का सहयोग करती है तो इसके लिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जिम्मेदार होंगे। सिधाना ने इतने कम समय में बड़ी संख्या में एकत्र होने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया। उन्होंने किसान नेताओं से आने वाले दिनों में दिल्ली की सीमाओं पर कार्यक्रम करने और युवाओं को बड़ी संख्या में प्रदर्शन स्थलों पर एकत्र होने को कहा। 

उन्होंने लोगों से एकजुट रहने की अपील करते हुए कहा कि इस संघर्ष को सिर्फ एकता से जीता जा सकता है। सिधाना ने दलितों से भी आंदोलन में शामिल होने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘यह आंदोलन किसी धर्म या जाति का नहीं है। यह सबकी लड़ाई है।’’ 

मॉरीशस में विदेश मंत्री एस जयशंक ने भारतीय समुदाय के सदस्यों से मुलाकात की