BREAKING NEWS

अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान पर भारत ने दी प्रतिक्रिया, कहा- सीमा विवाद को लेकर मोदी और ट्रंप के बीच नहीं हुई बातचीत◾World Corona : दुनिया में महामारी का प्रकोप बरकरार, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा 58 लाख के पार◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 66 हजार के करीब, अब तक 4706 लोगों ने गंवाई जान ◾चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर ‘अच्छे मूड’ में नहीं हैं PM मोदी : डोनाल्ड ट्रम्प◾लॉकडाउन 5.0 पर गृह मंत्री अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात, मांगे सुझाव ◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1024 नए मामले, संक्रमितों संख्या 16 हजार के पार◾सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर साधा, कहा- रेलगाड़ियों का रास्ता भटकना सरकार के अच्छे दिन का ‘जादू’ ◾ट्रंप की पेशकश पर भारत ने कहा- मध्यस्थता की जरूरत नहीं, सीमा विवाद के समाधान के लिए चीन से चल रही है बातचीत◾अलग जगहों पर रखे जाएं विदेशी जमाती, दिल्ली HC ने कहा- खुद उठाएंगे अपना खर्चा◾कोविड-19 की वैक्सीन बनाने में जुटे देश के 30 ग्रुप : पीएसए राघवन◾मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने ऑनलाइन आंदोलन किया, केंद्र से गरीबों की मदद की मांग की◾SC का केंद्र और राज्य सरकारों को निर्देश, तत्काल श्रमिकों के भोजन और ठहरने की करें नि:शुल्क व्यवस्था◾महाराष्ट्र में कोरोना की चपेट में 2000 से अधिक पुलिसकर्मी, महामारी से अब तक 22 की मौत◾कोरोना संकट से जूझ रही महाराष्ट्र की सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है BJP : प्रियंका गांधी ◾पुलवामा जैसे हमले को अंजाम देने की फिराक में आतंकी, IG ने बताया किस तरह नाकाम हुई साजिश◾दिल्ली-गाजियाबाद बार्डर पर फिर लगी वाहनों की लाइनें, भीड़ में 'पास-धारक' भी बहा रहे पसीना ◾राहुल गांधी की मांग- देश को कर्ज नहीं बल्कि वित्तीय मदद की जरूरत, गरीबों के खाते में पैसे डाले सरकार◾RBI बॉन्ड को वापस लेना नागरिकों के लिए झटका, जनता केंद्र से तत्काल बहाल करने की करें मांग : चिदंबरम◾‘स्पीकअप इंडिया’ अभियान में बोलीं सोनिया- संकट के इस समय में केंद्र को गरीबों के दर्द का अहसास नहीं◾पुलवामा में हमले की बड़ी साजिश को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, विस्फोटक से लदी गाड़ी लेकर जा रहे थे आतंकी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लुधियाना हादसा : ध्वस्त बिल्डिंग मालिक इंद्रजीत सिंह गोला को पुलिस ने लिया हिरासत में

लुधियाना : सभी सियासी दबावों को दरकिनार करते हुए लुधियाना के सुफिया बाग चौक स्थित फैक्ट्री हादसे और दर्जनों मौतों के लिए जिम्मेदार फैक्ट्री मालिक इंदजीत सिंह गोला को पुलिस ने तीन दिन बाद गिरफ्तार कर लिया, इस संबंध में जानकारी देते हुए पुलिस कमीश्रर आरएन ढोके ने कहा कि स. गोला के विरूद्ध गैर जमानती धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया गया था। अब पुलिस ने फैक्ट्री मालिक को हिरासत में लिया है। इधर आज जब इस संवाददाता ने मौके पर जाकर हालात का जायजा लिया तो देखकर आश्चर्य हुआ कि आग की लपटें अभी भी दिखाई दे रही थी, जिसे फायर कर्मी बुझाने में जी-तोड़ मेहनत कर रहे थे। जबकि तीन लापता फायरकर्मियों के परिजन अपनों की तलाश में पथराई आंखों से हादसाग्रस्त बिल्डिंग को निहार रहे थे। फायर कर्मी सुखदेव सिंह के पिता का कहना है कि उन्हें अपने जिगर के टुकड़े का इंतजार है , उसने जिला प्रशासन पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि जिस तरफ उनका बेटा अपने साथियों के साथ बिल्डिंग में घुसा था, उस स्थान को अभी तक किसी ने छुआ तक नहीं। मलबे के नीचे उसका बेटा अन्य के साथ हो सकता है। यह भी पता चला है कि सेना के जवान प्रशासनिक आदेशों उपरांत इस कार्य को बीच में ही अधूरा छोडक़र चले गए है। अब यह समस्त कार्य जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम के हवाले सचारू रूप से चलाया जा रहा है।

हालांकि काम की गति धीमी है। नगर निगम अधिकारी धर्म सिंह का कहना है कि उन्हें यह पूरा मलबा उठाने के लिए कम से कम 2 या 3 दिन लग सकते है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि धधकती आग जिस तरह निचे दिखाई दे रही है, उससे लगता हे कि मलबे के नीचे दबी इंसानी जिंदगी शायद ही कोई बची हो। स्मरण रहे कि इसी हफते कि शुरूआत सोमवार की सुबह सुफिया चौक स्थित प्लास्टिक लिफाफे की 5 मंजिला फै क्ट्री में आग लगने पश्चात धराशाई हो गई थी, जिसमें 9 के करीब फायर कर्मी और अनगिनित फैक्ट्री मुलाजिम व अन्य बचाव कार्य में उमड़े लोग मौत का ग्रास बन गए। अभी तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतकों की संख्या 14 बताई जा रही है जबकि आधा दर्जन लोग विभिन्न अस्पतालों में इलाज के लिए दाखिल है।

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना स्थल का जायजा लेने उपरांत पटियाला डिवीजन कमीश्रर को इस हादसे की जांच के आदेश देते हुए जल्द से जल्द रिपोर्ट दर्ज कराने का आदेश दिया था। सीएम ने मोजूदा अधिकारियों को भी स्पष्ट निर्देश दिए थे इस हादसे के जिम्मेदार किसी भी शख्स को बख्शा नहीं जाएंगा सूत्रों के मुताबिक यह भी पता चला है कि हादसा ग्रस्त बिल्डिंग एमरसन्ज पालीमर फैक्ट्री के मालिक और जिम्मेदार प्रबंधकों ने आसपास की असंख्य जिंदगियों को नजर अंदाज करके सरकार द्वारा र्निधारित नियमों का उल्लंघन करके कैमीकल स्टॉक जमा किया हुआ था और हजार गज की दो मंजिला इमारत को 5 और 6 मंजिला इमारत का रूप देकर विसतार किया गया था। और इन छतों के नीचे लेबर एक्ट के नियमों की ध्ज्जियां उड़ाकर अपने मनमाफिक कार्य किए जा रहे थे। हालांकि भरोसे मंद सूत्रों का यह भी कहना था कि इस इमारत को फायर सेफटी एक्ट से भी एनओसी नहीं ली गई थी। जबकि यह भी पता चला है कि यह फैक्ट्री इंडस्ट्री एरिया में ना होकर रिहाइशी इलाके में स्थापित थी। फिलहाल मामला जांच में है।

- सुनीलराय कामरेड