BREAKING NEWS

दिल्ली: पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे वकीलों की हड़ताल जारी ◾LIVE : संजय राउत को अस्पताल से मिली छुट्टी, कहा- महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही होगा◾शिवसेना का BJP पर तीखा वार, कहा-सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध का आनंद उठा रही है पार्टी◾कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य, लेकिन लड़ सकते हैं चुनाव : SC◾महाराष्ट्र : राज्यपाल के फैसले को SC में चुनौती देने वाली याचिका का उल्लेख नहीं करेगी शिवसेना◾लगातार 5 दिन से बढ़ते पेट्रोल के दाम पर लगा ब्रेक, डीजल के दाम भी स्थिर ◾महाराष्ट्र : शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस का नहीं हुआ गठबंधन, अब ऑपरेशन लोटस की तैयारी में BJP◾दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾

पंजाब

अपराधी को घूस लेकर छोड़ने का आरोप, पुलिस महानिरीक्षक के खिलाफ दिए जांच के आदेश

यू पी के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी के खिलाफ योगी सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस अधिकारी पर पंजाब की नाभा जेल ब्रेक के मास्‍टरमाइंड गोपी घनश्यामपुरा को घूस लेकर छोड़ने का आरोप लग रहा है। घनश्यामपुरा को छोड़ने के लिए पुलिस अधिकारी ने एक करोड़ रुपये की रकम ली थी. इस मामले की जब मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को जानकारी मिली । तो उन्‍होंने मंगलवार शाम प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार और पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह को तलब किया। योगी सरकार के निर्देश पर प्रमुख सचिव गृह ने एडीजी के नेतृत्व में मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं ।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार एक पुलिस महानिरीक्षक पर इस मामले में एक करोड़ रुपये लेकर उसे भगाने में मदद करने का आरोप लग रहा है, हालांकि इस मामले की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिये गये हैं।

उधर, शक के दायरे में आये पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि वह अभी इस मामले में कुछ नहीं बोलेंगे, क्योंकि जांच के आदेश हो गये हैं। उनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं है और न ही शासन प्रशासन के किसी अधिकारी ने इस बारे में उनसे कुछ कहा है। वह समझ नहीं पा रहे हैं कि उन पर क्यों उंगली उठायी जा रही है।

इस मामले में गृह विभाग के प्रमुख सचिव अरविन्द कुमार ने अपर पुलिस निदेशक (कानून व्यवस्था) के नेतृत्व में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिये है।

इसी बीच, ऊर्जा मंत्री एवं राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि पूरे मामले की जांच अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) से करायी जा रही है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। सरकार का लक्ष्य जीरो टालरेंस है। एक पुलिस महानिरीक्षक का नाम इस मामले में सामने आने की बात पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अधिकारी चाहे जिस स्तर का हो किसी दोषी को नहीं छोड़ा जायेगा।

गौरतलब है कि पंजाब के पटियाला में नाभा जेल तोडकर भागने की घटना 27 नवंबर 2016 को हुई थी। अपराधियों ने फायरिंग करके बब्बर खालसा ग्रुप के हरमिंदर सिंह मिंटू , विक्की गोंदर, गुरुप्रीत सिंह राखो उर्फ सोनू मुटकी, कुलप्रीत सिंह उर्फ नीता देओल, अमनदीप धोतिया और कश्मीर सिंह को छुड़ा लिया था। इस घटना में पहली गिरफ्तारी सहारनपुर से हुई थी। इसका मास्टर माइंड गोपी घनश्यामपुरा था।