BREAKING NEWS

दुनिया में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख के करीब, अब तक 3 लाख 55 हजार से अधिक की मौत ◾मौसम खराब होने की वजह से Nasa और SpaceX का ऐतिहासिक एस्ट्रोनॉट लॉन्च टला◾कोविड-19 : देश में महामारी से अब तक 4500 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 1 लाख 58 हजार के पार ◾मुंबई के फॉर्च्यून होटल में लगी आग, 25 डॉक्टरों को बचाया गया ◾अमेरिका में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरने वालों की संख्या 1 लाख के पार ◾गुजरात में कोरोना के 376 नये मामले सामने आये, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15205 हुई ◾पड़ोसी देश नेपाल की राजनीतिक हालात पर बारीकी से नजर रख रहा है भारत◾कोरोना वायरस : आर्थिक संकट के बीच पंजाब सरकार ने केंद्र से मांगी 51,102 करोड रुपये की राजकोषीय सहायता◾चीन, भारत को अपने मतभेद बातचीत के जरिये सुलझाने चाहिए : चीनी राजदूत◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 105 लोगों की गई जान, मरीजों की संख्या 57 हजार के करीब◾उत्तर - मध्य भारत में भयंकर गर्मी का प्रकोप , लगातार दूसरे दिन दिल्ली में पारा 47 डिग्री के पार◾नक्शा विवाद में नेपाल ने अपने कदम पीछे खींचे, भारत के हिस्सों को नक्शे में दिखाने का प्रस्ताव वापस◾भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने की मध्यस्थता की पेशकश◾चीन के साथ तनातनी पर रविशंकर प्रसाद बोले - नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता◾LAC पर भारत के साथ तनातनी के बीच चीन का बड़ा बयान , कहा - हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य’’ ◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 792 नए मामले आए सामने, अब तक कुल 303 लोगों की मौत ◾प्रियंका ने CM योगी से किया सवाल, क्या मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है सरकार?◾राहुल के 'लॉकडाउन' को विफल बताने वाले आरोपों को केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने बताया झूठ◾वायुसेना में शामिल हुई लड़ाकू विमान तेजस की दूसरी स्क्वाड्रन, इजरायल की मिसाइल से है लैस◾केन्द्र और महाराष्ट्र सरकार के विवाद में पिस रहे लाखों प्रवासी श्रमिक : मायावती ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मोदी सरकार नागरिकता को लेकर जनता को भ्रमित कर रही है: एडवोकेट सलीम

लुधियाना : लुधियाना शाहीन बाग में लगातार पिछले 34 दिनों से सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में प्रदर्शन जारी है। इस दौरान पंजाब हाईकोर्ट के एडवोकेट मुहम्मद सलीम ने प्रदर्शकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि हैरत और दुख की बात है कि भारत की जनता की ओर से चुनी गई केंद्र सरकार आज अपने ही नागरिकों को उनकी नागरिकता को लेकर भ्रमित कर रही है। 

प्रदर्शन में राहों रोड मॉडल कॉलोनी से हक की आवाज संस्था द्वारा चेयरमैन सज्जाद आलम, आबिद अंसारी, नाजिम अंसारी, हाशिम सैफी, मुहम्मद मुकीम, मुहम्मद हारून, रोशन अफऱोज़, मुहम्मद अनवर, हाजी यामीन, साबिर, खुर्शीद आलम, जहरूल, मुहम्मद मुन्ना की अध्यक्षता में बड़ी संख्या में महिलाओं का काफिला शाहीन बाग पहुंचा, एडवोकेट मुहम्मद सलीम ने कहा कि केंद्र सरकार मूल मुद्दों को भूल गई है, संसद का समय बर्बाद किया जा रहा है।

एडवोकेट सलीम ने कहा कि एनआरसी, एनपीआर का मुद्दा जो एक बैठक में हल हो सकता है उसे जान बूझकर खींचा जा रहा है ताकि धर्म और जात के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेंकी जा सके। उन्होंने कहा कि अगर सरकार की नियत साफ है तो एनपीआर पर अध्यादेश लेकर इस मामले को समाप्त क्यों नहीं करती। सलीम ने कहा की भारत की सभ्यता में सब का साथ और सब का प्यार है और मोदी इसी कारण प्यार को नजर अंदाज कर रहे हैं।

वहीं, आयशा खातून ने भी प्रदर्शकारियों को संबोधित किया, खातून ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार काले कानून द्वारा देश में अस्थिरता ला रही है समय है देश को विकास की ओर ले जाने का लेकिन संसद में सिवाए एक दूसरे पर कटाक्ष के कुछ और नहीं हो रहा। आयशा खातून ने कहा कि केंद्र सरकार देशव्यापी आंदोलन को दबा नहीं सकती, यह सभी धर्मों के लोगों की एकता का प्रतीक है।

-रीना अरोड़ा