BREAKING NEWS

UN का दावा- लड़कियों को स्कूलों में पढ़ाई की इजाजत पर जल्द घोषणा करेगा तालिबान◾जशपुर हादसा : मृतक गौरव अग्रवाल के परिजनों को 50 लाख का मुआवजा देगी छत्तीसगढ़ सरकार◾ कांग्रेस के 'जी 23' नेताओं से बोलीं सोनिया- फुल टाइम अध्यक्ष की तरह करती हूं काम, मीडिया का सहारा न लें ◾चीन की चेतावनी- भूटान बॉर्डर एमओयू पर अपना रुख न जताए भारत◾NCB पर CM उद्धव का तंज, चुटकी भर गांजा बरामद कर, मशहूर हस्तियों को पकड़ने में रखते हैं रुचि◾सोनिया की अध्यक्षता में CWC की हुई बैठक, कांग्रेस ने कहा- मोदी जी को नहीं दिखती जनता की तड़प◾जनता के साथ बेईमानी कर सत्ता में आई शिवसेना : देवेंद्र फडणवीस ◾CM ठाकरे का तीखा हमला- 'नशे की लत' की तरह हो गयी है BJP की सत्ता की भूख, ‘हिंदुत्व’ को इनसे खतरा◾सिंघु बॉर्डर हत्याकांड : निहंग सरबजीत की आज होगी कोर्ट में पेशी, किसान मोर्चा ने की जांच की मांग◾ भारत में कोरोना संक्रमण के 15 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि, 166 मरीजों की हुई मौत ◾Petrol-Diesel : 35 पैसे की बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में 105 रुपए प्रतिलीटर हुआ पेट्रोल, डीजल के दाम में भी इजाफा◾छत्तीसगढ़ : रायपुर के रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन में विस्फोट, CRPF के 6 जवान घायल◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा मुठभेड़ में घिरा लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर उमर मुश्ताक◾ विश्व में कोविड संक्रमण के केस 24 करोड़ से अधिक, अब तक 6.58 अरब लोगों का हुआ टीकाकरण ◾कांग्रेस कार्य समिति की आज होगी बैठक, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा ◾देखें Video : छत्तीसगढ़ में तेज रफ्तार कार ने भीड़ को रौंदा, एक की मौत, 17 घायल◾चेन्नई सुपर किंग्स चौथी बार बना IPL चैंपियन◾बुराई पर अच्छाई की जीत का त्योहार दशहरा देश भर में उल्लास के साथ मनाया गया◾सिंघु बॉर्डर : किसान आंदोलन के मंच के पास हाथ काटकर युवक की हत्या, पुलिस ने मामला किया दर्ज ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर कटाक्ष, बोले- आर्यन ड्रग्स मामले ने आशीष मिश्रा से हटा दिया ध्यान◾

बेचैनी में गुजर रही हैं राम रहीम की रातें

साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी करार और रोहतक की सुनारिया जिला जेल में बंद सिरसा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की रातें बेहद बचैनी में गुजर रही हैं। डेरे में मखमली बिस्तरों पर सोने वाले डेरा प्रमुख को जेल में दरी चद्दर पर सोना रास नहीं आ रहा है। रातें करवट बदलते निकल रही हैं।

कभी अपने सेवकों और समर्थकों से घिरे रहने वाले और सुखद जीवन जीने वाले डेरा प्रमुख अब जेल के माहौल से बेहद परेशान हैं। जेल में उनकी चहलकदमी से इसे महसूस किया जा सकता है। बेचैनी दूर करने के लिए वह योग और ध्यान का सहारा भी ले रहे हैं। डेरा प्रमुख की बेचैनी का एक और कारण उन्हें 28 अगस्त को सजा सुनाए जाने को लेकर भी है।

अदालत उन्हें कितनी सजा सुनाएगी यह संभवत: उनके जहन में रह-रह कर कौंध रहा है। जेल सूत्रों के अनुसार डेरा प्रमुख केवल वक्त निकालने के लिए बहुत कम मात्रा में खाना ले रहे हैं। दूध और एक आध चपाती लेकर ही काम चला रहे हैं। कभी विभिन्न तरह के पकवानों से सजी और परोसी जाने वाली थाली अब उनके आगे से गायब है।

उन्हें आम कैदियों को दिया जाने वाला जेल में बना खाना ही दिया जा रहा है जो उनके गले से नीचे नहीं उतर रहा है। डेरा प्रमुख की समस्याएं अभी यहीं खत्म नहीं हुई हैं। उनके खिलाफ पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और डेरा के एक चौकीदार की हत्या के मामले भी चल रहे हैं और इनकी सुनवाई भी अब लगभग अंतिम चरण में है।