BREAKING NEWS

हवाई चप्पल वालों को 'हवाई सफर' का वादा देने वाली BJP ने सड़क पर चलना भी किया मुश्किल: प्रियंका ◾बंगाल के युवा भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या, शुभेंदु ने TMC पर लगाया आरोप◾कश्मीर में बिहारियों की हत्या पर सियासत गर्म, BJP बोली- घटिया राजनीतिक पत्थरबाज न बने तेजस्वी◾बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हमला, हसीना सरकार के खिलाफ है साजिश या फिर अल्पसंख्यकों के लिए नफरत◾केरल में भारी बारिश ने मचाई तबाही, शहर-शहर डूबे, अब तक 26 लोगों ने गंवाई जान ◾महंगाई के मुद्दे पर अखिलेश का हल्लाबोल - गरीबों की जेब काटकर अमीरों की तिजोरियां भर रही है भाजपा◾देश में कोरोना के एक्टिव केस 221 दिनों में सबसे कम, पिछले 24 घंटे में 13596 नए मामलों की पुष्टि ◾लखीमपुर हिंसा के विरोध में प्रदर्शनकारियों का 'रेल रोको' आंदोलन जारी, प्रशासन अलर्ट ◾विश्वभर में जारी है कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 24.06 करोड़ पहुंचा, 48.9 लाख से अधिक लोगों की हुई मौत ◾जयशंकर ने भारत में अवसरों पर ध्यान देने के लिए इजराइली कारोबारियों को किया प्रोत्साहित ◾राहुल से मुलाकात कर भी नहीं माने सिद्धू, सोनिया को लिखा 13 सूत्री एजेंडा वाला खत◾आतंकवादी हमले में बिहार के दो लोगों की हत्या पर CM नीतीश ने की चिन्ता व्यक्त, उपराज्यपाल से फोन पर की बात ◾J&K: 'टारगेट किलिंग' के मद्देनजर इमरजेंसी एडवाइजरी जारी, पुलिस-आर्मी कैंप में लाए जाएंगे बाहरी मजदूर ◾सिंघु बॉर्डर लिंचिंग : कोर्ट ने तीन आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा, दो एसआईटी कर रही जांच◾ J-K: लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने किया गैर-कश्मीरियों पर हमला, कुलगाम में बिहार के दो मजदूरों की हत्या◾UP विधानसभा चुनाव : चंद्रशेखर आजाद बोले- सत्ता में आए तो किसानों को एमएसपी की देंगे गारंटी◾ J-K में आतंकी हमलो के बीच भारत-पाकिस्तान मैच को रद्द करने की मांग:केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह◾UP विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए सपा के उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन पत्र, BJP ने नितिन अग्रवाल का किया समर्थन ◾ PM मोदी ने केरल के CM पिनराई विजयन से की बात, भारी बारिश और भूस्खलन पर हुई चर्चा◾गोवा के एक नेता ने मां दुर्गा से की ममता बनर्जी की तुलना, कहा- BJP की 'भस्मासुर' सरकार का करेंगी नाश ◾

कैप्टन के भाजपा में शामिल होने के कयास पर बोले नेता, अमरिंदर जताएंगे इच्छा, तो पार्टी कर सकती है विचार

पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से ही जिस अंदाज में कैप्टन अमरिंदर सिंह लगातार पाकिस्तान और राष्ट्रीय सुरक्षा का राग अलाप रहे हैं, उसे देखते हुए उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं। राष्ट्रवाद, सीमा सुरक्षा, आतंकवाद और पाकिस्तान जैसे तमाम मुद्दों को भाजपा लगातार उठाती रहती है। इसलिए अब यह कहा जाने लगा है कि क्या कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा के सुर में सुर मिलाते नजर आ रहे हैं? जिस अंदाज में इस्तीफा देने के बाद उन्होने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री बनाने से पंजाब और देश की सुरक्षा को खतरा हो सकता है और यह बात वो कई बार कांग्रेस आलाकमान को बता चुके हैं, उससे इन कयासों को बल मिल रहा है कि वो धीरे-धीरे भाजपा के पिच पर आते जा रहे हैं।

पंजाब कांग्रेस में चल रहे घमासान पर पंजाब के होशियारपुर से भाजपा के लोकसभा सांसद एवं मोदी सरकार में वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, "मुख्यमंत्री को हटा कर कांग्रेस ने यह खुद मान लिया है कि साढ़े चार साल में पंजाब की कांग्रेस सरकार हर मोर्चे पर फेल रही है।'

उन्होने कांग्रेस की राज्य सरकार पर माफिया, भष्टाचार और अवैध खनन को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया।केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश ने यह भी कहा, " कैप्टन, नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में जो बोल रहे हैं वो तो सच है और यह सभी जानते हैं। 'क्या कैप्टन भाजपा में शामिल होंगे के सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश ने कहा कि "राजनीति में कब क्या हो जाए , कुछ कहा नहीं जा सकता । हालांकि इसके साथ ही उन्होने यह भी जोड़ा कि इस बारे में फैसला पार्टी आलाकमान को करना है।"

 भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सरदार आर.पी.सिंह ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के भाजपा में शामिल होने के सवाल पर कहा, "पहले कैप्टन साहब यह तो तय करे कि परिवार ( गांधी परिवार ) से उनका मोहभंग हुआ है या नहीं और वो आगे क्या करना चाहते हैं । इसके साथ ही उन्होने यह भी जोड़ा कि राजनीति में सभी के लिए सारे रास्ते खुले रहते हैं और अगर कैप्टन भाजपा में शामिल होने की इच्छा जताते हैं तो समय आने पर भाजपा तय करेगी। अभी इस पर कुछ कहना जल्दबाजी है।"

इसके साथ ही सिंह ने यह भी जोड़ा कि भाजपा का मुख्य मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा है।दरअसल , भाजपा पहली बार अकाली दल से अलग होकर पंजाब में अपने दम पर अकेले विधानसभा चुनाव लड़ने जा रही है। भाजपा के पास राज्य में फिलहाल मुख्यमंत्री पद के दावेदार के तौर पर कोई कद्दावर चेहरा नहीं है। राजनीतिक जानकार भी यह मानते हैं कि कैप्टन जैसे बड़े नेता के साथ जुड़ने का फायदा भाजपा को राज्य में हो सकता है जैसा असम में हुआ था।

CM योगी ने साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर गिनाईं अपनी सरकार की उपलब्धियां