BREAKING NEWS

पेरिस में PM मोदी का संबोधन, बोले-हिंदुस्तान में अब टेंपरेरी के लिए व्यवस्था नहीं◾ईडी मामले में चिदंबरम को मिली राहत, 26 अगस्त तक नहीं होगी गिरफ्तारी◾एफएटीएफ के एशिया प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को काली सूची में डाला◾पश्चिम बंगाल : मंदिर में दीवार गिरने से मची भगदड़ में 4 की मौत, ममता बनर्जी ने किया मुआवजा का ऐलान◾मनमोहन सिंह ने राज्यसभा सदस्य के रूप में ली शपथ◾दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ चिदंबरम की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा SC◾SC ने ट्रिपल तलाक को चुनौती देने वाली याचिका पर केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस ◾कपिल सिब्बल बोले- अर्थव्यवस्था और नागरिकों की आजादी के मकसद को प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत◾जयराम रमेश के बाद बोले सिंघवी- मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत◾जानिए कैसे हुआ आईएनएक्स मीडिया मामले का खुलासा !◾प्रह्लाद जोशी बोले- यदि चिदंबरम बेकसूर हैं तो कांग्रेस को नहीं करनी चाहिए चिंता◾भारत, पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे का द्विपक्षीय ढंग से समाधान निकालना चाहिए : मैक्रों ◾PM मोदी ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों के साथ बातचीत की ◾योगी आदित्यनाथ ने किया मंत्रियों के विभागों का बंटवारा ◾बहरीन में 200 साल पुराने मंदिर की पुनर्निर्माण परियोजना का शुभारंभ करेंगे PM मोदी◾आईएनएक्स मीडिया मामला बना चिदंबरम की परेशानी का सबब ◾शरद पवार, अन्य के खिलाफ बैंक घोटाला मामले में FIR दर्ज करने का आदेश◾आजम खान की याचिका सुनवाई 29 अगस्त को ◾राजीव गांधी को विशाल बहुमत मिला, लेकिन किसी को डराया-धमकाया नहीं : सोनिया ◾चिदम्बरम की गिरफ्तारी पर विज बोले ‘‘बकरे की माँ कब तक खैर मनाएगी‘‘◾

पंजाब

राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर दलगत भावना, क्षुद्र राजनीति से ऊपर उठना चाहिए : नायडू

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने का फैसला सही दिशा में उठाया गया कदम है और राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर दलगत भावना से ऊपर उठना चाहिए और क्षुद्र राजनीति से बचना चाहिए। पंजाब विश्वविद्यालय में पहले बलरामजी दास टंडन स्मृति व्याख्यान को संबोधित करते हुए नायडू ने कहा, ‘‘हमें बड़े राष्ट्रीय मुद्दों पर सर्वसम्मति बनानी चाहिए। हम कोई नए राष्ट्र नहीं हैं। हमें राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर दलगत भावना से ऊपर उठना चाहिए और क्षुद्र राजनीति से बचना चाहिए। यह समय की मांग है।’’ 

टंडन 1969-70 में पंजाब के उपमुख्यमंत्री थे और जुलाई 2014 में उन्हें छत्तीसगढ़ का राज्यपाल नियुक्त किया गया। पिछले साल 14 अगस्त को उनका निधन हो गया। अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू को दिए गए विशेष अधिकारों को समाप्त करने के विषय पर नायडू ने कहा कि उन्हें लोगों से प्रतिक्रिया मिली कि समूचा देश केंद्र के कदम के बाद ‘‘जश्न’’ मना रहा है। नायडू पंजाब विश्वविद्यालय के चांसलर भी हैं। 

उन्होंने कहा, ‘‘अनुच्छेद 370 (के अधिकतर प्रावधानों) को खत्म करना सही दिशा में उठाया गया कदम है। यह राष्ट्र की एकता और अखंडता को सुनिश्चित करता है।’’ उपराष्ट्रपति ने कुछ पुरानी खबरों का संदर्भ दिया, जिसमें कहा गया था कि 1963 और 1964 में विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े कई सांसद जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के पक्ष में थे। 

उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की भी तारीफ की, जिन्होंने भारतीय सेना के बारे में भड़काऊ ट्वीट करने वाले पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी को भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का प्रयास बंद करने को कहा था। नायडू ने कहा, ‘‘पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा है कि हम एकजुट हैं और देश किसी भी स्थिति का मुकाबला करने को तैयार है। मैंने आज उनका बयान पढ़ा और मैं इस पर बहुत खुश हूं। यह समय है जब हमें एकजुट होना सीखना चाहिए और पंजाब के मुख्यमंत्री ने इसकी शानदार मिसाल पेश की।’’