लुधियाना-अमृतसर : पंजाब के सीमावर्ती शहर अमृतसर में आधी रात को हुए एक के बाद एक धमाकों की जबरदस्त आवाजों ने जहां लोगों में दहशत का माहौल पैदा कर दिया था वही इन धमाकों ने जिला प्रशासन, खाकी वर्दीधारी और गुप्तचर विभाग की एजेंसियों को भी ओह-पोह की स्थिति में डाल दिया।

धमाके इतने जोरदार थे कि इनकी आवाज सिर्फ अमृतसर शहर ही नहीं बल्कि आसपास के क्षेत्रों छेहरटा इत्यादि में भी सुनाई दी। कई जगह लोग दहशत के मारे घरों से बाहर निकल आए। विभिन्न समूहों में खड़े लोगों ने वाहेगुरू के आगे सरबत के भले के लिए अरदास की। लोगों को आशंका थी कि कही पड़ोसी मुलक के दुश्मन ने कोई कारीस्तानी तो नहीं कर दी? बहरहाल गनीमत यह रही कि ना तो किसी का कोई जानी नुकसान हुआ और ना ही किसी घटना के बारे में जानकारी प्राप्त हुई।

जानकारी के मुताबिक धमाकों की इन आवाजों को रात सवा एक बजे के दौरान सुनाई दी। पुष्टि के लिए लोगों ने जब जिला पुलिस प्रमुख और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत की तो उन्होंने 2 धमाकों की पुष्टि तो कर दी परंतु पुख्ता जानकारी देने से स्पष्ट इंकार कर दिया, साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इन धमाकों के बाद समस्त शहर और आसपास के लगते गांवों और कस्बों में भी पुलिस की अतिरिक्त फोर्स को मुस्तैद कर दिया गया है। इसी दौरान गांवों के गुरूद्वारों में लाउडस्पीकर के जरिए लोगों को अलर्ट रहने की हिदायतें कर दी गई।

राहुल ने शहीदों के परिजनों से मुलाकात की

गांववासियों के मुताबिक लाउडस्पीकरों पर यह भी फरमान सुनाया गया कि लोग अपने-अपने घरों की जल रही लाइटों के स्विचों को बंद कर दें। कई घंटों तक की गई जांच-पड़ताल के बाद आखिर सुबह साढ़े 3 बजे के करीब जिलाधीश और अमृतसर के एसएसपी परमपाल सिंह ने बताया कि देर रात सुने गए धमाके बमों के नही बल्कि वायुसेना द्वारा की गई ड्रिल के थे। अब बड़ा सवाल तो यहां यह उठता है कि वायुसेना ने बिना जिला प्रशासन को कोई जानकारी दिए बिना आधी रात को अचानक यह ड्रिल क्यों की?

उधर प्राप्त जानकारी के मुताबिक धमाकों की आवाजों के पश्चात जिला प्रशासन और पुलिस की टीमों ने शहर के विभिन्न हिस्सों में जाकर जांच की और घरों के बाहर डर के मारे बैठे लोगों से पूछताछ की। प्रशासन ने जमीन पर किसी तरह के धमाके और नुक्सान की पुष्टि से इन्कार किया है। पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव और डीसी शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने कहा कि घबराने की कोई बात नहीं, यह धमाके हवाई विमान की वजह से नहीं बल्कि सोनिक बूम के भी हो सकते हैं।

डीसी ने लोगों से अपील की कि वे दहशत में न आएं। दूसरी तरफ सूत्र बता रहे हैं कि एयरफोर्स ने बीती रात पंजाब और जम्मू-कश्मीर के हिस्सों में माक ड्रिल की है। इसमें भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान सुपरसोनिक स्पीड से सीमावर्ती जिलों के उपर से निकले और इसी कारण ये धमाके जैसी आवाजें निकली।

– सुनीलराय कामरेड