BREAKING NEWS

UP चुनाव : CM योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को बिजनौर में करेंगे जनसंपर्क◾उप्र चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीसरी सूची में 89 और उम्मीदवार घोषित किए, महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट◾गृह मंत्री अमित शाह ने की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट नेताओं के साथ बैठक, ये है भाजपा का प्लान ◾उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले : ‘अपनी संपत्ति’ को नष्ट न करें, शिकायतों का करेंगे समाधान ◾गोवा चुनाव 2022: BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, जानें किसे कहा से मिला टिकट◾बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव◾गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में वायुसेना की झांकी का हिस्सा बनीं देश की पहली महिला राफेल विमान पायलट◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में होवित्जर तोप से लेकर वॉरफेयर की दिखी झलक, राजपथ बना शक्तिपथ◾गणतंत्र दिवस समारोह: PM मोदी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुरी स्टोल में आए नजर, दिया ये संकेत◾यूपी: रायबरेली में जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 लोगों की हालत नाजुक◾RPN सिंह के भाजपा में शामिल होने पर शशि थरूर का कटाक्ष, बोले- छोड़कर जा रहे हैं घर अपना, उधर भी सब अपने हैं◾दिल्ली में ठंड का कहर जारी, फिलहाल बारिश होने के आसार नहीं: आईएमडी◾RRB-NTPC Exam: परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने भर्ती परीक्षा पर लगाई रोक, जांच के लिए बनाई समिति◾विधानसभा चुनाव तक चलेगी हिंदू-मुसलमानको लेकर तीखी बयानबाजी: राकेश टिकैत◾World Corona: दुनियाभर में जारी है कोरोना का कोहराम, संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 35.79 करोड़ के पार◾Corona Update: देश में तीसरी लहर का सितम जारी, संक्रमण के 2 लाख 85 हजार से अधिक नए केस, 665 लोगों की मौत ◾दिल्ली: गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, 27,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात◾गणतंत्र दिवस पर पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं◾

3 दिनों तक पुलिस रिमांड के दौरान सियासी आकाओं के नामों का भी हो सकता है खुलासा

लुधियाना-एसएएस नगर : पंजाब सिंचाई विभाग में पिछले 10 साल में करवाएं गए विभिन्न कार्यो में हुए हजारों करोड़ के घोटाले के मुख्य आरोपी ठेकेदार गुरविंद्र सिंह द्वारा आज सुप्रीम कोर्ट से राहत ना मिलने के पश्चात मोहाली की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया और गुरविंद्र सिंह को 3 दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। जबकि सेवामुक्त चीफ इंचीनियरिंग हरविंद्र सिंह ने भी कल सुप्रीम कोर्ट द्वारा राहत ना मिलने पश्चात अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। अदालत ने हरविंद्र सिंह को 14 दिसंबर की न्यायिक हिरासत में भेजा है। दोनों आरोपियों के खिलाफ विजिलेंस ने 4 महीने पहले केस दर्ज किया था। अकाली-भाजपा सरकार के कार्यकाल में सिंचाई विभाग में हुए हजारों करोड़ के कामों में मोटा घोटाला किया गया था।

कांग्रेस सरकार के सत्ता में आते ही सरकार ने सिचाई विभाग में घोटाले की जांच के आदेश दिए थे और विजिलेस विभाग की जांच में खुलासा हुआ था कि ठेकेदार गुरविंद्र सिंह के साथ मिलीभगत के चलते सिचाई विभाग के आधा दर्जन से ज्यादा बड़े अधिकारियों ने विभाग के कामों में टेंडर देने के दौरान सैकड़ों का घोटाला किया है। उनमें एक्सीएन गुलशन नागपाल, चीफ इंजीनियर सेवानिवृत्त परमजीत सिंह घुम्मन, एक्सीएन बजरंग लाल सिंगला, चीफ इंजीनियर सेवामुक्त हरविंद्र सिंह, एसडीओ सेवानिवृत्त गुरदेव ङ्क्षसह, सुपरवाइजर विमल कुमार शर्मा और सिंचाई विभाग के कुछ अधिकारी इंजीनियर और कर्मचारी भी शामिल है। जिनपर आरोप है कि उन्होंने सरकारी पदों का र्दुप्रयोग करके गुरविंद्र सिंह ठेकेदार के साथ मिलीभगत करके सरकारी खजाने को बड़ा वित्तीय नुकसान पहुंचाया है।

विजिलेंस के मुताबिक गुरविंद्र सिंह को लाभ पहुंचाने के लिए सी.एस.आर दरों से ज्यादा दरों पर ठेके अलाट किए जाते रहे है। जिससे सरकारी खजाने को बड़ा वित्तीय नुकसान हुआ है। विजिलेस का यह भी कहना है कि ठेकेदार गुरिंद्र सिंह की वर्ष 2006-07 में वार्षिक आमदन 4.74 करोड़ रूपए थी जो वर्ष 2016-17 के दौरान बढक़र 300 करोड़ रूपए हो गई। जिसपर विजिलेस गंभीरता से जांच कर रही है। उधर विजिलेस इस मामले में पुष्पिंद्र गर्ग (चीफ इंजीनियर नहर विभाग) जो सिंचाई विभाग के विजिलेस अधिकारी भी है की भूमिका संबंधित भी जांच करने की बात कही जा रही है। इस प्रकार दूसरे ठेकेदार पुष्पिंद्र सिंह सिद्धू और खारा कंट्रेक्टरस की भूमिका की भी जांच की जा रही है। फिलहाल पुलिस इस गौरखधंधे में सिंचाई विभाग के 3 रिटायर्ड अफसरों के अलावा 4 अधिकारियों के अतिरिक्त 10 साल तक कौन-कौन से लोग इसमें जुड़े है, इसका खुलासा गुरविंद्र की रगड़ाई के बाद ही पुलिस पता लगाएंगी।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ

- सुनीलराय कामरेड