BREAKING NEWS

कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व को निशाने पर लेते हुए बोले CM शिवराज- ‘सर्कस’ जैसी हो गई है पार्टी की स्थिति◾कौन है Fletcher Patel? नवाब मलिक ने ट्वीट कर NCB से पूछे कई सवाल◾सिंघु बॉर्डर हत्या मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट के दरबार में, आंदोलनकारी प्रदर्शन की आड़ में कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे ◾UN का दावा- लड़कियों को स्कूलों में पढ़ाई की इजाजत पर जल्द घोषणा करेगा तालिबान◾जशपुर हादसा : मृतक गौरव अग्रवाल के परिजनों को 50 लाख का मुआवजा देगी छत्तीसगढ़ सरकार◾ कांग्रेस के 'जी 23' नेताओं से बोलीं सोनिया- फुल टाइम अध्यक्ष की तरह करती हूं काम, मीडिया का सहारा न लें ◾चीन की चेतावनी- भूटान बॉर्डर एमओयू पर अपना रुख न जताए भारत◾NCB पर CM उद्धव का तंज, चुटकी भर गांजा बरामद कर, मशहूर हस्तियों को पकड़ने में रखते हैं रुचि◾सोनिया की अध्यक्षता में CWC की हुई बैठक, कांग्रेस ने कहा- मोदी जी को नहीं दिखती जनता की तड़प◾जनता के साथ बेईमानी कर सत्ता में आई शिवसेना : देवेंद्र फडणवीस ◾CM ठाकरे का तीखा हमला- 'नशे की लत' की तरह हो गयी है BJP की सत्ता की भूख, ‘हिंदुत्व’ को इनसे खतरा◾सिंघु बॉर्डर हत्याकांड : निहंग सरबजीत की आज होगी कोर्ट में पेशी, किसान मोर्चा ने की जांच की मांग◾ भारत में कोरोना संक्रमण के 15 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि, 166 मरीजों की हुई मौत ◾Petrol-Diesel : 35 पैसे की बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में 105 रुपए प्रतिलीटर हुआ पेट्रोल, डीजल के दाम में भी इजाफा◾छत्तीसगढ़ : रायपुर के रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन में विस्फोट, CRPF के 6 जवान घायल◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा मुठभेड़ में घिरा लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर उमर मुश्ताक◾ विश्व में कोविड संक्रमण के केस 24 करोड़ से अधिक, अब तक 6.58 अरब लोगों का हुआ टीकाकरण ◾कांग्रेस कार्य समिति की आज होगी बैठक, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा ◾देखें Video : छत्तीसगढ़ में तेज रफ्तार कार ने भीड़ को रौंदा, एक की मौत, 17 घायल◾चेन्नई सुपर किंग्स चौथी बार बना IPL चैंपियन◾

रखड़ -पूनिया सजेंगे बाबा बकाला में सियासी मंच

लुधियाना-अमृतसर : श्री गुरूतेग बहादुर जी के चरणछोह प्राप्त पंजाब के इतिहासिक स्थान बाबा बकाला में हर वर्ष की तरह रखड़ -पूनिया (रक्षाबंधन) के अवसर पर सोमवार को पंजाब की मुख्य सियासी पार्टियों द्वारा कांफ्रेंस की जा रही है, जिनकी तैयारियां सियासी पार्टियों के नेताओं द्वारा मुकम्मल कर लिए जाने के दांवे किए जा रहे है। 2017 की पंजाब विधानसभा चुनावों के पश्चात पहली बार हो रही इन सियासी कांफ्रेंसों में सूबे की सत्ताधारी कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल समेत आम आदमी पार्टी की कांफ्रेंस पर सियासी पंडितों से लेकर जनसाधारण तक की निगाह बनी रहेंगी। अकाली नेताओं द्वारा सरकार के खिलाफ खोले गए मोर्चे के चलते अपनी कांफ्रेंस को कामयाब करने के दांवे किए जा रहे है जबकि दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी भी पहली बार पंजाब में विरोधी पक्ष होने के कारण अपनी कांफ्रेंस को कामयाब बनाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे है।

राज्य में कांग्रेस पार्टी की सरकार होने के कारण इस बार कांग्रेस की सियासी कांफ्रेंस को कामयाब बनाने के लिए समस्त सरकारी और प्रशासनिक तंत्र आगे-पीछे हो रहा है। कांग्रेस पार्टी द्वारा की जा रही इस कांफ्रेंस में राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह और पार्टी प्रधान सुनील जाखड़ के अतिरिक्त समूची लीडरशिप पहुंचेंगी। शिरोमणि अकाली दल द्वारा की जा रही इस कांफ्रेंस में पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, शिरोमणि अकाली दल के प्रधान और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल भी शामिल होंगे जबकि आम आदमी पार्टी द्वारा की जा रही इस कांफ्रेंस में संगरूर के सांसद भगवंत मान, सुखपाल खैरा और हरिंद्र सिंह फुलका के अलावा उनकी पार्टी के अधिकांश विधायक इस कांफे्रेंस में शिरकत करेंगे।

सूबे में बनी कांग्रेस की नई सरकार के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह जहां पंजाब के लोगों के साथ किए गए चुनावी वायदों को पूरा करने और पंजाबियों के लिए किए जा रहे कामों का गुनगान करेंगे वही अकाली दल पंजाब में किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्याओं और नौजवानों को नौकरियां व मोबाइल देने जैसे मुददों पर राज्य सरकार को घेरने की तैयारी कर रहे है। अगर आम आदमी पार्टी की बात करें तो इस काफे्रंस में दोनों पार्टियों के नेताओं और विशेषकर कैप्टन और बादल परिवार के आपस में मिले होने के आरोप भी विशेष रह सकते है।

- सुनीलराय कामरेड