BREAKING NEWS

खट्टर ने स्थानीय युवाओं को नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने वाला विधेयक न लाने के संकेत दिए ◾सबरीमला में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़, 2 महिलायें वापस भेजी गयी ◾जेएनयू छात्रसंघ पदाधिकारियों का दावा, एचआरडी मंत्रालय के अधिकारी ने दिया समिति से मुलाकात का आश्वासन ◾प्रियंका गांधी ने इलेक्टोरल बांड को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾TOP 20 NEWS 18 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद पवार बोले- किसी के साथ सरकार बनाने पर चर्चा नहीं◾INX मीडिया धनशोधन मामला : चिदंबरम ने जमानत याचिका खारिज करने के आदेश को न्यायालय में दी चुनौती ◾मनमोहन सिंह ने कहा- राज्य की सीमाओं के पुनर्निधार्रण में राज्यसभा की अधिक भूमिका होनी चाहिए◾'खराब पानी' को लेकर पासवान का केजरीवाल पर पटलवार, कहा- सरकार इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करना चाहती◾संसद का शीतकालीन सत्र : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾बीजेपी बताए कि उसे चुनावी बॉन्ड के जरिए कितने हजार करोड़ रुपये का चंदा मिला : कांग्रेस ◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾

पंजाब

जख्मियों का हाल जानने पहुंचे जेल मंत्री रंधावा का कैदियों के परिजनों ने किया जोरदार घेराव, दी मरने की धमकी

लुधियाना : लुधियाना जेल में वीरवार को हुई कैदियों और पुलिस कर्मचारियों के मध्य हिंसात्मक बवाल के बाद पंजाब के जेल मंत्री सुखविंदर सिंह रंधावा ने इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कैदियों और जख्मी पुलिस कर्मचारियों का कुशलश्रेम जाना। उन्होंने अधिकारियों से कल हुई घटना के संबंध में समस्त जानकारी मांगी। 

इस अवसर पर अधिकारियों के खिलाफ पारिवारिक सदस्यों और इलाका निवासियों द्वारा जबदस्त प्रदर्शन किया गया और प्रदर्शनकारी जेल अधिकारियों के खिलाफ कत्ल का मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रहे थे। सिविल अस्पताल और आसपास के इलाकों में तनाव की स्थिति देखते हुए पुलिस छावनी में तबदील कर दिया गया। जिस कारण पुलिस द्वारा आम लोगों के लिए सिविल अस्पताल में दाखिला बंद कर दिया गया।

 इस दौरान लुधियाना के लोक इंसाफ पार्टी के विधायक स. सिमरजीत सिंह बैंस के समर्थकों द्वारा मृतक कैदी अजीत सिंह के रिश्तेदारों के साथ मिलकर जेल मंत्री के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की और मृतक के वारिसों द्वारा जेलमंत्री की झंडी वाली गाड़ी को रास्ते में ही रोकने की कोशिश भी की गई।

इस दौरान जेल मंत्री सुखविंदर सिंह रंधावा ने कहा कि पूरे मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि जेलों की सुरक्षा को लेकर पुख्ता प्रबंध किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार के साथ भी इस संबंध में संपर्क कायम किया गया है। इसी के साथ ही उन्होंने जेल में किसी भी तरह की दो गुटों की झड़प की बात को सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि यह झड़प नहीं, बल्कि कैदियों द्वारा किया गया जेल प्रशासन के विरुद्ध विद्रोह था। रंधावा ने स्वीकार किया कि जेल में कर्मचारियों की भारी कमी है, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने पंजाब सरकार की ओर से में सुधार करने की बात कही। जबकि जेल में हंगामे की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने को लेकर उन्होंने मामले की जांच करने का दावा किया।

वहीं पर, लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख सिमरजीत सिंह बैंस ने कहा कि अजीत सिंह बेकसूर था। उसे पुलिस ने गोली मारकर कत्ल किया है। इसलिए दोषी पुलिस कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने जेल मंत्री से जेल की सीसीटीवी चेक करने को कहा। 

बैंस ने कहा कि इस सम्बंध में जेल मंत्री ने लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर की ड्यूटी लगाई है और वह रिपोर्ट तैयार करके सरकार को भेजेंगे। जबकि सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय जेल में झड़प के मामले में डेढ़ दर्जन के करीब कैदियों के खिलाफ संगीन धाराओं के अंतर्गत केस दर्ज किए जाने की सूचना है। पुलिस द्वारा यह कार्यवाही जेल सुपरीटेंड शमशेर सिंह की शिकायत पर की जा रही है। सुपरीटेंड द्वारा कैदियों के विरूद्ध पुलिस मुलाजिमों पर कातिलाना हमला और सरकारी डयूटी में बाधा डालने के आरोप लगे है।

उधर आज बहुजन समाज पार्टी के सूबा प्रधान डॉ जसबीर सिंह गड़ी द्वारा लुधियाना जेल के संबंध में सिविल अस्पताल के अंदर पत्रकारों से वार्तालाप के दौरान कहा कि पंजाब का बच्चा-बच्चा कांग्रेस सरकार के तश्ददों से दुखी है। उन्होंने कहा कि दोषी मुलाजिमों के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए सरकार को 24 घंटों तक समय देते है। उन्होंने दावा किया कि बसपा पीडि़त परिवारों के साथ चटटान की तरह खड़ी है। 

-  सुनीलराय कामरेड