BREAKING NEWS

कोरोना की चपेट में आई मुकेश अंबानी की संपत्ति, 2 महीने में 28 प्रतिशत गिरकर हुई 48 अरब डॉलर◾कांग्रेस प्रवक्ता बोले- पेट्रोल-डीजल पर मुनाफा जनता के साथ साझा करें सरकार◾मौलाना साद को क्राइम ब्रांच ने भेजा दूसरा नोटिस, पहले नोटिस में नहीं दिए थे सवालों के जवाब◾BJP स्थापना दिवस पर PM मोदी बोले- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में जीत हो यही देश का लक्ष्य और संकल्प है◾BJP विधायक ने PM मोदी की सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की उड़ाई धज्जियां, समर्थकों के साथ सड़क पर निकाला जुलूस◾इंसानों के बाद जानवरों पर कोरोना की मार, न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर की बाघिन हुई संक्रमित ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों की संख्या 4000 के पार, 109 लोगों की अब तक मौत◾BJP स्थापना दिवस पर PM मोदी, नड्डा और शाह ने कार्यकर्ताओं को दी शुभकामनाएं, कहा- एकजुट होकर देश को कोविड-19 से करें मुक्त◾भोपाल में कोविड-19 से 52 वर्षीय व्यक्ति की हुई मौत, कोरोना से मरने वालो का आकंड़ा 14 हुआ ◾ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस से संबंधी जांचों के लिए अस्पताल में हुए भर्ती ◾अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमितो की संख्या 3,37,274 हुई, पिछले 24 घंटो में 1200 लोगों ने गवाई जान ◾प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर उनकी मां ने भी दीया जलाया◾लॉकडाउन: दिल्ली पुलिस ने शब-ए-बारात के दिन मुस्लिम समुदाय के लोगों से घरों में रहने का आग्रह किया◾PM मोदी की अपील पर देश भर में घरों के बल्ब और ट्यूबलाइट बंद होने से बिजली ग्रिड पर नहीं पड़ा कोई असर, सबकुछ सामान्य◾कश्मीर से कन्याकुमारी तक लोगों ने कोरोना से लड़ने का लिया संकल्प◾कोविड 19 : कोरोना के खिलाफ एकजुट दिखा भारत, मोदी की अपील पर देशवासियों समेत कई बड़े नेताओं ने जलाए दीये ◾रक्षा प्रमुख अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने दिल्ली में कोविड-19 शिविर का किया दौरा◾उपराज्यपाल ने स्वास्थ्य विभाग को दिए निर्देश, कहा- ऐसे निजी अस्पतालों की करे पहचान जहां हो सके कोविड-19 का इलाज ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,577 तक पहुंची, अब तक 83 लोगों की मौत ◾राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के लॉकडाउन तोड़ने का विडियो निकला फर्जी, झूठे दावे के साथ किया गया था वायरल ◾

पंजाब : CM अमरिंदर सिंह ने सीमा पार से आने वाले ड्रोन से निपटने के लिए गृह मंत्री से किया आग्रह

सीमा पार से ड्रोन के माध्यम से हथियारों की आपूर्ति कराये जाने के पंजाब पुलिस के खुलासे के दो दिन बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा कि जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लिये जाने के बाद यह पाकिस्तान के नापाक मंसूबे का यह ‘‘नया और भयावह आयाम है।’’ मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से ‘‘ड्रोन समस्या’’ से जल्द निपटने का आग्रह किया है। 

पंजाब पुलिस ने पाकिस्तान और जर्मनी आधारित खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेएफ) के आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का रविवार को दावा किया था । इसने कहा है कि आतंकी समूह पंजाब और आसपास के राज्यों में हमले की एक श्रृंखला शुरू करने की साजिश कर रहा है। प्रारंभिक जांच में यह खुलासा हुआ है कि सीमा पार से हथियारों एवं कम्युनिकेशन हार्डवेयर की अपूर्ति के लिए ड्रोनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

सिंह ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘‘सीमा पार से पाकिस्तान के ड्रोनों का इस्तेमाल कर हथियारों और कारतूसों की खेप गिराने की हालिया घटना, जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त किये जाने के बाद पाकिस्तान के नापाक मंसूबे का यह नया और भयावह आयाम है । अमित शाह जी से आग्रह करता हूं कि इस ड्रोन समस्या से जल्दी निपटा जाए ।’’ पंजाब के तरन तारन जिले के चोला साहिब गांव से आतंकवादी मॉड्यूल के चार आतंकी रविवार को गिरफ्तार किये गए थे। अनुसंधान के दौरान यह बात सामने आयी थी कि पाकिस्तान के ड्रोन का इस्तेमाल कर हथियारों और कम्युनिकेशन हार्डवेयर गिराये गए थे। 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : चंद्रकांत पाटिल का बड़ा बयान, कहा- 'गठबंधन भी होगा और प्रदेश में 220 सीटें भी जीतेंगे'

पांच एके 47 राइफल, 16 मैग्जीन और 472 चक्र कारतूस, चीन में निर्मित .30 बोर की चार पिस्तौल, आठ मैग्जीन और 72 चक्र कारतूस, नौ हथगोले, पांच सेटेलाइट फोन तथा उनके अन्य उपकरण, दो मोबाइल फोन, दो वायरलेस सेट तथा दस लाख रुपये मूल्य के जाली नोट बरामद किये गए थे। पंजाब के मुख्यमंत्री ने रविवार को केंद्र को आगाह किया था कि वह वायुसेना और सीमा सुरक्षा बल को सीमा पार से हथियारों की आपूर्ति के लिए ड्रोन के इस्तेमाल की आशंका के बारे में सूचित करें और उन्हें आवश्यक जवाबी कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दें। 

पंजाब के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने कहा था कि इस बात की आशंका है कि इन हथियारों की आपूर्ति हाल ही में सीमा पार से आईएसआई, सरकार समर्थित जिहादी और इसके इशारे पर काम कर रहे खालिस्तान आतंकवादी समर्थकों ने करवाया है । राज्य सरकार ने मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंपने का निर्णय किया है ।