BREAKING NEWS

दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी में बरकरार, प्रदूषण का स्तर 'गंभीर'◾पीएम मोदी,राम नाथ कोविंद और वेंकैया नायडू ने देशवासियों को दुर्गाष्टमी की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने गुजरात में 3 अहम परियोजनाओं का किया उद्घाटन ◾RJD ने 'प्रण हमारा संकल्प बदलाव का' के वादे के साथ जारी किया घोषणा पत्र, तेजस्वी ने नीतीश पर साधा निशाना ◾महबूबा मुफ्ती के देशद्रोही बयान देने के बाद भाजपा ने की उनकी गिरफ्तारी की मांग ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, पॉजिटिव केस 4 करोड़ 20 लाख के पार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 78 लाख के पार, एक्टिव केस 6 लाख 80 हजार◾पाकिस्तान को FATF 'ग्रे लिस्ट' में रहने पर बोले कुरैशी- ये 'भारत के लिए हार' ◾पीएम मोदी गुजरात में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा आज तीन परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾आज का राशिफल ( 24 अक्टूबर 2020 )◾दुनिया की दिग्गज तेल, गैस कंपनियों के प्रमुखों से बातचीत करेंगे PM मोदी◾जम्मू कश्मीर के पुंछ में अग्रिम क्षेत्रों पर पाकिस्तानी सेना ने की गोलाबारी, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब◾MI vs CSK ( IPL 2020 ) : बोल्ट और ईशान के प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को 10 विकेट से हराया ◾आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट में रखा बरकरार◾महबूबा मुफ्ती का देशद्रोही बयान, कहा- जम्मू-कश्मीर का झंडा मिलने के बाद ही तिरंगा फहराउंगी◾भागलपुर रैली में राहुल का वादा - हमारी सरकार बनी तो बिहार के युवाओं को मिलेगा रोजगार◾भागलपुर रैली में जमकर बरसे PM मोदी - 15 साल में विपक्ष ने सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बनाया◾महबूबा मुफ्ती का केंद्र वार, राष्ट्र के मुद्दों को हल करने में विफल मोदी सरकार◾बिहार चुनाव : वादों की झड़ी और नौकरी - रोजगार की 'बारिश', क्या मिल पायेगा जनता का विश्वास ?◾गया रैली में बोले पीएम मोदी - NDA के वोट की चोट पर महागठबंधन के जंगलराज का खात्मा तय◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पराली जलाने पर पंजाब के किसान बोले- हम असहाय हैं

पराली जलाने पर रोक के बावजूद राजधानी चंगडीढ़ से महज 20 किलोमीटर दूर पंजाब के इस गांव में खेतों में फसलों के अवशेष जलाने का क्रम अब भी जारी है। पराली को जलाये बिना उसके निस्तारण के उपकरणों की लागत का हवाला देते हुए एक किसान ने कहा, ‘‘हम असहाय हैं।’’ 

35 वर्षीय किसान ने पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने पर रोक को लेकर प्रवर्तन एजेंसियों की कार्रवाई के डर से नाम नहीं बताया। माना जा रहा है कि पराली जलाने की इन घटनाओं की वजह से ही दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर बढ़ा है। 

चार एकड़ जमीन पर खेती करने वाले किसान ने कहा कि वह अपने खेतों से पराली हटाने में देरी नहीं कर सकते क्योंकि अगली फसल बोनी होती है। 

उन्होंने कहा, ‘‘अगर पराली नहीं जलाई तो गेहूं की बुवाई में देरी हो जाएगी और इससे अंतत फसल प्रभावित होगी।’’ किसान ने कहा कि ‘हैप्पी सीडर’ और अन्य ऐसी मशीनें उनके जैसे छोटे किसान के लिए फायदे का सौदा नहीं हैं। यह मशीन करीब डेढ़ लाख रुपये की आती है। इसके अलावा 65 हॉर्सपॉवर के ट्रैक्टर की जरूरत होती है। कुल मिलाकर आठ लाख रुपये का खर्च आता है जिसे वह वहन नहीं कर सकते। 

उन्होंने कहा कि इस तरह की मशीनों सहकारी समितियों द्वारा किराये पर दी जानी चाहिए। भारतीय किसान यूनियन (सिद्धूपुर) के किसान नेता मेहर सिंह थेरी ने पराली जलाये बिना उसके प्रबंधन के लिए सरकार से धान पर 200 रुपये प्रति कुंतल बोनस की मांग की। 

उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं हुआ तो किसान पराली जलाते रहेंगे। थेरी ने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार किसानों को जुर्माना लगाकर प्रताड़ित कर रही है। उन्होंने हैप्पी सीडर जैसी मशीनों के इस्तेमाल पर संदेह जताया। थेरी ने कहा, ‘‘हैप्पी सीडर का लगातार इस्तेमाल गेहूं की पैदावार को कम करेगा और यहां खेतों में यह बात सामने आई है।’’ 

हालांकि राज्य सरकार का कृषि विभाग इस दावे को खारिज कर चुका है। गांव के एक किसान ने दावा किया कि पिछले साल इस मशीन के इस्तेमाल के बाद गेहूं की पैदावार 10 कुंतल प्रति एकड़ तक कम हो गयी। पंजाब कृषि विभाग के कुछ अधिकारियों ने कुछ किसान यूनियन नेताओं पर छोटे किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया।