BREAKING NEWS

लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾चिदंबरम का सरकार पर कटाक्ष, बोले- अब हमें गीता गोपीनाथ पर मंत्रियों के हमले के लिए तैयार हो जाना चाहिए◾साईं बाबा के जन्मस्थान का विवाद बेवजह, CM ठाकरे को दोष नहीं दे सकते : शिवसेना ◾प्रधानमंत्री मोदी और नेपाली प्रधानमंत्री ने जोगबनी-विराटनगर निगरानी चौक का किया उद्घाटन◾जम्मू-कश्मीर जा रहे मंत्रियों को मणिशंकर अय्यर ने बताया 'डरपोक', बोले- 36 में से सिर्फ 5 जा रहे हैं घाटी◾दिल्ली चुनाव: केजरीवाल बोले- 'मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार खत्म करना, दिल्ली को आगे ले जाना'◾लखनऊ में आज अमित शाह करेंगे रैली, CAA विरोधियों को देंगे जवाब ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए JDU ने स्टार प्रचारकों की सूची की जारी, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा का नाम गायब◾AAP ने भाजपा उम्मीदवारों की दूसरी सूची पर कसा तंज, कहा- चुनाव से पहले ही मानी हार◾सूरत के रघुवीर मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची की जारी, केजरीवाल को टक्कर देंगे सुनील यादव◾कोहरे ने 25 ट्रेनों की रफ्तार पर लगाई ब्रेक, दिल्ली आने वाली ये ट्रेनें 1 से 6 घंटे तक लेट◾अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव : मनजिंदर सिंह सिरसा◾दविंदर सिंह का डीजीपी पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त ◾CAA को लेकर कपिल सिब्बल बोले- इसे लेकर मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं ◾राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾

पंजाब : राहत के बीच सूबे में बाढ़ की स्थिति गंभीर, सेकड़ों गांववासी पानी के घेराव में फंसे, कपूरथला में बांध टूटा, 6 ट्रेंनें अभी भी रदद

लुधियाना : पंजाब में बारिश रुकने और भाखड़ा डैम से अतिरिक्त पानी आज ना छोड़े जाने के बावजूद राज्य में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। सतलुज दरिया के अंतर्गत बाढ़ की चपेट में आएं सब-डिवीजन लोइयां खास के अलग-अलग गांवों के अंदर पानी का स्तर चाहे पहले से कुछ कम हो रहा है लेकिन आज भी दरिया के पानी का बंाध टूटने के कारण गांव युसूफपुर दारेवाल, युसूफपुर आलेवाल, कुतबीवाला, गिदड़पिंडी, बाड़ा जोधा सिंह मानक, नसीरपुर आदि गांवों में पानी भरा हुआ है। 

बाढ़ में फंसे लोगों के बचाव के लिए सेना, प्रशासन और समाज सेवी संस्थाओं समेत अलगअलग धार्मिक जत्थेबंदियों द्वारा राहत कार्यो में तेजी लाई गई है। सुबह-सवेरे से ही सेना के जवान अलग-अलग जत्थेबंदियों द्वारा डयूटी संभालते हुए दरिया में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाएं जाने से लेकर खादय सामग्री पहुंचाने का कार्य कर रहे है। 

राहत कार्यो में तेजी लाते हुए बाढ़ पीडि़तों को लाइफ जॉकेटें, तरपाल, बोरे और खादय सामग्री किश्तियों द्वारा भेजी जा रही है। लोइयां के एसएमओ डॉ दविंद्र कुमार समरा ने बताया कि उन्होंने मेडिकल टीमों के द्वारा रोगियों के लिए दवाइयां दिए जाने के पुख्ता प्रबंध किए है। शाहकोट सब डिवीजन के बाढ़ प्रभावित 18 गांवों में जिला प्रशासन द्वारा हवाई फौज की मदद से हेलीकेप्टर द्वारा आज जालंधर से 36000 परोठे और पानी की बोतलों समेत सुखे राशन के 18000 पेकेट हेलीकैप्टर द्वारा पीडि़तों के लिए फेंके गए है। 

बारिश रुकने से रूपनगर, लुधियाना व नवांशहर के ज्यादातर हिस्सों में फिलहाल थोड़ी राहत मिली है, लेकिन फिरोजपुर, कपूरथला व जालंधर में मुश्किलें कम नहीं हुई हैैं। भाखड़ा डैम से सतलुज दरिया में पानी छोडऩे से सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) के गांव दारेवाल मडाला के निकट बनाया धुस्सी बांध टूट गया। इससे 16 गांव पानी की चपेट में आ गए और सैकड़ों लोग फंस गए। 

इसी तरह जालंधर के 33 गांवों में बाढ़ में 18000 लोग फंस गए हैं। सेना व एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। नदियों में उफान और रेल पुलों पर पानी के दबाब के कारण रेल सेवा भी प्रभावित हुआ है। छह ट्रेनों को बुधवार को भी रद कर दिया गया है।

डीसी वरिंदर कुमार शर्मा, एसएसपी देहात नवजोत सिंह माहल, स्मार्ट सिटी सीईओ जतिंदर जोरवाल, एसडीएम परमजीत सिंह व अन्य अधिकारी राहत और बचाव कार्य की निगरानी कर रहे हैं। दूसरी ओर गांव मंडियाला में सेना के जवान 150 मीटर के ब्रीच को भरने में जुटे हैं।

जालंधर में शाहकोट और लोहियां में हालात बेकाबू होते देख प्रशासन ने सेना के अतिरिक्त जवान राहत कार्य में लगा दिए हैं। प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाने के लिए वायुसेना की भी मदद ली गई। अभी तक जिले के 50 गांवों के करीब 50 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

- सुनीलराय कामरेड