BREAKING NEWS

DC vs MI (IPL 2022) : मुंबई से हारकर दिल्ली आईपीएल से बाहर , आरसीबी प्लेआफ में◾मेघालय के बाद अरुणाचल प्रदेश और असम के बीच सीमा विवाद सुलझेगा : शाह◾ ऑस्ट्रेलिया के PM मॉरिसन ने मानी चुनावी हार, 9 साल बाद लेबर पार्टी सत्ता संभालने को तैयार◾ महंगाई से त्रस्त जनता के लिए खुशखबरी, पेट्रोल 9.5 रुपए तो डीजल 7 रुपए हुआ सस्ता◾ MI vs DC: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों प्लेइंग XI◾ डीयू के प्रोफेसर रतन लाल को मिली जमानत, ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने पर किया था आपत्तिजनक पोस्ट◾'जब बड़ा पेड़ गिरता है, तो धरती हिलती है...', राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर अधीर रंजन का ट्वीट ◾ मोदी है तो मुश्किल है। GDP पाताल में महंगाई आसमान में है...,सीएम KCR की बेटी का PM पर निशाना ◾ हरियाणा के पूर्व CM ओपी चौटाला भ्रष्टाचार के मामले में हुए दोषी करार, इस दिन होगा सजा का ऐलान ◾ श्रीलंका सरकार ने देश में आपातकाल हटाने का किया ऐलान, लेकिन प्रशासन के खिलाफ लोगो में अब भी गुस्सा◾राउत ने किया राहुल की ‘केरोसिन’ वाली टिप्पणी का समर्थन, बोले-हमने भी अलग शब्दों में यही बात कही ◾ भारत में ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA.4 का दूसरा मामला दर्ज ,तमिलनाडु में पाया गया◾ फव्वारा 2700 साल पुराना है....,ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग के दावे पर फिर भड़के ओवैसी◾ सिख दंगों में देश ने देखी है कांग्रेस की नफरत की राजनीति...,राहुल के बयान पर BJP का पलटवार◾ज्ञानवापी विवाद : मौलाना तौकीर रजा का आह्वान, हर जिले में 2 लाख मुसलमान दें गिरफ्तारी ◾ज्ञानवापी शिवलिंग विवाद : DU प्रोफेसर की गिरफ्तारी को लेकर छात्रों का हंगामा◾NSE Co-Location Case : मुंबई-दिल्ली समेत 10 ठिकानों पर CBI का एक्शन◾नफरत की राजनीति कर रही है BJP, राहुल गांधी के बयान को AAP का समर्थन◾नवनीत राणा को BMC का नोटिस, 7 दिन में जवाब नहीं दिया तो होगी कार्रवाई◾शर्मनाक! JNU कैंपस में MCA की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तार◾

पंजाब : कांग्रेस के पूर्व मंत्री जोगिंदर सिंह मान ने पार्टी से दिया इस्तीफा

पंजाब कांग्रेस का बड़ दलित चेहरा रहे पूर्व मंत्री जोगिंदर सिंह मान ने आज कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। वह पंजाब एग्रो इंडस्ट्री कारपोरेशन के चेयरमैन थे। करीब पचास साल बाद श्री मान ने कांग्रेस को बाय बाय कह दिया। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे भावुक पत्र में कहा कि वह फगवाडा से तीन बार विधायक रहे तथा बेअंत सिंह सरकार,हरचरन सिंह सरकार,राजिंदर कौर भट्टल सरकार और अमरिंदर सरकार में मंत्री रहे।

उन्होंने कहा कि उनका सपना था कि वह मरेंगे तो उनका पार्थिव देह तिरंगे में लपेटा जायेगा लेकिन जिस तरह पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप स्कीम को लेकर कांग्रेस में जो हुआ उससे मेरी अंतरआत्मा पार्टी में रहने की इजाजत नहीं देती। कैप्टन अमरिंदर सिंह,नवजोत सिद्धू जैसे राजे महाराजे, धनाड्य और अवसरवादी नेता जब से कांग्रेस में आये,उन्होंने अपने निहित स्वार्थों के लिये पार्टी का इस्तेमाल किया और पार्टी के सिद्धांत और मूल्य हाशिये पर चले गये। बस सबका एक ही मूल मंत्र रह गया कि किस तरह चुनाव जीतकर सत्ता को हथियाया जाये।

उन्होंने कहा कि लाखों एससी छात्रों के कैरियर तबाह हो गये हैं क्योंकि उनका पैसा न मिलने से दाखिला तक नहीं मिला। दोषियों को कोई सजा तक नहीं। कांग्रेस ऐसे नेताओं को संरक्षण देती रही।

मान ने कहा कि पिछले कुछ सालों में कांग्रेस बाल्मिकी या मजहबी सिख समुदाय के साथे सौतेला व्यवहार कर रही है। पार्टी ने इस समुदाय को अपना वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया। ऐसी बहुत सी शिकायतें हैं जिन्हें न तो सरकार ने सुना और न ही लोगों की समस्याओं को हल किया। ऐसे हालात में मेरा मन व्यथित हो गया है जिस कारण ये फैसला लेने को मजबूर होना पड़ है।