लुधियाना-संगरूर : लुधियाना के वेरका मिलक प्लांट के पास सिधवां नहर में बेटी के संग पूजा सामग्री बहाने के लिए आएं मोगा निवासी विकास सूद बेटी को बचाने के चक्कर में स्वयं गहरे पानी की आगोश में समा गया तो संगरूर के लहरागगा इलाके में घग्गर नहर पर टिक-टोक वीडिय़ों बनाने के चक्कर में 2 दोस्तों की दर्दनाक मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मोगा से बीमार बीवी के लिए दवाई लेने लुधियाना आएं 47 वर्षीय विकास सूद नामक प्रापर्टी डीलर की मौत हुई है। घटना स्थल से इकटठी की गई जानकारी के मुताबिक पैर फिसलने से नहर में जा गिरी बेटी को बचाने के लिए पिता ने नहर में छलांग लगा दी थी।

आसपास के लोगों ने दोनों पिता-पुत्री को जीवित बाहर निकाल लिया, लेकिन बाहर निकलने के कुछ देर बाद ही पिता ने दम तोड़ दिया। यह भी पता चला है कि पूजा सामग्री का जल प्रवाह करने 18 वर्षीय बेटी लवलीन सूद उर्फ लवी नहर की तरफ आगे बढ़ी तो अचानक उसका पैर फिसलने से वह नहर में जा गिरी, पास खड़े पिता विकास सूद ने बेटी को नहर में गिरते ही खुद उसे बचाने के लिए छलांग लगा दी थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पानी से बाहर निकाले जाने के बाद अचानक हार्ट अटैक से विकास की सांसें थमीं। शव को लुधियाना के सरकारी अस्पताल में सुरक्षित रखा गया है, बेटे मनपिदर सूद के न्यूजीलैंड से लौटने का इंतजार किया जा रहा है। उसके बाद ही शव का पोस्टमार्टम होगा।

श्री अकाल तख्त के जत्थेदार और एसजीपीसी अध्यक्ष की तस्वीरों पर पोती गई कालिख, लिखा गया गददार

अपने पति को आंखों के सामने ही दम तोड़ते देख ब्यूटीशियन पत्नी नीरू सूद बिलख पड़ी, नहर से निकलने के बाद होश में आई बेटी ने पिता की मौत से गमहीन हो गई। दोनों का रोते-रोते बुरा हाल हो गया। शव लुधियाना पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में सुरक्षित रखवा दिया गया है।

उधर संगरूर के गांव संगतीवाला के नजदीक से गुजरती घग्गर नहर पर दो दोस्तों को मोबाइल फोन पर टिक-टोक वीडियो बनाना उस समय भारी पड़ गया, जब दोनों की नहर में गिरने से मौत हो गई। नहर के किनारे पर खड़े होकर टिक-टोक वीडियो बनाते हुए एक का पैर फिसलने से वह नहर में गिर गया, जबकि दूसरे दोस्त ने उसे बचाने की खातिर नगर में छलांग लगा दी, लेकिन पानी के तेज बहाव के कारण दोनों ही पानी में बह गए। साथ में नहर में नहा रहे अन्य युवकों ने उसकी तलाश शुरू की व करीब एक घंटे के बाद दोनों की लाश को बाहर निकाल लिया गया।

जानकारी के मुताबिक लवप्रीत सिंह (19) पुत्र ओम प्रकाश गिर व हरप्रीत सिंह (17) पुत्र पवित्र सिंह, दोनों मोटरसाइकिल पर घग्गर ब्रांच नहर गांव संगतीवाला पर पहुंचे। यहां दोनों नहर के किनारे खड़े होकर मोबाइल फोन पर टिक-टोक एप पर वीडियो अपलोड करने की कोशिश क रहे थे। इसी दौरान एक युवक का संतुलन बिगडऩे के कारण वह नहर में गिर गया, दूसरे दोस्त ने भी उसे बचाने की खातिर नहर में छलांग लगा दी, लेकिन दोनों की पानी के तेज बहाव के कारण नहर में बह गए।

आसपास खड़े युवकों ने भी दोनों को बचाने काफी जद्दोजहद की, लेकिन दोनों की कुछ पता नहीं चल पाया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद दोनों की लाश बरामद हुई। बुझ गए परिवारों के चिराग लवप्रीत सिंह का पिता ओम प्रकाश मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का पेट पालते हैं। ओम प्रकाश के दो पुत्र है, जिसमें से लवप्रीत सिंह लकड़ी का काम सीखता था, ताकि वह अपने परिवार का मेहनत मजदूरी मे हाथ बटा सके। घर पर यह कहकर गया था कि वह कुछ समय के लिए अपने दोस्त के साथ घूमने जा रहा है, जबकि परिवार को क्या पता था कि यह उसका आखिर सफर होगा। उधर, हरप्रीत सिंह दसवीं कक्षा में पढ़ाई करता था। हरप्रीत का पिता पवित्र गिर ड्राइवर का काम करते हैं। पवित्र का एक ही बेटा हरप्रीत व एक बेटी है। हरप्रीत की मौत के बाद परिवार का चिराग भी बुझ गया है।

– सुनीलराय कामरेड