BREAKING NEWS

आनंदीबेन पटेल ने कही- 'शिक्षा का मतलब सिर्फ अवार्ड और मेडल प्राप्त करना नहीं'◾‘मेहुल चोकसी को बचाने का प्रयास कर रही है केंद्र सरकार’, AAP सांसद राघव चड्ढा ने लगाए आरोप ◾चोकसी रेड नोटिस मामला: CBI ने कहा, मेहुल को वापस लाने के हर संभव प्रयास जारी◾Piyush Goyal ने कहा- 'गैर जिम्मेदार विपक्ष जानबूझकर संसद की कार्यवाही बाधित कर रहा है'◾शिवसेना नेता दादा भुसे का बड़ा दावा, कहा- संजय राउत की वफादारी शरद पवार के साथ◾चुनावी राज्य कर्नाटक में 25 मार्च को होगा PM Modi का दौरा◾Operation Amritpal: पंजाब पुलिस का एक्शन, अमृतपाल को भगाने में मदद करने वाले 4 लोग गिरफ्तार◾Karnataka polls: सिद्धरमैया की चुनावी सीट पर सस्पेंस, ‘कोलार और बादामी’ बनी चर्चा का केंद्र ◾Delhi Budget 2023: विवादों के बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली के बजट को दी मंजूरी◾K. Kavita ने निजता के अधिकार का मुद्दा लेकर ED को लिखा पत्र◾कामकाज पर हो चर्चा, संसद चलाना सरकार की जिम्मेदारी- कांग्रेस ◾राहुल गांधी ने ओम बिरला से किया आग्रह, कहा- मेरे खिलाफ मंत्रियों ने बेबुनियाद आरोप लगाए, जवाब देने का मौका मिले◾दिल्ली: BJP विधायक विजेंद्र गुप्ता पर एक्शन, सदन से एक साल के लिए सस्पेंड, जानें वजह ◾JPC की मांग पर अड़े विपक्षी दल , संसद भवन के गलियारे में किया प्रदर्शन, ‘वी वांट जेपीसी’ के लगाए जोरदार नारे ◾PTI पर प्रतिबंध लगाने के लिए, पाकिस्तान में सत्तारूढ़ गठबंधन ने दिए संकेत◾अमृतपाल सिंह के खिलाफ एक्शन पर CM केजरीवाल ने कहा- शांति भंग करने पर होगी कड़ी कार्रवाई◾एलन मस्क ने कहा - 'ट्विटर जल्द ही लंबे फॉर्म वाले ट्वीट्स को 10 हजार अक्षरों तक बढ़ाएगा'◾यूपी: पूर्वांचल के किसानों को PM मोदी की सौगात, मिलेगा इंटीग्रेटेड पैक हाउस, जानें इसके फायदे◾कांग्रेस का भाजपा IT cell पर पलटवार, कहा- PM मोदी ने देश में खड़ी की जुमलेबाजी की इमारत◾केंद्र सरकार के खिलाफ राज्य प्रति भेदभावपूर्ण व्यवहार के विरोध में धरना प्रदर्शन करेगी ममता बनर्जी◾

मादक पदार्थ मामले में शिअद नेता विक्रम मजीठिया को राहत, कोर्ट ने दी जमानत

मादक पदार्थ मामले में शिरोमणि अकाली दल के नेता विक्रम सिंह मजीठिया को बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने बुधवार को मजीठिया को जमानत दे दी। मजीठिया के एक वकील अर्शदीप सिंह क्लेर ने बताया कि न्यायमूर्ति एम.एस. रामचंद्र राव और न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर की खंडपीठ ने यह फैसला सुनाया है। 

मजीठिया ने 20 फरवरी को राज्य के विधानसभा चुनाव के बाद आत्मसमर्पण कर दिया था। वह फिलहाल पटियाला जेल में बंद हैं। खंडपीठ ने 29 जुलाई को मजीठिया की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। मजीठिया ने 23 मई को हाई कोर्ट का रुख करके दिसंबर 2021 में स्वापक औषधि मन: प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत अपने खिलाफ दर्ज मामले में जमानत मांगी थी। 

पूर्व मंत्री मजीठिया के खिलाफ कांग्रेस सरकार के दौरान पिछले साल 20 दिसंबर को एनडीपीएस अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। मजीठिया शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के साले और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के भाई हैं। 

75 साल बाद दो परिवारों का मिलाप, करतारपुर साहिब में 92 वर्षीय बुजुर्ग पाकिस्तान में रहने वाले अपने भतीजे से मिलेंगे

उन्होंने अपनी जमानत याचिका में कहा था उन्हें निशाना बनाने की दुर्भावनापूर्ण मंशा से यह प्राथमिकी दर्ज कराई गई। शिअद नेता ने कहा कि पंजाब की पिछली कांग्रेस सरकार ने "अपने राजनीतिक विरोधियों से प्रतिशोध लेने के लिए सत्ता का दुरुपयोग करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।''

शिअद ने मजीठिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने को 'राजनीतिक प्रतिशोध' करार दिया था। राज्य में मादक पदार्थ रैकेट की जांच के बारे में 2018 में एक रिपोर्ट पेश की गई थी, जिसके आधार पर मजीठिया के खिलाफ एनडीपीएस अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। 

मजीठिया ने 24 फरवरी को मोहाली की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था, जिसके बाद कोर्ट ने उनकी नियमित जमानत की याचिका खारिज कर दी थी। मजीठिया ने सुप्रीम कोर्ट का भी रुख किया था, कोर्ट ने उन्हें हाई कोर्ट जाने का निर्देश दिया था।