BREAKING NEWS

इजराइल ने भारत-इजराइल मित्रता के प्रमुख सूत्रधार दिवंगत शिमोन पेरेज को श्रद्धांजलि देने के लिए PM मोदी को दिया धन्यवाद◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराया ◾ संजय सिंह ने CM योगी पर साधा निशाना , कहा - बलात्कारियों को संरक्षण दे रही है UP सरकार◾महाराष्ट्र में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 14,976 नए केस, 430 की मौत ◾उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव ◾IPL-13: जॉनी बेयरस्टो का शानदार अर्धशतक, हैदराबाद ने दिल्ली के सामने रखा 163 रनों का लक्ष्य ◾दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘रक्षा भारत स्टार्टअप चैलेंज’ की शुरुआत की, दिशा-निर्देश भी किये लॉन्च◾हाथरस केस : उप्र में ‘जंगलराज’ ने एक और युवती को मार डाला, सरकार ने कहा 'फ़ेक न्यूज़' - राहुल गांधी◾DC vs SRH आईपीएल-13 : दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का किया फैसला◾6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट ◾LAC विवाद पर भारत का कड़ा सन्देश - अपनी मनमानी व्याख्या जबरन थोपने की कोशिश न करें चीन◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर बवाल, विजय चौक के पास दिल्ली महिला कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन◾बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन से अलग हुई RLSP, बसपा के साथ बनाया नया गठबंधन ◾पायल घोष ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से की मुलाकात, अनुराग कश्यप मामले में की न्याय की मांग◾विपक्ष के चौतरफा हमले के बीच यूपी सरकार ने हाथरस के पीड़ित परिवार को दी 10 लाख रु की मदद ◾चुनाव आयोग ने 12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का किया ऐलान, 10 नवंबर को नतीजे◾एनसीबी का बड़ा बयान- ड्रग्स लेने के दौरान सुशांत को रिया ने दिया बढ़ावा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

डेरा प्रमुख को माफी के मुद्दे पर शिरोमणि कमेटी का यूटर्न...

लुधियाना-अमृतसर  : डेरा सिरसा मुखी राम रहीम के खिलाफ सिख कौम की भावनाओं को भड़काने के मामले में कानूनी कार्रवाई करने के मुद्दे से शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष प्रो किरपाल सिंह बडूंगर ने यू टर्न ले लिया है। जबकि इससे पहले डेरा सिरसा प्रमुख राम रहीम द्वारा दशम पिता गुरू गोबिंद सिंह जी का स्वांग रचाकर सिख भावनाओं को ठेंस पहुंचाने के मुददे पर शिरोमणि कमेटी की धारा 295-ए के तहत कार्यवाही करने का यत्न कर रही थी।

अमृतसर में मीडिया के साथ बातचीत करते हुए बडूंगर ने कहा कि उन्होंने सितंबर 2015 में डेरा मुखी को माफ करने के समय एसजीपीसी के हाउस में पास किए अपील रूपी प्रस्ताव का रिकार्ड देखा है। जिस दौरान समाने आया कि उस वक्त के एसजीपीसी हाउस को कोई मान्यता ही नहीं थी। इस लिए उस वक्त डेरा मूखी की माफी संबंधी एसजीपीसी हाउस में पास हुए प्रस्ताव की कोई वैल्यू ही नहीं है। जबकि डेरा मुखी की ओर से वर्ष 2007 में श्री गुरू गोबिंद सिंह जी के बाणे के साथ मिलता जुलता लबास पहन कर डेरा में जाम ए इंसान पिलाया था। इस को लेकर सिख कौम के रोष पैदा हो गया था।

जिस से सिख कौम की भावनाएं आहत हुई थी। इस को लेकर राम रहीम के खिलाफ धार 295 ए के तहत पुलिस के पास शिकायत भी दर्ज करवाई गई थी। जिस को कोई सार्थक कार्रवाई नहीं हुई। परंतु साधवियों के साथ किए दुष्कर्म के मामले में सीबीआई अदालत की ओर से राम रहीम को सुनाई गई सजा के बाद श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह एलान किया था कि राम रहीम को सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मुद्दे को लेकर भी सजा दिलवाई जाएगी।

इस संबंधी एसजीपीसी के अध्यक्ष प्रो किरपाल सिंह बडूंगर से वे बातचीत करेंगे। सिंह साहिब के ब्यान के बाद प्रो बडूंगर ने पटियाला में एक पत्रकार सम्मेलन के दौरान मीडिया से कहा था कि डेरा मुखी को सजा दिलवाने के लिए वे प्रस्ताव एसजीपीसी की इसी वर्ष नवंबर में होने वाली एसजीपीसी की कार्यकारिणी कमेटी और जनरल हाउस की बैठक में इस मुद्दे पर प्रस्ताव लेकर आएंगे।

परंतु जब प्रो बडूंगर से इस मामले में सवाल किया गया तो उन्होंने अपने दिए हुए पहले ब्यान पर यूटर्न लेते हुए कहा कि उन्होंने चेक किया है कि जिस वक्त डेरा मुखी के पक्ष में एसजीपीसी हाउस में प्रस्ताव पास हुआ था उस वक्त के हाउस को कोई भी कानूनी मान्यता नहीं थी। इस लिए उस वक्त पास हुए प्रस्ताव का कोई भी महत्व नहीं है।

इस मामले में 29 सितंबर 2015 को तेजा सिंह समुद्री हाल में तत्कालीन एसजीपीसी अध्यक्ष अवतार सिंह मक्कड़ की ओर बुलाए गए जरनल हाउस में श्री अकाल तख्त साहिब के हुए हुकम , जिस में डेरा सिरसा मुखी राम रहीम का माफी संबंधी स्पष्टीकरण को स्वीकार कर माफी दिए जाने का स्वागत किया गया था। अब प्रो बडूंगर सितंबर 2015 के हाउस की मान्याता होने से ही पीछे हट गए है। उन्होंने कहा कि एसजीपीसी के वर्ष 2011 से चुने हुए प्रतिनिधि को ही अक्टूबर 2016 में कानूनी मान्यता अदालत ने दी है। इस लिए इस मामले पर विचार का कोई आधार अभी तक नहीं है।

- सुनीलराय कामरेड