BREAKING NEWS

नीतीश नहीं तेजस्वी यादव के हाथों में होगी बिहार की बागडोर? राजद नेताओं ने कर दिया ऐलान ◾ '... जाके कछु नहीं चाहिए, वे शाहन के शाह', दिग्विजय सिंह के इस tweet के क्या हैं मायने?◾Amazing स्पीड के साथ...No बफरिंग, 10 गुना होगी इंटरनेट की रफ्तार, देश में लॉन्च हुई 5G सर्विस◾दिल्ली : पुरानी आबकारी नीति से मालामाल हुई दिल्ली सरकार, एक महीने में कमाए 768 करोड़◾Pitbull का बढ़ता कहर, अब पंजाब में एक रात एक अंदर 12 लोगों को बनाया शिकार◾RBI Hike Repo Rate : ग्राहकों को लगा बड़ा झटका, रेपो रेट के बाद SBI समेत इन बैंकों में बयाज दर में बढ़ोतरी◾अशोक गहलोत का बड़ा खुलासा, जानिए अंतिम समय में क्यों अध्यक्ष पद चुनाव लड़ने से किया मना◾दिल्ली : हैवानियत का शिकार हुआ मासूम हारा जिंदगी की जंग, LNJP अस्पताल में 14 दिन बाद मौत◾कोविड19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना संक्रमण के 3,805 नए मामले दर्ज़, 26 मरीजों मौत ◾अजब प्रेम की गज़ब कहानी : पाकिस्तान की लड़की को हुई नौकर से मोहब्बत, कहा- प्यार अमीर-गरीब नहीं देखता ◾उत्तराखंड : केदारनाथ मंदिर के पास खिसका बर्फ का पहाड़, देखें Video◾LPG Price Update : 25.5 रुपए की कटौती के साथ सस्ता हुआ कमर्शियल LPG गैस सिलेंडर◾मल्लिकार्जुन खड़गे के समर्थन में उतरे गहलोत, जानिए अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर क्या कहा ◾आखिरकार क्यों अध्यक्ष पद चुनाव से कटा दिग्विजय सिंह का पत्ता? जानिए हाईकमान ने खड़गे के नाम पर कैसे लगाई मुहर◾आज का राशिफल (01 अक्टूबर 2022)◾RSS चीफ ने चीन , अमेरिका पर साधा निशाना , कहा - महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं◾T20 World Cup : 6 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगा भारत◾PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित◾PM मोदी ने दादा साहब फाल्के पुरस्कार मिलने पर आशा पारेख को दी बधाई ◾तरंगा-आबू रोड रेल लाइन की योजना 1930 में बनाई गई थी लेकिन दशकों तक ठंडे बस्ते में पड़ी रही : PM मोदी◾

सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष से दिया इस्तीफा लिया वापस, CM चन्नी के सामने रखी ये शर्त

नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया गया अपना इस्तीफा वापिस ले लिया है। सिद्धू ने आज यहां चंडीगढ़ प्रैस क्लब में एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करने के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने इस्तीफा वापिस लेते हुए यह भी शर्त जोड़ दी कि जिस दिन राज्य का नया महाधिवक्ता नियुक्त होगा उसी दिन प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय जाकर अपना कामकाज संभाल लेंगे।

सामने रखी यह शर्त 

उल्लेखनीय है कि सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद  चरणजीत सिंह चन्नी के नये मुख्यमंत्री के रूप में पदभार सम्भालने और अमर प्रीत सिंह देओल को राज्य का महाधिवक्ता और  इकबाल प्रीत सिंह सहोता को राज्य का पुलिस महानिदेशक(डीजीपी) नियुक्त किये जाने के विरोध में सिद्धू ने गत 28 सितम्बर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया था।

तो यह थी सिद्दू को आपत्ति 

सिद्धू की आपत्ति थी कि देओल गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी को लेकर बरगाड़ में विरोध प्रदर्शनों के दौरान हुई फायरिंग मामले में कथित आरोपी और तत्कालीन डीजीपी सुमेद सिंह सैनी की अदालत में पैरवी कर रहे थे और उन्होंने ही  सैनी को जमानत दिलाई थी।

चन्नी सरकार पर सवाल उठाए थे

सिद्धू हाल ही में फिर से चन्नी सरकार पर सवाल उठाए थे लेकिन अगले ही दिन उन्होंने चन्नी के साथ देहरादून पहुंच कर पार्टी के प्रदेश मामलों के पूर्व प्रभारी हरीश रावत से मुलाकात की थी। दोनों नेताओं ने बाद में केदारनाथ धाम पहुंच कर पूजा अर्चना भी थी।

हाईकमान का दबाव

अब अचानक बदले घटनाक्रम में सिद्धू ने प्रदेशाध्यक्ष पद से इस्तीफा वापिस लेने की घोषणा कर दी है जिसके पीछे एक कारण हाईकमान का दबाव भी बताया जा रहा है। इस तरह की सम्भावनाएं प्रबल हो रहीं थी कि सिद्धू अगर इस्तीफा वापस नहीं लेते है राज्य में निकट भविष्य में विधानसभा चुनावों को देखते हुए हाईकमान उनका विकल्प भी तलाश रहा था। इसी की भनक लगते ही सिद्धू ने अपना इस्तीफा तत्काल वापिस लेने की घोषणा कर दी है।

CM बघेल पर जमकर चले चाबुक, गोवर्धन पूजा अनुष्ठान के तहत मुख्यमंत्री ने सहा ‘सोटे’ का प्रहार