BREAKING NEWS

वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾सबरीमला मंदिर के कपाट खुले, पुलिस ने 10 महिलाओं को वापस भेजा◾राफेल पर CM अरविंद केजरीवाल का प्रकाश जावड़ेकर को जवाब, ट्वीट कर कही ये बात ◾दिल्ली: राफेल डील में SC से क्लीन चिट के बाद AAP कार्यालय के पास भाजपा का प्रदर्शन◾नवाब मलिक ने फड़णवीस पर साधा निशाना, कहा- हार चुके सेनापति को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए◾

पंजाब

नशा मामलों की जल्द सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक अदालतों का सुझाव

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने नशे के मामलों की सुनवाई तेज करने के लिये त्वरित अदालतों का सुझाव दिया है। 

उन्होंने आज यहां कहा कि एन.डी.पी.एस. के अंतर्गत अपराधियों के लिए जल्द सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक अदालतों के मामले में पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से मिलेंगे। वह आज यहां उपायुक्तों और जिला पुलिस प्रमुखों के साथ नशे के खात्मे की प्रगति का जायजा लेने के साथ-साथ भावी रणनीति पर भी विचार-विमर्श कर रहे थे। इससे पहले नशों के विरुद्ध व्यापक कार्य योजना गठित किये जाने के बारे में सलाहकार ग्रुप की बैठक हुई। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो (एन.सी.बी.)राज्य के सीमावर्ती इलाकों की निशानदेही के लिए तैनात आठ टीमों को पूरा सहयोग देने के अलावा क्षेत्र में नशों के विरुद्ध लड़ई में पूरा तालमेल किया जायेगा। 

बैठक में एन.सी.बी के उप महानिरीक्षक एस.के झा ने बताया कि उनके सहित पच्चीस अधिकारी पंजाब में तैनात किये गए हैं जो जम्मू-कश्मीर और गुजरात जैसे दूसरे राज्यों के साथ तालमेल को और मत्रबूत बनाऐंगे। उन्होंने नशा तस्करी को रोकने के लिए पैसों के लेन-देन की छानबीन करने की त्ररूरत पर भी त्रोर दिया। उन्होंने नशों की समस्या के खात्मे के लिए राज्य सरकार द्वारा रोकथाम और पुनर्वास के लिए उठाये गये कदमों की सराहना की। 

पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने बताया कि राष्ट्रीय नशा नीति की माँग को लेकर प्रधानमंत्री को लिखे गये पत्र का केंद, सरकार की ओर से सकारात्मक जवाब आया है और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले में तालमेल बढ़ने के लिए अधिकारियों को आदेश भी दिए हैं। 

श्री गुप्ता ने कहा कि नारकोटिक ब्यूरो ने देश के अन्य राज्यों से लगभग चौबीस अधिकारी बुला कर पंजाब में तैनात कर दिए हैं जिससे सरहदी राज्य में नशा विरोधी जंग सख्ती से लड़ जा सके। उन्होंने कहा कि पंजाब पड़सी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की मेत्रबानी करेगा जिससे इन राज्यों के बीच नशे के खिलाफ कारगर ढंग से लड़ जा सके। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि साजिशें रचने में शामिल पुलिस तथा सरकारी अधिकारियों के साथ सख्ती से निपटने की सरकार की वचनबद्धता दोहरायी। उन्होंने नशा तस्करों के साथ पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत की शिकायतों का नोटिस लेते हुये कहा कि जो अधिकारी या पुलिसकर्मी नशे के गोरखधंधे में शामिल पाया गया उसे बर्खास्त होने या जबरन रिटायर होने से कोई नहीं बचा सकता। 

कैप्टन सिंह ने नशा तस्करों तथा बड़ मछलियों के विरुद्ध नकेल कसने के लिए एन.सी.बी., बी.एस.एफ। और अन्य केंद्रीय एजेंसियों के साथ तालमेल बढ़ने और मिलकर कार्रवाई किये जाने की त्ररूरत पर बल दिया। उन्होंने पी.आई.टी., एन.डी.पी.एस। एक्ट की उप-धारा 3 के अंतर्गत बड़ नशा तस्करों की हिरासत का प्रस्ताव तैयार करने के आदेश दिए और इसके साथ ही 181 पुलिस हेल्पलाइन नंबर को सक्रिय बनाने के लिए भी कहा जिससे आम लोग नशों संबंधी सूचना दे सकें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार नशे के धंधों में लगे अपराधियों की सूचना देने वालों को इनाम देने की स्कीम को अंतिम रूप दे रही है।अच्छी कारगुत्रारी वाले अधिकारियों के साथ-साथ नागरिकों को भी इस स्कीम के अंतर्गत उपयुक्त इनाम दिया जायेगा।