BREAKING NEWS

SCO समिट में बोले PM मोदी- दुनिया के लिए कट्टरता एक बड़ी चुनौती, अफगानिस्तान है इसका उदाहरण◾यूपी में मानसून की भीषण तबाही जारी, अबतक 42 लोगों की मौत, ये जिले है सबसे ज्यादा प्रभावित ◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23 करोड़ के करीब, साढ़े 46 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾उत्तराखंड : कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा, CM पुष्कर सिंह धामी का ऐलान◾तेलंगाना कांग्रेस चीफ ने शशि थरूर को कहा था 'गधा', विवाद के बाद मांगनी पड़ी माफी ◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 34403 नए मामलों की पुष्टि, रिकवरी रेट 97.65 प्रतिशत ◾LAC विवाद : भारत की ड्रैगन को चेतावनी- रिश्तों को लेकर पूर्वाग्रहों से बाहर आये चीन◾कृषि कानूनों को एक साल पूरा : अकाली दल का 'ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च', धारा 144 लागू ◾SCO में ईरान और आर्मेनिया के विदेश मंत्री से मिले एस जयशंकर,अफगानिस्तान की स्थिति पर केंद्रित थी बातचीत ◾राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रमुख मंत्रियों, नेताओं समेत राहुल गांधी ने पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुशांबे में चीनी समकक्ष वांग से की मुलाकात◾आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तिहाड़ जेल में बंद आतंकी जगतार सिंह हवारा अधिकांश केसों में बरी, अदालत में फिर साबित नहीं हो पाए आरोप

लुधियाना : पंजाब के मुख्यमंत्री महरूम बेअंत सिंह क़त्ल केस में सजायाफता तिहाड़ जेल की सलाखों में बंद भाई जगतार सिंह हवारा आज फिर 31वें मुकदमें के दौरान बरी हो गए। इस केस  में भी पुलिस जगतार सिंह हवारा के  खिलाफ सबूत पेश नहीं कर पाई। इससे पहले हवारा 30 विभिन्न केसों में बरी हो चुके है। हालांकि उनके विरूद्ध 37 केस  विभिन्न अदालतों में चल रहे थे, जिनमें से मुख्य केस पंजाब के मुख्यमंत्री बेअंत सिंह क़त्ल केस है, जिसमें इन्हें उम्र भर की सजा घोषित हुई है। 

जगतार सिंह हवारा के वकील जसपाल सिंह मझपुर ने बताया कि हवारा अन्य 6 केसों  में घोषित 5 केसों की  सजा की अवधि पूरी कर चुके है जबकि बेअंत सिंह मर्डर केस  में वह सजा काट रहे है। और अब वे जगतार सिंह हवारा से संबंधित सभी केसों के फैसले इकट्ठे करके जेल आर्थारिटी के पास पहुंचकर हवारा के लिए मानव अधिकारों  को  लेकर पेरोल के  लिए अपील करेंगे। मझपुर ने यह भी बताया कि अब आखिरी केस में अंडर ट्रायल के चलते पे रोल के लिए अपील नहीं कर सकते थे, अब आखिरी फैसला भी आ चूका है और कोई भी केस अंडर ट्रायल नहीं बचा।

पे-रोल का रास्ता आसान हो चूका है। इससे पूर्व, जगतार सिंह हवारा को आरडीएक्स व एके 56 बरामदी के मामले में भी कोर्ट  ने बरी कर दिया था। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अरुण वीर विशिष्ट की कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से यह फैसला सुनाया था। फैसला गत माह 22 नवंबर को सुनाया गया था। पुलिस इस मामले में भी जगतार सिंह हवारा के खिलाफ कोई भी सुबूत पेश नहीं कर पाई। दिसंबर 1995 में पुलिस ने कथित तौर पर कुन्दनपुरी  इलाके में आरडीएक्स और एके 56 बरामद की थी। पुलिस ने इसके लिए जगतार सिंह हवारा को दोषी ठहराया था। कोर्ट में यह मामला 24 साल चला। कोतवाली पुलिस थाना जगतार सिंह हवारा के खिलाफ मामला 1995 में दर्ज किया गया था।

आज लुधियाना में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अतुल कसना की अदालत ने वर्ष 1995 में घंटाघर चौक के  पास हुए बम ब्लास्ट मामले में जगतार सिंह हवारा को बरी कर  दिया है। सरकारी  पक्ष ने 23 गवाह पेश करवाए , लेकिन किसी ने भी हवारा की  वारदात के  समय शिनाख्त नहीं की। जब यह बम ब्लास्ट हुआ था, तब पंजाब में आतंकवाद का दौर था। मामले में जगतार सिंह हवारा को  आरोपित बनाया गया। 

एडवोकेट जसपाल सिंह का कहना था कि आरडीएक्स और एके 56 बरामदी के मामले में पुलिस जगतार सिंह के खिलाफ कोई भी ठोस सुबूत पेश नहीं कर पाई। इस फैसले के बाद जगतार सिंह हवारा को जेल से रिहा नहीं किया जाएगा, क्योंकि उसके खिलाफ कोर्ट में कई अन्य मामले भी चल रहे हैं। इससे पहले जुलाई 2016 में रूपनगर की अदालत ने भी बहुचर्चित बाबा भनियारांवाले के डेरे के बाहर बम धमाका  करने  के मामले में जगतार सिंह हवारा को बरी कर  दिया था। इस मामले में हवारा के खिलाफ दस जनवरी 2005 में जिला रूपनगर के नूरपुरबेदी में बहुचर्चित बाबा प्यारा सिंह भनियारांवाले के डेरे के गेट पर बम ब्लास्ट करने  के आरोप में केस दर्ज हुआ था।

-सुनीलराय कामरेड