BREAKING NEWS

LIVE : कांग्रेस मुख्यालय पहुंचा शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर, निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार◾झारखंड : गुमला में डायन होने के शक में 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या◾कारगिल शहीदों की याद में दिल्ली में हुई ‘विजय दौड़’, लेफ्टिनेंट जनरल ने दिखाई हरी झंडी◾ आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात ◾शीला दीक्षित की पहले भी हो चुकी थी कई सर्जरी◾BJP को बड़ा झटका, पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन◾पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता और कर्तव्यनिष्ठ प्रशासक थीं शीला दीक्षित : रणदीप सुरजेवाला ◾सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾

पंजाब

लुधियाना जेल की हिंसा के दौरान मारे गए कैदी की मां का दर्दनाक रूदन, पुलिसियों से एक ही सवाल, ‘मेरा शेर जैसा पुत क्यों मारा उसदा की कसूर...सी?’

लुधियाना : ‘हाय.. ओ..रब्बा, मैं कित्थे जावां-मेरा शेर जैसा पुत क्यों मारा उसदा की कसूर सी..’ भारी भीड़ के बीच सैकड़ों खाकी वर्दीधारियों की मोजूदगी में विलाप करती ममतामयी मां पुलिस वालों से पूछती है कि उसे इतना तो बता दो..कि मेरे पुत दा क्या कसूर था, उसे क्यों मारा? लुधियाना के सिविल अस्पताल के बाहर आपातकालीन वार्ड के आगे सगे-संबंधी महिलाओं की मोजूदगी में विलाप क रती मृतक 21 वर्षीय कैदी अजीत सिंह की मां निर्मला मोजूद हर शख्स से एक ही सवाल करती पूछती है कि उसे न्याय कौन देंगा। गमगीन वातावरण के दौरान उपस्थित महिलाएं उसे संभालने का कई बार प्रयास करती है। इसी बीच मां अपने बेटे को याद करके जमीन पर मिटटी पर ही पलाथी मारे बैठ जाती है। 

मृतक अजीत सिंह के पिता हरजिंद्र सिंह ने भी पुलिस अधिकारियों पर कत्ल का मुकदमा दर्ज करने की मांग करते हुए साफ तौर पर स्पष्ट किया है कि पोस्टमार्टम करवाने के लिए ना तो वह किसी सरकारी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करेंगे और ना ही वह अपने बेटे की लाश लेंगे। उन्होंने कहा कि मेरे अजीत को जिंदा जेल में लेकर गए थे, तो उसे लाश बनाकर क्यों सौंपा जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि डिप्टी सुपरीटेंड द्वारा उनके बेटे पर गोलियां चलाई गई है। अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज ना होने तक वह संघर्ष जारी रखेंगे। 

दरअसल बीते दिन लुधियाना के ताजपुर रोड़ पर स्थित केंद्रीय जेल में कैदियों और जेल मुलाजिमों के बीच हुई हिंसात्मक झड़प के उपरांत उठे बवाल में लुधियाना के टिब्बा रोड़ पर रहने वाले अजीत सिंह उर्फ भोला पुलिस द्वारा जेल के अंदर चलाई गई गोलीबारी के दौरान मारा गया था। इस झड़प में पंजाब पुलिस के दर्जनों जवान जख्मी हुए थे, जिनमें एसीपी संदीप वडेरा भी शामिल थे। जिनका इलाज लुधियाना के एक  निजी दयानंद अस्पताल में चल रहा है। 

सुनीलराय कामरेड