BREAKING NEWS

सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾

पंजाब

इंसाफ की आवाज नामक आर्गेनाइजेशन ने हल्ला बोल बैन्नर तले बुलंद की आवाज

लुधियाना- बरनाला : देश के अंदर दाखिल हुई चिटफंड कंपनियां गुजरे 15 साल के दौरान हजारों लोगों को ठगी का शिकार बना चुकी हैं। जिनके खिलाफ इंसाफ की आवाज नामक आर्गेनाइजेशन ने हल्ला बोल बैन्नर तले आवाज बुलंद की है। आर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय कन्वीनर महेंद्र पाल सिंह दानगढ़ ने यहां प्रेसवार्ता कर दाखिल हुई चिटफंड कंपनियों और उनसे पीड़ित हुए लोगों के लिए भारत सरकार व राज्य सरकारों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बताया कि लोगों को इंसाफ दिलाने के लिए उनकी संस्था द्वारा दिल्ली के जंतर-मंतर पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरु की जाएगी। जो 26 अक्तूबर से लेकर 25 नवंबर तक महीनाभर जारी रहेगी।

चेतावनी दी कि उसके बाद भी सरकार ने चिटफंड कंपनियों के खिलाफ शिकंजा नहीं कसा तो वे करो या मरो की नीति को अपनाएंगे। 26 नवंबर को हल्ला बोल बैन्नर तले भारी जनसमूह के साथ भारत सरकार का घेराव किया जाएगा। उन्हें समर्थन देने के लिए भारतीय किसान यूनिअनों ने भरोसा दिया है।

हादसों को रोकने के लिए रेल पटरियों के नजदीक लगाई जाएं कंटीली तार – सिद्धू

आर्गेनाइजेशन कन्वीनर दानगढ़ ने कहा कि देशभर में सैंकड़ों की संख्या में चिटफंड कंपनियां दाखिल हुई। जिनमें से अनेक चिटफंड कंपनियां लोगों को लूट कर फरार चुकी हैं और कई कंपनियां अभी भी काम कर रही हैं। इस मामले में जानकारी होने के बावजूद केंद्र सरकार और राज्य सरकारें हाथ पर हाथ रख कर बैठी हैं।

इस चिटफंड कंपनियों के खिलाफ लंबे समय से संघर्ष कर रही उनकी ऑर्गेनाइजेशन ने दिल्ली जंतर-मंतर पर अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल शुरु करने का फैसला लिया है। जहां देश के कई राज्यों से चिटफंड कंपनी शिकार लोग तो बैठेंगे ही और साथ ही कई इंसाफ पसंद संगठनों ने भी साथ देने का वादा किया है।

उन्होंने बताया कि चिटफंड कंपनियों के संस्था द्वारा पहले भी जंतर-मंतर पर कई बार राष्ट्र स्तरीय धरने दिए गए, केंद्रीय खजाना मंत्री अरुण जेटली, कांग्रेस प्रधान राहुल गांधी के अलावा विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी इस मुद्दे पर बात हो चुकी है। संसद को घेर कर पीड़ितों की आवाज सरकार तक पहुंचाने की कोशिश कर चुके है, लेकिन किसी सरकार किसी मंत्री पर कोई असर नहीं हुआ।

-  सुनीलराय कामरेड