BREAKING NEWS

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला : 7 दिन की सीबीआई रिमांड में भेजे गए आनंद गिरी व दो अन्य ◾महिलाओं के बाद अब पुरुषों के लिए तालिबान का फरमान- दाढ़ी बनाना और ट्रिम करना गुनाह, लगाई रोक ◾नए संसद भवन का दौरा करने पर कांग्रेस ने मोदी को घेरा, कहा- काश! PM कोरोना की दूसरी लहर के दौरान किसी अस्पताल जाते ◾भवानीपुर उपचुनाव प्रचार के आखिरी दिन लहराईं बंदूकें, BJP का आरोप- TMC ने दिलीप घोष पर किया हमला ◾किसानों के 'भारत बंद' को लेकर देश में दिखी मिलीजुली प्रतिक्रिया, जानिए किन हिस्सों में जनजीवन हुआ बाधित ◾CM बिप्लब देब का विवादित बयान, बोले- अदालत की अवमानना से न डरें अधिकारी, पुलिस मेरे नियंत्रण में है◾पाकिस्तान: ग्वादर में जिन्ना की प्रतिमा को बम से उड़ाया, बलोच ने ली हमले की जिम्मेदारी ◾भारत बंद के दौरान सिंघू बॉर्डर पर किसान की हुई मौत, पुलिस ने हार्ट अटैक को बताई वजह ◾टिकैत ने सरकार पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप, कहा- किसानों की बात सुनने के लिए मजबूर करेगा भारत बंद◾PM मोदी ने की आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन की शुरुआत, कहा- गरीबों की दिक्कतें होंगी दूर◾नरेंद्र गिरि मौत केस को लेकर एक्शन में CBI, बाघंबरी मठ में सुसाइड सीन को किया रिक्रिएट◾भारत बंद के बीच मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने की केंद्र से मांग- कृषि कानून करें निरस्त ◾ममता ने BJP को बताया नाचने वाले ड्रैगन की जुमला पार्टी, शुभेंदु अधिकारी ने किया तीखा पलटवार ◾भारत बंद : दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर लगा भारी ट्रैफिक जाम, गाड़ियों की लंबी कतारों से DND का भी बुरा हाल◾'भारत बंद' को मिला विपक्ष का समर्थन, कहा- काले कानून वापस लें केंद्र, किसानों का अहिंसक सत्याग्रह है अखंड ◾Coronavirus : देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 26 हजार से अधिक मामले आये सामने ◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23.18 करोड़ के करीब, 47.4 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾किसानों के भारत बंद के मद्देनजर दिल्ली में मेट्रो स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ी,पुलिस अलर्ट पर ◾भारत बंद : कृषि कानूनों के खिलाफ गाजीपुर बॉर्डर समेत दिल्ली-अमृतसर नेशनल हाइवे को किसानों ने किया जाम◾दस साल तक प्रदर्शन के लिए तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों को लागू नहीं होने देंगे : राकेश टिकैत◾

Social Media पर वारयल आंतडियां खराब Help Message का NRI ने किया खुलासा

लुधियाना-बरनाला : देश के अंदर दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे विभिन्न किस्म के अपराधों में सोशल मीडिया क्राइम भी तेज़ी से बढ़ रहा है। जिसके चलते बरनाला जिला के एक परिवार की ओर से अपने बच्चे की मासूमियत का हवाला देते हुए-आंतडियां खराब होने और उसकी जि़ंदगी बर्बाद होने का मेसेज वाट़स-एप पर वायरल किया गया जो सौ फीसदी झूठा साबित हुआ है। इसका खुलासा कस्बा हंडियाया के मूल निवासी एक एनआरआई ने किया है, जो कुछ दिन पहले कनाडा से भारत आए हुए हैं। जिन्होंने विदेशों में रहते एन.आर.आई. भाइयों से अपील की है कि फेसबुक, वट्स-एप या किसी और जरिए कोई भी मेसेज/सूचना पढऩे या सुनने को मिले तो जांच -पड़ताल एवं घटना की पुष्टि किये बिना किसी को सहायता राशि नहीं भेजी जाये।

बरनाला जिले के अधीन पड़ते गाँव बडबर के एक परिवार के एक सदस्य द्वारा अपने 6 वर्षिय बच्चे को पेट की आंतडियों की भयानक बीमारी होने का हवाला दे कर इलाज करवाने के लिए अलग-अलग संस्थायों एवं विदेशों में बैठे एन.आर.आई. भाइयों से भी मदद माँगी थी। वायरल किए मैसेज द्वारा बताया था कि गाँव बडबर निवासी हाकम सिंह अपने छोटे पुत्र हरनूर सिंह का इलाज बहुत ही महँगा है जिसे कराने में असमर्थ है। मैसेज को वाट्स-एप /सोशल मीडिया पर अपलोड करवाया गया था। जिसे पढ़कर भारत एवं विदेश से काफी राशि एकत्रित हुई थी।

पीडि़त परिवार को यथायोग्य सहयोग देने को लेकर नकद राशी एवं अन्य सामग्री ले कर कस्बा हंडियाया का मूलवासी एन.आर.आई. सत्तपाल शर्मा जैसे ही गाँव बडबर पहुंचा और उसने बस स्टैंड के पास खड़े एक रेहड़ी वाले को स्वाभाविक तौर पर पूछताछ की। जैसे ही रेहड़ी वाले ने कहा कि सामने गली में उसकी कोठी है तो उसका जवाब सुनते ही एन.आर.आई. के पांव तले से मिट्टी खिसक गई, जब घर में दाखि़ल होने लगा तो उसकी नजऱ पहले ऊँची नई तैयार हो रही बिलडिंग पर पड़ी। घर अंदर एक कमरा नजऱ आया जो हाल ही में निर्माण किया गया था। जिसे देखते ही पूरी तरह से वह हैरान गया, परन्तु शांतचित होकर उसने परिवार के सदस्यों और बच्चे के साथ बातचीत की। बीमार बच्चे की मैडिकल एवं टैस्ट रिपोर्टें देखने पर पता लगा कि हरनूर सिंह नाम के इस बच्चे को 3-4 साल पहले मामूली बीमारी हुई थी। एन.आर.आई. ने घर की नए निर्माण और कुछ ओर बातें पूछीं गई, जो सोशल मीडिया पर वायरल मेसेज से भिन्न थीं।

गौर हो कि करीब चार साल पहले हरनूर के परिवार वालों द्वारा इलाज के नाम पर एकत्रित की गई राषि से कोठी का निर्माण शुरू किया था, एक महंगा मोटरसाईकिल भी खरीद किया था। हाकम सिंह के परिवार की ओर से उसी मैसेज को बार बार वायरल करने का क्रम जारी रहा। जिसके चलते समय समय पर समाजसेवी संस्थाएं परिवार को सहायता राशी भेजती रहीं। आलम यह है कि परिवार के पास आलीशान कोठी बन कर लगभग तैयार हो चुकी है, घर के प्रांगण में बहु कीमती कपड़े धोने वाली नई मशीन, नया कूलर और काफी अन्य कीमती सामान मौजूद है। अपने बेटे के इलाज का वास्ता देकर एकत्रित हो रही धन राशि से परिवार ऐश-प्रस्ती कर रहा है। गांववासी सभी कुछ जानते हुए भी चुप्पी साधे हुए हैं। हरनूर के पिता हाकम सिंह का कहना है कि उनके परिवार की कुछ लोग बदनामी कर रहे हैं जिन्हे हमारी खुशियां बर्दाश्त नहीं हो रही। जिन पैसों से मकान का निर्माण किया गया है और जो सामान नजर आ रहा है वो पैसे हमारे रिश्तेदारों ने भेजे हैं। हमारे नाम पर जिन लोगों ने हमारे परिवार के साथ फोटो खिचवा पैसे ऐंठे हैं, की  शिकायत पुलिस निदेशक पंजाब से की जाएगी।

एन.आर.आई. सत्तपाल शर्मा का कहना है कि गाँव बडबर के हाकम सिंह के परिवार जैसे लोगों की वजह से असली जरूरतमंद परिवार मदद राशि का लाभ लेने से वंचित रह जाते हैं। उन्होंने देश-विदेशों में रह रहे एन.आर.आई. भाइयों से अपील की है कि यदि उन्होंने किसी भी जरूरतमंद (पीडि़त) व्यक्ति की सहायता करनी है, तो उस गाँव के सरपंच, मोहतवरों, नंबरदार, चौकीदार और समाज सेवीं क्लबों से अच्छी तरह पड़ताल करने के बाद ही संपर्क करें। जिससे किसी के इलाज के लिए आपकी ओर से दी जाती माली सहायता ऐशो -आराम के लिए इस्तेमाल ना कर सके। शर्मा ने जि़ला प्रशासन व पुलिस प्रशासन से उक्त परिवार के खि़लाफ़ कार्यवाही करने की भी माँग की है।

- सुनीलराय कामरेड