BREAKING NEWS

TET परीक्षा : सरकार अभ्यर्थियों के साथ-योगी, विपक्ष ने लगाया युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ का आरोप◾संसद में स्वस्थ चर्चा चाहती है सरकार, बैठक में महत्वपूर्ण मुद्दों को हरी झंडी दिखाई गई: राजनाथ सिंह ◾त्रिपुरा के लोगों ने स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सुशासन की राजनीति को तरजीह देते हैं : PM मोदी◾कांग्रेस ने हमेशा लोगों के मुद्दों की लड़ाई लड़ी, BJP ब्रिटिश शासकों की तरह जनता को बांट रही है: भूपेश बघेल ◾आजादी के 75 वर्ष बाद भी खत्म नहीं हुआ जातिवाद, ऑनर किलिंग पर बोला SC- यह सही समय है ◾त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में BJP का दमदार प्रदर्शन, TMC और CPI का नहीं खुला खाता ◾केन्द्र सरकार की नीतियों से राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बढ़ा रहा है, महंगाई बढ़ी है : अशोक गहलोत◾NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾

विश्वास गुप्ता ने राम रहीम और हनीप्रीत को लेकर किया बड़ा खुलासा , कहा - कमरे से आती थी अजीब आवाजें

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को लेकर हर दिन नए खुलासे हो रहे है। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की प्रेमिका हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने आज मीडिया के सामने आकर गुरमीत और हनीप्रीत के रिश्तों को लेकर बड़ा खुलासा किया है। विश्वास ने कहा कि किस तरह से कैसे उससे शादी कराने के बाद गुरमीत और राम रहीम में करीबी थी और किस तरह से दोनों के बीच रिश्ते थे।

\"\"

विश्वास ने कहा कि उनके बीच हनीप्रीत और राम रहीम का बाप-बेटी का कोई रिश्‍ता नहीं था। विश्‍वास गुप्‍ता ने बताया कि हनीप्रीत का राम रहीम को अपना पिता बताना महज दिखावा था। उसने कहा कि हनीप्रीत उसकी गोद ली हुई बेटी भी नहीं है। उसने हनीप्रीत को गोद लेने के लिए कानूनी प्रक्रिया का पालन नहीं किया है। विश्‍वास ने बताया कि बाबा हर हफ्ते मुझे गुफा में बुलाता था। हनीप्रीत और राम रहीम की उम्र में केवल 13 साल का अंतर है। वह उसे अपनी मंझली बेटी बताता था, क्‍योंकि बाबा की बड़ी बेटी हनीप्रीत से बड़ी थी।

\"\"

विश्वास ने कहा कि मेरा परिवार काफी समय से राम रहीम के समर्थक थे। राम रहीम ने ही मेरी हनीप्रीत से शादी करवाई थी। मुझे राम रहीम ने दामाद बताया था और हनीप्रीत को अपनी मंझली बेटी। हम जब डेरा जाते तो हनीप्रीत को डेरा की गुफा में ले जाया जाता था जबकि मुझे वहीं बाहर बैठा दिया जाता था। यह सिलसिला काफी समय तक चला। हनीप्रीत ने भी इस बारे में कुछ नहीं बताया।

\"\"

उन्होंने कहा कि मेरा और राम रहीम का कमरा पास-पास ही था। एक रात जब मैं पानी पीने के लिए उठा तो मैंने राम रहीम के कमरे से कुछ आवाज सुनी। तभी मैं राम रहीम के कमरे के पास गया तो हाथ लगाते ही दरवाजा खुल गया। शायद भगवान ही मुझे उनकी सच्चाई दिखाना चाहता था। मैंने कमरे में देखा कि राम रहीम और हनीप्रीत आपत्तिजनक स्थिति में थे। यह सब मैं किसी को बयां भी नही कर पाया, क्योंकि मुझे लगा कि कोई मेरी बात पर विश्वास नही करेगा। कई सालों तक मैं खून का खूंट पीकर जीता रहा।

\"\"

राम रहीम का परिवार और मेरा परिवार दोनों उस दिन शामिल था। अंत में हनीप्रीत और मुझे रोक लिया गया। मुझे राम रहीम ने कहा कि वो अपनी बेटी यानी कि हनीप्रीत के साथ एक रात साथ में ठहरना चाहता है। तो विश्वास ने मना नहीं किया इसलिए क्योंकि दोनों में बाप-बेटी का रिश्ता है। मगर उन्होंने दावा किया कि इस रिश्ते की आड़ में राम रहीम ने गलत संबंध स्थापित किये।

\"\"

मेरा मुंह चुप करवाने के लिए मुझे सारी सुविधाएँ दे दी गई। उनका मकसद था कि दिखावे, सुविधा और पावर में चुप हो जाएगा। मगर मुझे भनक हो गई थी। विश्वास ने दावा किया कि गोद लेने की प्रक्रिया भी गैरकानूनी है। कानून का पालन नहीं किया गया।

\"\"

विश्‍वास गुप्‍ता ने बताया कि डेरा में राम रहीम की इजाजत के बिना पत्ता भी नहीं हिलता था। हर चीज की जानकारी उसे होती थी। हालांकि शुरुआत में मुझे राम रहीम ने अपने दामाद बना लिया था, क्योंकि वह हनीप्रीत के साथ संबंध बनाना चाहता था। ऐसे में दामाद बनाने के बाद उन्होंने मुझे किराये का ड्डू बना दिया।

\"\"

इस दौरान विश्वास ने बोला कि मैं अभी भी मीडिया के सामने जो बाते रख रहां हूं वो जान हथेली पर रखकर बोल रहा हूं। राम रहीम के समर्थक मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं। इससे पहले मेरे ऊपर राम रहीम की ओर से कई केस लगाए गए। मुझ पर दहेज का केस भी लगाया गया, जिसके चलते हमारा सब कुछ खत्म हो गए। डेरा ने मुझे और मेरे परिवार को धमकाते हुए मेरी सारी संपत्ति हड़प ली।

\"\"

विश्वास बताया कि जब हम कभी बाहर जाते तो होटल में ऐसा रूम बुक किया जाता जिसमें अंदर से दोनों कमरों को जोड़ने वाला दरवाजा होता। जैसे ही हम कमरे में जाते, हनीप्रीत अंदर के दरवाजे से होते हुए राम रहीम के रूम में चली जाती और सारी रात वहीं रहती।

\"\"

विश्वास ने आगे कहा कि बाबा राम रहीम ने अपनी गुफा में बिग बॉस की तरह सेट बना रखा था और हम 6 कपल्स थे जिन्हें गुफा में बारी-बारी से 28 दिन रुकना पड़ता था। राम रहीम ने मुझे किराए का टट्टू बना रखा था।

उसने कहा कि राम रहीम और हनीप्रीत के संबंधों का मुझे पता चलने पर बाबा की तरफ से मुझे धमकी दी गई। डेरे की तरफ से मुझे धमकी देकर मेरे संपत्ति ले ली गई।

\"\"

राम रहीम ने विश्वास के खिलाफ एक दहेज, एक मानहानि और दो चैक बाउंस समेत पांच मुकदमें कराए। यही नहीं उसने विश्वास गुप्ता के पिता के खिलाफ भी दो मुकदमें करा दिए गए। जब कोई रास्ता नहीं बचा तो विश्वास के परिवार ने समझौते के लिए डेरे से संपर्क किया।

डेरे ने समझौते के तहत राम रहीम और हनीप्रीत के रिश्ते का आरोप वापस लेने की बात कही। फिर विश्वास के परिवार ने संगत के सामने डेरा और राम रहीम से माफी मांगी।