BREAKING NEWS

MP : दलित युवक की बारात पर किया था पथराव, अब शिवराज सरकार ने घर पर चलाया बुलडोजर ◾सामना में शिवसेना का तंज, चीन द्वारा कब्जाई जमीन पर भगवान शिव, ताज महल में ढूंढ रहे हैं भक्त ◾ज्ञानवापी : जुमे की नमाज में कम से कम शामिल हों लोग, मस्जिद कमेटी की अपील◾J&K : जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर सुरंग का एक हिस्सा गिरा, 10 फंसे, जारी है रेस्क्यू ऑपरेशन ◾UP : 27 महीने बाद जेल से बाहर आए आजम खान, अखिलेश यादव ने Tweet कर किया स्वागत◾भर्ती घोटाला मामले में लालू यादव की बड़ी मुश्किलें, बिहार से लेकर दिल्ली सहित CBI ने 17 ठिकानों पर मारी रेड ◾कृष्ण जन्मभूमि मामला : Court मस्जिद हटाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर करेगी विचार ◾आज का राशिफल ( 20 मई 2022) ◾RCB vs GT ( IPL 2022 ) : कोहली के बल्ले से निकली आरसीबी की जीत और प्लेऑफ की उम्मीद◾पंजाब में कांग्रेस को पड़ी दोहरी मार : सिद्धू को एक साल की सजा, जाखड़ ने थामा भाजपा का दामन◾भारतीय मुक्केबाज निकहत जरीन बनीं विश्व चैंपियन , PM मोदी ने दी बधाई ◾ इंडोनेशिया के ऐलान से भारत को राहत, जल्द ही कम हो सकते हैं खाने के तेल के दाम◾ अदालत में दाखिल याचिका को लेकर भड़के ओवैसी, बोले- मुसलमानों के खिलाफ अविश्वास पैदा करने की हो रही कोशिश◾Gyanvapi News: ज्ञानवापी मस्जिद पर अभिनेत्री कंगना बोलीं- काशी के कण- कण में बसे हुए हैं भगवान शिव◾ RCB vs GT: गुजरात टाइटंस ने टॉस जीतकर किया बल्लेबाजी का फैसला, यहां देखे दोनो टीमों की प्लेइंग इलेवन◾Quad Summit 2022: टोक्यो में शुरू होगा मोदी का मिशन, 24 मई को जाएंगे जापान, दिग्गज नेताओं के साथ होगी बातचीत ◾UP: स्वतंत्रता सेनानियों पर भावुक होकर योगी बोले- पिछली सरकारो ने इनके आदर्शों पर नहीं किया काम◾DU को संबोधित करते हुए शाह ने कहा: नहीं होनी चाहिए राजनीतिक लड़ाई, जिक्र किया- रक्षा नीति का.... ◾Gyanvapi Survey: वाराणसी अदालत में 23 मई को होगी अगली सुनवाई, दर्ज की जा चुकी है सर्वे रिपोर्ट ◾ अमित शाह से मिले CM भगवंत मान, PAK से ड्रोन घुसपैठ को लेकर MHA से की ये बड़ी मांग◾

GST विरोध : टैक्स वापस न हुआ तो आंदोलन तेज करने की चेतावनी

लुधियाना  : जीएसटी का टेक्सटाइल इंडस्ट्री व कपडा कारोबारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। शॉल, कंबल व कपडे को जीएसटी के दायरे में लाये जाने के विरोध में आज इंडस्ट्री से जुडे लोगों ने अपने कारोबार बंद रखे व सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर अपना रोष जाहिर किया। कारोबारियों ने शहर के अलग अलग हिस्सों में रोष सवरूप जलूस निकाल कर धरने लगाए।

\"\"

कारोबारियों ने सरकार से कपडे ,शॉल व कंबल उद्योग पर लागू होने जा रहे पांच प्रतिशत टैक्स को वापिस लिए जाने की मांग कर रहे हैं। इनका कहना है कि जीएसटी के जरिये उनके ट्रेड पर  पांच प्रतिशत टैक्स से उन्हें काफी दिक्कतें आएँगी। लिहाजा, सरकार इस पर पुर्नविचार कर इसे वापिस ले।

\"\"

होलसेल कपडा व्यापारी राजेश कुमार ने कहा कि हम सरकार के कपडा कारोबारियों पर जीसेटी में लगाए गए टैक्स का विरोध करते क्योंकि हमारे कारोबारी अधिकतर पढे लिखे नहीं हैं। ऐसे में हमें इसकी रिटर्न भरने व कागजी करवाई में दिक्कत आएगी। लिहाजा, हम इसे वापिस लिए जाने की मांग करते हैं। दरअसल कपडा कारोबारियों के अलावा लुधियाना की वूलेन हौजरी इंडस्ट्री, पंजाब की शॉल व कंबल इंडस्ट्री भी बुरी तरह प्रभावित हुई है।

\"\"

इस से वूलेन गारमेंट तो महंगे होंगे ही साथ शॉल व कंबल उद्योग को कारोबार ठप्प होने की चिंता सताने लगी है। पंजाब में शॉल, कंबल व टेक्सटाइल कपडा बनाने वाले छोटे व बडे करीब आठ हजार यूनिट्स हैं, जिनका सालाना टर्नओवर पंद्रह हजार करोड रुपए के करीब है, इन उद्योगों में हजारों लोग काम करते हैं जिन पर जीएसटी के बाद बुरा असर पड सकता है।

\"\"

टैक्सटाइल इंडस्ट्री का कहना है कि पहले शॉल,  कंबल व टेक्सटाइल कपडे पर टैक्स नहीं था। जीएसटी के बाद पांच प्रतिशत टैक्स से उनका धंधा चौपट हो जाएगा। लिहाजा, वह इसका विरोध जारी रखेंगे और अपना विरोध  तेज करेंगे ।

\"\"

गौरतलब है कि पिछले साल नवंबर में  के चलते विंटर  गारमेंट्स, शॉल व कंबल आदि का कारोबार प्रभावित हुआ था और अब ये जीएसटी के लागू होने से परेशान हैं। फिलहाल, शॉल कंबल उद्योग व कपडा कारोबारी विरोध प्रदर्शन जरिये सरकार पर ये दबाव बनाने में जुट गए हैं कि सरकार उन पर लागू हो रहा टैक्स का फैसला वापिस ले, ऐसे में यदि सरकार ने समय रहते इसमें संशोधन न किया तो आने वाले दिनों में ये प्रदर्शन और भी उग्र हो सकते हैं।

- सुनीलराय कामरेड