BREAKING NEWS

जसप्रीत बुमराह की आंधी में उड़ा वेस्ट इंडीज, एंटीगा टेस्ट में 318 रन से जीता भारत◾राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत अन्य नेताओं ने सिंधू को शानदार जीत पर बधाई दी ◾PM मोदी ने संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस के साथ ‘सार्थक चर्चा’ की◾J&K : केंद्र सरकार ने राज्य के लिए की 85 विकास योजनाओं की शुरुआत◾फ्रांस में PM मोदी ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन से की मुलाकात◾विपक्ष, प्रेस को जम्मू कश्मीर में लोगों पर बल के बर्बर प्रयोग का अहसास हुआ : राहुल◾जेटली के निधन से भाजपा में ‘दिल्ली-4’ दौर हुआ समाप्त ◾जेटली राजनीतिक दिग्गज, देश के लिए अमूल्य संपत्ति थे : लोकसभा अध्यक्ष◾केरल के कांग्रेस नेताओं ने PM मोदी की प्रशंसा करने पर शशि थरूर की आलोचना की ◾PM मोदी G-7 शिखर सम्मेलन के लिए पहुंचे फ्रांस◾सचिवालय से हटाया गया जम्मू कश्मीर का झंडा ◾TOP 20 NEWS 25 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾पीवी सिंधु का सुनहरा कारनामा, बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय ख़िलाड़ी ◾अब संसद में नहीं गूंजेगी अरुण जेटली की आवाज, खलेगी कमी : राहुल गांधी◾दवाओं की कोई कमी नहीं, फोन पर पाबंदी से जिंदगियां बचीं : सत्यपाल मलिक◾निगमबोध घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अरुण जेटली का अंतिम संस्कार किया गया◾मन की बात: PM मोदी ने दो अक्टूबर से प्लास्टिक कचरे के खिलाफ जन आंदोलन का किया आह्वान ◾लोकतांत्रिक अधिकारों को समाप्त करने से अधिक राजनीतिक और राष्ट्र-विरोधी कुछ नहीं : प्रियंका गांधी◾जी-7 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए PM मोदी फ्रांस रवाना◾सोनिया गांधी ने कहा- सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप दें महाराष्ट्र के नेता◾

पंजाब

36 घंटों से जमीं के अंदर 2 वर्षीय ‘फतेहवीर’ लड़ रहा है ज़िंदगी और मौत की लड़ाई

लुधियाना- सुनाम : पंजाब के संगरूर जिले में स्थित सुनाम उधमसिंह वाला में बीते दिनों 4 बजे के करीब यहां के नजदीकी गांव भगवानपुरा में एक बोरवैल में गिर गए 2 वर्षीय फतेहवीर सिंह को जमीं के अंदर से बाहर निकालने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की निगरानी में चल रहे बचाव कार्य के कई घंटे गुजर जाने के बावजूद सफलता हाथ नहीं लगी।

मासूम बच्चे की लंबी उम्र के लिए आसपास के दर्जनों गांवों और रिश्तेदारों के हाथ वाहेगुरू और रब्ब के आगे अरदास के रूप में उठ रहे है जबकि फतेहवीर सिंह के मां-बाप समेत अन्य नजदीकी रिश्तेदारों का रो-रोकर बुरा हाल है।

परिवार में शादी के सात साल बाद पैदा हुए फतोहवीर का 10 जून को तीसरा बर्थडे था। मोके पर मौजूद अधिकारी खबर लिखे जाने तक कुछ भी बताने से इंकार कर रहे है।   जबकि सूत्रों के मुताबिक गिरते समय बच्चे की मां गगनदीप कौर ने अपने जिगर के टुकड़े को पकडऩे की कोशिश भी की लेकिन वह असफल रही। मोजूदा वकत में बच्चे की मां उस वक्त को रो-रोकर कोस रही है जब उसने बच्चे को खेलने की मौखिक इजाजत दी।

बीती शाम से ही एन.डी.आर.एफ. के जवानों द्वारा फतेहवीर को बाहर निकालने की कोशिशें असफल रहने के बाद आज सुबह सवेरे कार्य की कमान 119 असालट इंजीनियरिंग रेजीमेंट को सौंप दी गई लेकिन काफी जदोजहद और विचार-विमर्श के बाद अब प्रशासन के विशेषज्ञों की देखरेख में सीमेंट के बड़े पाइप बोर में फंसे बच्चे की गहराई के सामानतर नीचे मानवीय साधनों द्वारा भेजे जा रहे है, ताकि 140 फीट की गहराई  में गिरे मासूम को पाइप में कट लगाकर सुरक्षित बाहर निकाला जा सकें। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक घर के सामने ही खेतों में खेलते समय नौ ईंच चौड़े 140 फीट गहरे बोरवेल में 2 वर्षीय फतेहवीर सिंह जा गिरा था। 26 सदस्यीय सेना और एनडीआरएफ की टीमों ने बच्चे के करीब पाइप के बाहर तक खोदाई कर ली है और अब पाइप को काटकर बच्चे को बाहर निकालने की कोशशि की जा रही है। रेजिमेंट की टीम की अगुआई अनिल वर्मा कर रहे हैं।  शुक्रवार सुबह सेना की टीम ने ऑपरेशन की कमान संभाल ली है।  जबकि कैमरों की मदद से बच्चे की हरकत पर नजर को रखी जा रही है। बोरवेल में बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए उस तक ऑक्सीजन सप्लाई पहुंचाई जा रही है

डीसी घनश्याम थोरी, एसएसपी डा. संदीप गर्ग, एसडीएम मनजीत कौर, डीएसपी हदीप सिंह सहित पुलिस व सिविल प्रशासन का अमला मौके पर पहुंचकर पल-पल की खबर ले रहा हैं। डीसी थोरी ने बताया कि बोर के चारों तरफ से मिट्टी से हटा दिया गया है। इसके बराबर में एक 41 ईंच चौड़ा गड्ढा खोदा जा रहा है। इसे वहां तक खोदा जाएगा, जहां तक बच्चा अटका हुआ है। बच्चे तक पहुंचने का प्रयास लगातार जारी है। एसएसपी डा. संदीप ने लोगों को संयम बनाए रखने की अपील की। उन्होंने परिवार को हौसला रखने की अपील करते हुए बच्चे को जल्द बाहर निकाल लेने का भरोसा दिलाया।

बच्चा कैसे गिरा 


फतेहवीर के परिजन खेतों में काम कर रहे थे और वह खेल रहा था। खेलते-खेलते खेत के बीच दस वर्ष पुराने बोरवेल जिसे परिवार वालों ने प्लास्टिक की बोरी से ढका हुआ था के पास जा पहुंचा। अचानक बच्चे का पांव बोर पर आ गया और बोर पर लगी बोरी कमजोर होने के कारण बच्चा सीधा बोर में नीचे चला गया। जब तक बच्चे के परिजन उसे बचाने के लिए भागे व गहराई तक जा चुका था।

- सुनीलराय कामरेड