बठिंडा : पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) के बागी सदस्यों ने शनिवार को 180 किलोमीटर लंबा ‘इंसाफ मार्च’ शुरू किया। इस मार्च के समापन पर एक नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान किया जा सकता है।

सुखपाल सिंह खैरा की अगुवाई में यह ‘इंसाफ मार्च’ शुरू हुआ। खैरा को ‘आप’ ने उस वक्त पार्टी से निकाल दिया था जब पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाए जाने पर उन्होंने बगावत कर दी थी।

इंसाफ मोर्चा तलवंडी साबो से पहले पड़ाव मौड़ विधानसभा के लिए पैदल हुआ रवाना

आयोजकों ने कहा कि वे 2015 में गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी से जुड़े मामलों में इंसाफ मांग रहे हैं।

इस मार्च में ‘आप’ से निलंबित किए जा चुके पटियाला से लोकसभा सांसद धर्मवीर गांधी, ‘आप’ से निष्कासित विधायक कंवर संधु, लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस, दल खालसा के बाबा हरदीप सिंह और गैंगस्टर से समाजसेवी बने लखा सिधाना शामिल हैं।

उन्होंने तलवंडी साबो में दमदमा साहिब गुरुद्वारा में मत्था टेकने के बाद मार्च शुरू किया। यह मार्च पटियाला में 16 दिसंबर को खत्म होगा।