लुधियाना-अमृतसर : दक्षिण एशिया के प्रसिद्ध पत्रकार और शांति प्रेमी कुलदीप नैयर जिनका बीती 23 अगस्त को दिल्ली में देहांत हो गया था, उनकी अस्थिया 16 सितंबर को सीमावर्ती कस्बे रामदास के नजदीक रावी दरिया में 16 सितंबर को जल प्रवाह की जाएंगी।

इस संबंध में जानकारी देते हुए हिंद-पाक दोस्ती मंच के महासचिव सतनाम सिंह मानक और फोकलोर रिसर्च अकादमी के प्रधान रमेश यादव ने बताया कि नैयर की अस्थियों को लेकर उनके पारिवारिक सदस्य सुधीर नैयर, राजीव नैयर, कविता नैयर, कानिका नैयर, कार्तिक नैयर, मंदिरा नैयर और आदित्य दीवान समेत पुष्पराज 15 सितंबर की शाम गुरू की नगरी अमृतसर में पहुंचेगे और 16 सितंबर को नैयर की अस्थियां लोगों के दर्शनों और बिछड़ी रूह को श्रद्धांजलि भेंट करने के लिए विरसा विहार अमृतसर में रखी जाएंगी।

उसके बाद दोपहर बाद रामदास के नजदीक रावी नदी में जल प्रवाह की जाएंगी। इसी शाम को चार बजे अंतरराष्ट्रीय सीमा अटारी-वाघा बार्डर पर कुलदीप नैयर की याद में उनके परिवार और हिंद-पाक दोस्ती मंच, फोकलोर रिसर्च अकादमी, सरबत का भला ट्रस्ट और कुलदीप नैयर के अन्य प्रशंसकों द्वारा सामूहिक इकटठ किया जाएंगा।