लुधियाना : पंजाब कैबिनेट का विस्तार चौथी बार फिर टल गया। इस बार लुधियाना के नगर-निगम चुनाव और गुजरात और हिमाचल के उलट परिणामों को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह काफी चिंतित है। वह मंत्रीमंडल का विस्तार करने से पहले हर कीमत पर लुधियाना नगर निगम चुनाव जीतना चाहते है। सूत्रों के मुताबिक कैप्टन अमरेंद्र सिंह के मंत्री मंडल विस्तार के दौरान लुधियाना से एक ही विधायक को लिए जाना है जबकि यहां से दावेदार 3 और 4 के बीच बताए जा रहे है। स्मरण रहे कि लुधियाना के 5 बार विधायक रहें राकेश पांडे का हाथ सबसे ऊंचा और मजबूत बताया जा रहा है जबकि भारत भूषण आशु सासंद रवनीत बिटटू और राहुल ब्रिगेड के नजदीकियों के चलते संघर्षशील विधायक है और वह दो बार विधायक भी चुने जा चुके है।

इधर आज लुधियाना में बिजली और सिंचाई मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल द्वारा हाल ही में हुए तीन नगर निगमों सहित अन्य नगर काउंसिलों के चुनावों में कांग्रेस सरकार पर धक्केशाही करने के लगाए आरोपों पर जवाब देते हुए कहा है कि इन चुनावों में कांग्रेस की जीत मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार की विकास मुखी नीतियों का परिणाम है। जिन्होंने सरकार द्वारा बठिंडा के थर्मल प्लांट को बंद करने संबंधी फैसले को सही करार दिया और स्पष्ट किया कि किसी भी कर्मचारी को नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। हालांकि सरकार सस्ती बिजली के प्रयोग को प्राथमिकता देगी। राणा गुरजीत लुधियाना स्थित पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी में श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाश उत्सव पर आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

इस अवसर पर श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश उत्सव पर सरकार द्वारा आयोजित किए जा रहे कार्यक्रमों पर उन्होंने कहा कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी के बारे में जितना भी बोला जाए वह कम है उनकी मानवता को बहुत बड़ी देन है युवाओं को श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के इन कार्यों से अवगत करवाने हेतु सरकार द्वारा राज्य की अलग-अलग यूनिवर्सिटियों में ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं सरकार सभी धर्मों का सम्मान करती है। 26 तारीख को आनंदपुर साहिब में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

सरकार द्वारा उद्योगों को 5 प्रति यूनिट की दर से बिजली देने के फैसले पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने चुनावी मेनिफेस्टो में जो वादा किया था वह उस पर कायम है। इस दौरान सुखबीर द्वारा सरकार पर हाल ही में संपन्न हुए 3 निगमों व नगर कौंसिलों के चुनावों में धक्केशाही करने के आरोपों पर कहा कि कांग्रेस की इन चुनावों में जीत मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह की विकासमयी नीतियों का परिणाम है। उन्होंने सवाल उठाया कि सरकार पर आरोप लगाकर धरना देने वाले सुखबीर इन चुनावों में प्रचार के लिए क्यों नही बाहर निकले।

लुधियाना निगम चुनावों पर उन्होंने कहा कि सरकार इसके प्रति गंभीर है। हालांकि इसके प्रति मुख्यमंत्री व स्थानों निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिधु ही फैसला लेंगे। जबकि बठिंडा थर्मल प्लांट को बंद करने संबंधी सरकार के फैसले पर उन्होंने कहा कि इससे कर्मचारियों की नौकरी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा सरकार ने इन कर्मचारियों को एडजस्ट करने का फैसला किया है। हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि सरकार को जहां भी सस्ती बिजली मिलेगी, वह खरीदेगी चाहे इसके लिए बाहर से ही क्यों ना बिजली खरीदनी पड़े।

अधिक जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक करे

– सुनीलराय कामेरड