लुधियाना-पटियाला  : पटियाला कैनल क्लब की तरफ से 52वें ऑल ब्रीड चैम्पियनशीप डॉग शो में देशभर से पहुंचे दुर्लभ किस्म के पालतू कुत्तों ने शाही शहर समेत पंजाब भर के लोगों का मन मोह लिया। इस शो में 42 अलग-अलग किस्मों के 227 कुत्तों ने हिस्सा लिया। जिसमें जीडीएस नस्ल के 35, डॉबरमैन 14, बॉक्सर 16, रॉट वाइलर 18, पग 16 और बिगुल नस्ल के 11 कुत्ते शामिल थे। इनके अतिरिक्त अकीतो, तिब्तयन मस्टरड, शिटयू, इंगिलश बुल्ल, डोगो अर्जेनटीना, चायो-चायो, अफगान, हाओनडं, लेबरेडार, साइबेरियन आदि नस्लों के विदेशी कुत्ते भी खींच का केंद्र रहें। इनके अलावा 100 से ज्यादा कुत्ते भी प्रदर्शनी के दौरान बेचे गए।

राजस्थान, हरियाणा, तामिलनाडु, असाम, पश्चिम बंगाल, मुंबई, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल और पंजाब भर के अलग-अलग जिलों के कुत्ते अपने-अपने मालिक -मालिकाइन के साथ शामिल हुए।

सभी मुकाबलों में जजमेंट की भूमिका सीवी सुदर्शन और जसविंद्र सिंह पवार ने निभाई। इस दौरान जहां कुत्तों की खरीद-फरोख्त बड़े स्तर पर हुई वहीं कुत्तों की देखभाल की सामग्री खरीदने वालों के लिए आकर्षण थी। कुत्तों के लिए शनील के कपड़ों के साथ तैयार किए गए रैन-बसेरे भी पहली बार देखने को मिले। इस शो के दौरान कोलकात्ता से आए हुए सोहीवाल करका अकेला अमेरिकन कोलासकर कुत्ता विशेष आकर्षण का केंद्र रहा। इन कुत्तों ने अपनी रशियन ट्रेनी करीना की देखरेख में बिना किसी मुकाबले के खिताब हासिल किए और अमृतसर से आए हुए हिम्मत सिंह के शेर जैसी शकल वाले तिबतियन मास्टर ने जहां अपने वर्ग से खिताब जीता वहीं इन कुत्तों को देखने के लिए हजारों की संख्या में भीड़ पहुंची।

खन्ना से आए हुए रविंद्र सिंह शिटजू नस्ल के दोनों कुत्तों ने अपने वर्ग में से प्रथम रहने का मान हासिल किया तो पटियाला के अमनदीप सिंह के इंगलिश बुल कुत्ते ने भी अपने वर्ग में से प्रथम स्थान हासिल किया जबकि मुक्तसर से आए हरजीत सिंह के पास अमरीकन बुलही के 8 पिल्ले थे, जिनमें से उसने दोपहर तक 5 पिल्ले 15-15 हजार में बेचकर बडिय़ा कमाई की। खन्ना से आए हुए बलजीत सिंह भुल्लर के पग और लेबराडोर किस्म के कुत्ते अपने वर्ग में विजेता है।

– रीना अरोड़ा

– अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।