लुधियाना-अजनाला : तख्त श्री केसगढ़ साहिब के सरबत खालसा द्वारा नियुक्त सिंह साहिबान जत्थेदार भाई अमरीक सिंह अजनाला ने गुरूमति विद्यालय दमदमी टकसाल जत्था भिंडरा मेहता के हैड क्वार्टर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सियासी और सामाजिक जत्थेबंदियां पंथ और पंजाब के हितों के लिए धड़ेबंदी से ऊपर उठकर एक मंच पर इकटठा होकर आने वाली लोकसभा चुनावों के लिए नया शिरोमणि अकाली दल बनाकर चुनाव लड़े और अकाली दल से शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी को बादलों के कब्जे से आजाद करवाने के लिए अपना अहम रोल निभाएं।

जत्थेदार ने यह भी कहा कि पिछले वक्त के दौरान पंजाब के अलग-अलग हिस्सों में श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी की घटनाओं के लिए जिम्मेदार बादल और अन्य दोषियों को सजा देने में मौजूदा कांग्रेस सरकार भी नाकाम रही है।

लुधियाना में विभिन्न क्षेत्रों से उपलब्धियां प्राप्त करने वाली शखशियतों का सम्मान करना प्रेरनास्रोत – सांसद रवनीत सिंह बिट्टू

उन्होंने कहा कि नशों की गंदली दलदल में धसती जा रही नौजवान पीढ़ी को बचाने के लिए सरकार द्वारा कोई भी यत्न नहीं किए जा रहे।

भाई अमरीक सिंह अजनाला ने यह भी कहा कि शिरोमणि अकाली दल सिखों की सियासी जत्थेबंदी थी और पंथ के हितों का नेतृत्व करती थी लेकिन आज इस जत्थेबंदी पर बादल परिवार का ही कब्जा है और वह बादल परिवार के ही हितों की रक्षा कर रही है।

– सुनीलराय कामरेड