चंडीगढ : पंजाब, हरियाणा एवं चंडीगढ़ में लोहड़ी का त्यौहार परंपरागत हर्ष एवं उल्लास के साथ रविवार को मनाया गया । लोगों ने इस मौके पर एक दूसरे को लोहड़ी की बधाई दी। इस दौरान परिवारों ने अपने अपने घरों के बाहर लोहड़ी जलायी । पंजाब के लुधियाना, मोहाली और जालंधर सहित प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर दिन में बच्चों और युवाओं ने पतंगें उड़ायी। आसमान विभिन्न रंगों के पतंगों से पटी पड़ी थी ।इस बार प्रदेश में कई स्थानो पर लोहड़ी बेटियों को समर्पित थी क्योंकि लोगों को बेटियों के महत्व से जागरूक बनाने के लिए ‘‘धियां दी लोहड़ी’’ का आयोजन किया गया था।

पंजाब में परंपरागत रूप से फसलों के मौसम की शुरूआत के दौरान लोहड़ी मनायी जाती है। लड़कियां पारंपरिक पोशाक में कई स्थानों पर लोक नृत्य गिद्धा करती हैं । इस मौके पर लोगों ने रेवड़ियां, मूंगफली और पापकार्न (मक्के का लावा) बांटी । ये तीनो खाद्य पदार्थ लोहड़ी से संबंधित है । पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लोगों को इस मौके पर बधाई दी है ।इस बीच सैकड़ों श्रद्धालुओं ने रविवार को पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ में दसवें सिख गुरू, गुरू गोविंद सिंह के 352 वें प्रकाश पर्व के मौके पर गुरूद्वारा जाकर मत्था टेका और अरदास किया ।