लुधियाना-अमृतसर : शिरोमणि गुरुद्वार प्रबंधक कमेटी ने पंजाब सरकार से मांग की है कि राज्य में पंचायती चुनाव दिसंबर माह में न करवाए जाएं। चर्चा है कि पंजाब सरकार 30 दिसंबर को पंचायती चुनाव करवाने जा रही है। एसजीपीसी का एतराज है कि अगर दिसंबर माह में पंचायतों के चुनाव होते है कि इस दौरान गुरु साहिब के साहिबजादों की शहीदी की याद में फतेहगढ साहिब में आयोजित होने वाले कार्यक्रम प्रभावित हो सकते है। इस से सिखों की धार्मिक भावनाओं को भी ठेस पहुंचेगी। एसजीपीसी की ओर से इस को लेकर एक पत्र भी पंजाब सरकार को भेजा है।

एसजीपीसी के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने कहाकि दिसंबर माह में गुरु गोबिंद सिंह जी के साहिबजादों बाबा अजीत सिंह , बाबा जुझार सिंह , बाबा जोरावार सिंह और बाबा फतेह सिंह समेत माता गुजरी जी और अनेश गुरु सिखों की शहादत के दिन आते है। इस माह के साथ सारी सिख कौम की वैरागमई भावनाए जुड़ी हुई है। सिख कौम इस माह में वैराग की भावनाओं के साथ शहीदी कार्यक्रम आयोजित करती है। अगर इस माह में चुनाव होते है तो सिखों की भावनाए आहित हो सकती है। इस लिए सरकार को चाहिए कि पंचातयों के चुनाव इस माह में न करवाए जाए। दिसंबर माह के बाद पंजाब सरकार जब मर्जी पंचायती चुनाव करवा सकती है।

कश्मीर का मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा सिख भेष में आया नजर, अलर्ट जारी

एसजीपीसी के प्रवक्ता व सचिव दिलजीत सिंह बेदी ने कहा कि सारी सिख कौम दिसंबर माह में अपने शहीदों का याद करने के लिए अलग अलग शहीदी कार्यक्रम आयोजित करती है। यह कार्यक्रम फतेहगढ समेत अलग अलग स्थानों पर आयोजित किए जाते है। अगर इस माह के दौरान चुनाव होते है तो इस से धार्मिक कार्यक्रम भी प्रभावित हो सकते है। इस लिए सरकार को चाहिए कि चुनाव दिसंबर में न करवाए जाएं।

उल्लेखनीय है कि यह चर्चा चल रही है कि पंजब सरकार दिसंबर माह में पंचायतों के चुनाव करवा रही है। चाहे इस के लिए अभी तक कोई चुनावी नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है फिर भी सरकारी कार्यालयों में चर्चा चल रही है कि पंजाब सरकार 30 दिसंबर को पंचायतों के चुनाव करवाने जा रही है। इस के लिए हो सकता है कि नोटिफिकेशन जारी हो जाए कि 17 से 20 दिसंबर तक नामाकन पत्र दाखिल करवाए जाएं। 21 को नामाकन पत्रों की जांच हो। 22 दिसंबर को नामाकन पत्रों की वापिसी व 30 को मतदान की संभावना जताई जा रही है इस को लेकर राजनीतिक गलियारों में भी खासी चर्चा है।

– सुनीलराय कामरेड