लुधियाना : भारत के स्वतत्रंता संग्राम के महान नायक शेर-ए-मैसूर टीपू सुल्तान पर जो भी फिरकापरस्त पार्टियां व नेता उंगलियां उठा रहे है, हकीकत में वह खुद देश के गद्दार है। यह बात आज यहां जामा मस्जिद में अहरार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवीं ने कही।

उन्होनें कहा कि बड़े ही अफसोस की बात हे कि आजाद भारत में अपनी नापाक राजनीति को चमकाने के लिए अब स्वंतत्रता संग्राम के नायकों पर भी इल्जाम लगाने शुरु कर दिये गये है। शाही इमाम ने कहा कि टीपू सुलतान भारत के स्वंतत्रता संग्राम का वह रोशन सितारा है जो रहती दुनिया तक जगमगाता रहेगा। किसी की घटिया सोच उनके रुतबे को कम नहीं कर सकती।

गुरू नानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व पर साल भर चलने वाले समारोहों की 23 से शुरुआत

शाही इमाम ने कहा कि दुनियां जानती है कि टीपू सुल्तान ने कभी भी फिरकापरस्ती सहन नही की और उसके राज में हिन्दु मुस्लिम सब बराबर थे। शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान ने कहा कि मोदी सरकार बनने के बाद कुछ हुआ हो या नही लेकिन इतना जरुर हुआ है कि देश के गद्दार और अंग्रेजी के टोढी रहे फिरकापरस्त सरमायेदार जरूर जहर फैलाने के लिए छोड़ दिए गये है ताकि वह भारत की जनता को डसे, जिससे विकास तो दूर जनता पानी भी न मांग सके।

शाही इमाम ने कहा कि टीपू सुल्तान पर इल्जाम लगाने वाले जनसंघी यह बताये कि उनकी जमात में कितने लोग है जिन्होंने देश के लिए आज़ादी की लड़ाई लड़ी। उन्होंने कहा कि गोडसे को मानने वाले देश के टुकड़े तो करवा सकते है, सद्भावना पैदा नही कर सकते।

– रीना अरोड़ा