लुधियाना : नारी सशक्तिकरण के दावों के बीच पदमश्री से विभूषित खूबसूरत वंदना लूथरा ने लुधियाना मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि आज की महिलाएं घर के अंदर बने चौका-चुल्हे तक सीमित नहीं बल्कि घर की दहलीज फांदकर वह अपने और अपने परिवार के लिए कुछ ना कुछ जरूर कर लेना चाहती है।

वीएलसीसी फाउंडर वंदना लूथरा ने यह भी स्पष्ट किया कि महिलाओं को अन्य चुनौतीपूर्ण कार्यक्षेत्रों के अतिरिक्त ब्यूटी और वेलनेस के क्षेत्र में आगे आने की जरूरत है। दुनियाभर में खूबसूरती और फिटनेस के नए आयाम गाढऩे वाली वंदना लूथरा ने पंजाब आगमन पर कहा कि वर्तमान साल में उनका फोकस वेलनेस और स्किल डवलपमेंट सेंटरों की ओर है और पंजाब में वह जल्द ही 10 और नए सेंटर खोलने जा रही है जहां बच्चों को ब्यूटी और वेलनेस की ट्रेनिंग दी जाएंगी। उनका दावा है कि पंजाब में 10हजार से अधिक बच्चे कुशल होकर खूबसूरती के लिए काम करेंगे।

पत्रकार हत्याकांड : राम रहीम पर फैसले के मद्देनजर पंजाब, हरियाणा में सुरक्षा बढ़ाई गई

उन्होंने कहा कि गुरूओं की इस पावन धरती पर आकर उन्हें अच्छा लगता है और यहां का कलचर, मेहमानवाजी और सबसे बड़ी बात यहां के लोग दिलदार व खुशगवार है। उन्होंने अपनी बातचीत के जरिए अटारी बाघा सरहद की रिट्रीट सेरामनी का जिक्र करते हुए कहा कि सरहद के उस पार रहने वाले लोगों को देखकर कभी नहीं लगता कि वे हमसे अलग है।

उन्होंने अपनी चाहत का जिक्र करते हुए कहा कि भले ही उन्होंने साउदी अरब, कुवैत, मस्कट और इंगलैंड जैसे देशों में अपने फिटनेस सेंटर खोल रखे है लेकिन उनकी तमन्ना है कि सरहद पार लाहौर या रावल पिंडी में उनका एक फिटनेस सेंटर अवश्य हो ताकि वहां के लोगों को भी वह खूबसूरती और जीने के अंदाज के बारे में अवगत करवा पाएं। स्मरण रहे कि पदमश्री से विभूषित मैडम वंदना लूथरा के पैतृक संबंध पेशावर से है।

– रीना अरोड़ा