उदयपुर  :   राजस्थान में बेटियों को बढ़ावा देने एवं उन्हें पढ़ा-लिखाकर सामाजिक जीवनधारा में लाने के उद्देश्य से चलायी गयी राजश्री योजना के तहत उदयपुर जिले की 18 हजार 866 बेटियों को चार करोड़ 71 लाख 65 हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डां संजीव टांक ने बताया कि इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत लड़की के 12वीं कक्षा तक पढाई पूरी करने पर परिवार को विभिन्न चरणों में 50 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती हैं। सरकार द्वारा दिए जाने वाले आर्थिक सहयोग से बेटियां न केवल पढ पाएंगी बल्कि अपने स्वास्थ्य सुधार में भी सहयोग मिलेगा।

उन्होंने बताया कि लाभार्थी का भामाशाह कार्ड होने पर भुगतान सीधे उसके बैंक खाते में किया जाएगा। इस योजना के तहत विभिन्न चरणों में बेटियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने का प्रावधान है। इसमें बेटी के जन्म के समय 2 हजार 500 रुपए, एक वर्ष के दौरान टीकाकरण होने पर दो हजार पांच सौ रुपए, पहली कक्षा में प्रवेश लेने पर चार हजार रुपए, कक्षा छह में प्रवेश लेने पर पांच हजार रुपए, कक्षा 10वीं में प्रवेश लेने पर 11 हजार रुपए तथा कक्षा 12वीं उत्तीर्ण करने पर 25 हजार रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाती है।

 – वार्ता