BREAKING NEWS

राज्य में कोई भी डिटेंशन सेंटर स्थापित नहीं होगा : CM ममता ◾TOP 20 NEWS 22 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या मामला : सुप्रीम कोर्ट ने ‘निर्वाणी अखाड़ा’ को लिखित नोट दाखिल करने की दी इजाजत ◾राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले- किसी भी आतंकवादी या नौकरशाह ने अपना बच्चा आतंकवाद में नहीं खोया◾PMC बैंक घोटाला : 24 अक्टूबर तक बढ़ी आरोपी राकेश वधावन और सारंग वधावन की हिरासत◾सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने के सभी मामले सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर◾मोदी से मिले नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी, PM ने मुलाकात के बाद किया ये ट्वीट ◾J&K और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को केंद्र का दिवाली तोहफा, 31 अक्टूबर से मिलेगा 7th पेय कमीशन का लाभ ◾राजनाथ सिंह बोले- नौसेना ने यह सुनिश्चित करने के लिए सतर्कता बरती कि 26/11 दोबारा न होने पाए◾राज्यपाल जगदीप धनखड़ का बयान, बोले-ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में किसी प्रकार की सेंसरशिप है◾भारतीय सेना ने पुंछ में LoC के पास मोर्टार के तीन गोलों को किया निष्क्रिय◾INX मीडिया भ्रष्टाचार मामले में पी.चिदंबरम को मिली जमानत◾गृहमंत्री अमित शाह का आज जन्मदिन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने दी बधाई◾अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट करेगा तय, समझौता या फैसला !◾पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती◾Exit Poll : महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा की प्रचंड जीत के आसार◾अनुच्छेद 370 हटाने के भारत के उद्देश्य का करते हैं समर्थन, पर कश्मीर में हालात पर हैं चिंतित : अमेरिका◾चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे, भाजपा ने राहुल को मारा ताना ◾पकिस्तान द्वारा डाक मेल सेवा पर रोक लगाने के लिए रवि शंकर प्रसाद ने की आलोचना ◾सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होने जापान पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ◾

राजस्‍थान

अधिवक्ता द्वारा 3 वर्षीय पुत्री के साथ कथित दुष्कर्म का मामला मुख्यमंत्री तक पहुंचा

राजस्थान के श्रीगंगानगर में बहुचर्चित एक अधिवक्ता पर अपनी 3 वर्ष की मासूम पुत्री के साथ कथित दुष्कर्म करने के आरोप का मामला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक पहुंच गया है। श्रीगंगानगर से अधिवक्ताओं का एक शिष्टमंडल आरोपी अधिवक्ता के परिजनों को साथ लेकर मंलगवार शाम को जयपुर में अशोक गहलोत से मिला। 

इसके बाद श्रीगंगानगर जिला पुलिस से इस प्रकरण पर तथ्यात्मक रिपोर्ट तलब की गई है। आज यह रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को प्रेषित कर दी गई। इससे पहले यह शिष्टमंडल चिकित्सा मंत्री डा़ रघु शर्मा से भी मिला। उधर इस मामले को लेकर श्रीगंगानगर में बार संघ के आह्वान पर अधिवक्ताओं की हड़ताल आठवें दिन भी जारी रही। 

ईद का अवकाश होने के बावजूद अधिवक्ताओं ने जिला न्यायालय परिसर में एकत्रित होकर सभा की और इसके बाद सिविल लाइंस में पुलिस अधीक्षक के सरकारी निवास की तरफ कूच किया। अधिवक्ताओं ने पुलिस अधीक्षक हेमंत शर्मा का पुतला जलाकर आक्रोश भी व्यक्त किया। 

बार संघ के अध्यक्ष जसवीर सिंह मिशन ने बताया कि प्रदर्शन में बड़ी संख्या में अधिवक्ता शामिल हुए। आरोपी अधिवक्ता के परिवार के लोगों ने भी इसमें भाग लिया। बार संघ द्वारा मांग की जा रही है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच और त्वरित कार्रवाई की जाए। 

बार संघ का आरोप है कि पुलिस ने मामले की जांच किए बिना ही आनन-फानन में आरोपित अधिवक्ता विनोद को गिरफ्तार कर लिया। पिछले सप्ताह बार संघ के शिष्टमंडल के साथ वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक ने आश्वस्त किया था कि तीन दिन में जांच पूरी कर ली जाएगी। इस बात को पांच दिन हो गए। 

अभी तक पुलिस की जांच मुकम्मल नहीं हुई है। पुलिस के अनुसार मामले की जांच लगभग पूरी कर ली गई है। दोनों पक्षों के लोगों के बयान दर्ज हो चुके हैं। पीड़ित बालिका की मेडिकल रिपोर्ट पुलिस को पहले ही मिल गई थी। उसकी मां के द्वारा सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अदालत में बयान दर्ज कराए गए हैं। 

इस मामले में शीघ, ही चालान पेश कर दिया जायेगा। उल्लेखनीय है कि करीब दस दिन पहले श्रीगंगानगर में आरोपी की पत्नी ने महिला थाने में अपने पति पर तीन वर्षीय पुत्री के साथ गत चार मई को दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद अधिवक्ता विनोद को गिरफ्तार कर लिया था, जो अब न्यायिक हिरासत में हैं।