BREAKING NEWS

खुद के विकास में जुटे नेता, एमसीडी चुनाव दोबारा लड़ रहे 75 पार्षदों की संपत्ति में तीन से 4,437% तक की वृद्धि : ADR◾SC ने कहा- सबसे महत्वपूर्ण सवाल, क्या ‘जल्लीकट्टू’ को किसी भी रूप में अनुमति दी जा सकती◾सीएम योगी ने कहा- सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा बचाने के लिए खोई विधानसभा सदस्यता◾Congress ने कहा- तीसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर और गिरने का डर, सच्चाई से मुंह नहीं मोड़ें PM◾Delhi Excise Policy: अमित अरोड़ा की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने 7 दिन के लिए ईडी हिरासत में भेजा◾धामी सरकार का कट्टरपंथियों पर प्रहार, विधानसभा में सख्त प्रावधान वाला धर्मांतरण रोधी संशोधन ​विधेयक पारित◾गुजरात पर चुनाव पूर्व सर्वेक्षण से कांग्रेस को तकलीफ, EC से कार्रवाई की मांग की◾GDP growth rate दूसरी तिमाही में घटकर 6.3% रही, विनिर्माण, खनन क्षेत्रों में गिरावट का असर◾Border dispute: महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद के बीच बेलगावी जिले में सुरक्षा सख्त◾Bihar: तेजस्वी यादव ने कहा- 5 दिसंबर को होगा लालू प्रसाद यादव का प्रतिरोपण◾भाजपा ने PM मोदी के खिलाफ ‘आपत्तिजनक शब्दों’ के इस्तेमाल पर कांग्रेस को लिया आड़े हाथ ◾दिल्ली: चांदनी चौक हुई धुंआ-धुंआ! एक दुकान में लगी भीषण आग, दमकल विभाग ने संभाला मोर्चा ◾Gyanvapi Case: श्रृंगार गौरी की पूजा के मामले में अगली सुनवाई पांच दिसंबर को होगी ◾अफगानिस्तान में दर्दनाक वारदात! मदरसे में हुए बम धमाके में 15 की मौत, 27 घायल◾नवाब मलिक की बढ़ी मुश्किलें, विशेष अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जमानत देने से किया इनकार ◾एक्शन में CBI, टीआरएस नेता कमलाकर व रविचंद्र तलब, IPS अधिकारी बनकर पैसे ऐंठने के मामले में होगी पूछताछ ◾Karnataka: कर्नाटक में पुलिस प्रशासन से बड़ी लापरवाही, आरोपी ने चलती जीप से लगाई छलांग, मौके पर हुई मौत◾Gold Rate Today: शादी के सीजन में सोने में गिरावट, प्रति 10 ग्राम पहुंचा इतना भाव, चांदी भी पड़ी फीकी◾गुजरात के रण में वादों की बौछार, भगवंत मान ने कहा- AAP की सरकार बनी तो लोगों को बिजली बिल में मिलेगी राहत ◾china: चीन के पूर्व राष्ट्रपति जियांग जेमिन का हुआ निधन, 96 वर्ष की आयु में ली आखिरी सांस◾

एशिया की दूसरी बडी कृत्रिम मीठे पानी की झील फिर छलकने को आतुर

उदयपुर : एशिया की दूसरी बडी कृत्रिम मीठे पानी की झील जयसमंद झील पिछले 27 वर्षो में पांचवी बार छलकने को आतुर हैं। जल संसाधन विभाग के सूत्रों के अनुसार 27 फीट भराव क्षमता वाली यह झील वर्ष 1973, 1990,1994,2016 में छलकी थी तथा इस वर्ष लबालब हो चुकी हैं। वर्ष 2006 में मूसलाधार बारिश से जयसमंद का गेज 27 फीट से ऊपर चला गया था। मेवल और छप्पन की लाइफ लाइन कही जाने वाली जयसमंद झील के भरने की उम्मीद लगाये रहते हैं।

\"\"

Source

उदयपुर शहर की जलापूर्ति का सबसे बडा जलापूर्ति का केन्द्र भी यही झील हैं। यहां से पाईपलाइन से रोजाना हजारों लीटर पानी उदयपुर में आता हैं। कहा जाता है कि इस झील को भरने के लिए नौ नदी और 99 नालें मदद करते हैं। इसमें मुख्यत: गोमती नदी जिसको खरका नदी कहते हैं, झाझरी नदी, सिरोली नदी, मकरेडिी नदी, बम्बोरा, खेराटी नदी, रुपारेल नदी, कुराबड, बुंढेल और गींगला नदी समेत 99 नालों का संगम होता हैं।

\"\"

Source

गौरतलब है कि मेवाड के महाराजा जयसिंह ने गोमती नदी पर वर्ष 1685 में इसका शिलान्यास किया और वर्ष 1730 में इसकी पाल बनकर तैयार हो चुकी थी। महाराज जयसिंह के नाम से इसका नाम जयसमंद झील रखा गया था। यहां आने वाले देशी विदेशी पर्यटक इसकी खासियत से खींचा चला आता हैं। पाल की लंबाई 335 मीटर हैं तो ऊंचाई 35 मीटर हैं इसका कुल भंडारण क्षमता 414.6 मिलियन एकड़ फीट है, 37 हजार हेक्टेयर से भी ज्यादा कमांड ऐरिया हैं।

\"\"

Source

भाजपा शहर अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने भी बधाईयों का सिलसिला बनाए रखा।पूर्व सांसद रासा सिंह रावत, जिला कलेक्टर गौरव गोयल, पुलिस अधीक्षक राजेंद्र सिंह चौधरी, सिटी मजिस्ट्रेट अरविन्द कुमार सेंगवा आदि ने भी प्रशासन की ओर से ईद की मुबारकबाद दी। अजमेर दरगाह शरीफ स्थित शाहजहांनी मस्जिद, संदली मस्जिद पर भी बड़ी संख्या में जायरीनों ने नमाज अता की।

\"\"

Source

इस मौके पर ख्वाजा साहब की बारगाह में हाजिरी देकर सभी ने पूरे विश्व व हिन्दुस्तान में तरक्की व खुशहाली की दुआ की। दरगाह दीवान जैनुअल आबेदीन, अंजुमन सचिव वाहिद हुसैन अंगारा, दरगाह खादिम शेख जुल्फीकार चिश्ती व एस.एफ.हसन चिश्ती ने भी मुस्लिम भाइयों को ईद की शुभकामनाएं दी व अल्लाह का शुक्राना अदा किया। इसके अलावा ईदगाह नौसर घाटी, ईदगाह रातीडांग, सूफी मस्जिद सोमलपुर, दरगाह मीरासाहब तारागढ़, कच्हरी मस्जिद, मस्जिद घंटाघर पर भी ईद की नमाज अता की गई।

\"\"

Source

जिले के नसीराबाद स्थित कोटा व श्रीनगर रोड की ईदगाहों में शहर काजी मोहम्मद फुरकान ने नमाज अता कराई। साथ ही ब्यावर , पीसागन व अन्य मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों से भी ईद की नमाज अदा कर खुशहाली की कामना की दुआ करने के समाचार है।ईद के मुबारक मौके पर अजमेर दरगाह शरीफ स्थित जन्नती दरवाजा आज तड़के सुबह खोला गया। अकीदतमंद देर रात से ही पंक्ति लगाकर जन्नती दरवाजे से निकलकर जियारत करने के लिए बेताब नजर आए। साल में चार बार खुलने वाला यह दरवाजा आज चंद घंटों के लिए खोला गया।दिन में नमाज के बाद ढाई बजे दरवाजे को बंद कर दिया जाएगा।

\"\"

Source

ईद को देखते हुए अजमेर जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता बंदोबस्त किए है।साथ ही नगर निगम की ओर से भी सफाई आदि की माकूल व्यवस्था की गई है। ख्वाजा साहब की दरगाह का क्षेत्र ईद की खुशियों से भरा पड़ा है और अब नमाज की धार्मिक क्रिया पूरी होने के बाद 'कुर्बानी' का सिलसिला शुरू हो रहा है जो देर रात तक चलेगा।