BREAKING NEWS

देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 161.81 करोड़ से ज्यादा खुराक दी गई : सरकार ◾भगवंत मान ने सीएम चन्नी को दी चुनौती, कहा- अगर हिम्मत है तो धुरी सीट से मेरे खिलाफ चुनाव लड़ लें◾कनाडा की सीमा पर चार भारतीयों की मौत पर PM ट्रूडो बोले- बेहद दुखद मामला, सख्त कार्रवाई करूंगा◾EC ने रैली-रोड शो पर लगी पाबंदी को 31 जनवरी तक बढ़ाया, दूसरे तरीकों से प्रचार करने पर दी गई ढील ◾गृहमंत्री शाह ने कैराना में मांगे घर-घर BJP के लिए वोट, पलायन कराने वालों पर साधा निशाना ◾ चन्नी और सिद्धू दोनों पंजाब के लिए निकम्मे हैं, कांग्रेस के अंदर की लड़ाई ही उनको चुनाव में सबक सिखाएगीः कैप्टन◾निर्वाचन आयोग : चुनाव वाले राज्यों के शीर्ष अधिकारियों से करेगा मुलाकात, कोविड की स्तिथि का लेंगे जायजा ◾ दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR , पूर्व सीएम बोले- हमने कोई अपराध नहीं किया◾पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾

संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर कर रही है केंद्र सरकार : सचिन पायलट

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि कि आज केंद्र की सत्ता में जो लोग बैठे हुए है वे संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने में लगे हुए हैं। पायलट ने कोटपूतली कस्बे में संवाददाताओं से कहा, ‘‘पिछले 70 साल में देश में जिन संस्थाओं का निर्माण हुआ है उसमें सबकी भूमिका रही है.. लेकिन दुर्भाग्य से आज जो लोग केंद्र की सत्ता में बैठे हुए हैं वे इन संस्थाओं को कमजोर करने में लगे हैं।’’ 

संविधान दिवस का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा,‘‘मुझे लगता है कि देश का लोकतंत्र और प्रजा का राज हमारी पूंजी है उसको बरकरार रखना हम सब की जिम्मेदारी है। आज संविधान दिवस है और हम सब लोगों को प्रण लेना चाहिए कि देश के लोकतांत्रिक के सिलसिले में संविधान निर्माताओं की जो दूरदर्शी सोच थी उस सोच को हमें आगे ले जाना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ आज जो हमारी नाना प्रकार की संस्थाएं हैं, उनकी नींव को कमजोर करने की कोशिश चल रही है.. (उसके विरूद्ध) पूरे देश को एकजुट होना चाहिए।’’कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘लोकतंत्र में हार जीत.. सत्ता विपक्ष सब चलता रहता है लेकिन 70 साल में जो मेहनत से इस देश के लोगों ने संवैधानिक संस्थाओं को सिंचित करके आज इतना मजबूत बनाया है उस धरोहर को हमें बनाये रखना चाहिए.. उसको कमजोर करेंगे तो देश को बहुत नुकसान होगा। ’’

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में कमियों को पूरा किया गया है।पायलट ने कहा, ‘‘हमारी इस सरकार में दो साल तक कोई दलित मंत्री नहीं था.. आज मुझे खुशी है कि चार चार दलित मंत्रियों को कैबिनेट रैंक दिया गया है। हमारे आदिवासी भाइयों को मौका मिला है। किसानों, दलितों, अल्संख्यकों, महिलाओं को सबको जगह दी गई है।’’ उन्होंने कहा,‘‘30 साल से राजस्थान में जो परिपाटी चल रही है ...पांच साल भाजपा.. पांच साल कांग्रेस .. इस परिपाटी को तोड़ना जरूरी है। और मुझे विश्वास है कि हम लोग एकजुटता से काम करेंगे तो 22 महीने बाद पुन: यहां सरकार कांग्रेस पार्टी की बनेगी। लोगों को बहुत उम्मीद हमसे हैं और जो वादे हमने किये हैं उसको हम पूरा कर रहे है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सरकार संगठन मिलकर काम करेंगे तो निश्चित रूप से जनता का आर्शीवाद हमको मिलेगा। मुझे जो भी जिम्मेदारी दी गयी है मैंने पूरी निष्ठा से उसको निभाया है.. मेरी प्राथमिकता रहेगी कि राजस्थान में हम दोबारा सरकार बनाये उसके लिए हमें जो कुछ करना पडेगा.. हम करेंगे।’’

कोटपूतली कस्बे में एक दलित की बारात पर पत्थर फेंकने के मामले में पूछे गये सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि दलित आदिवासी समाज के खिलाफ यदि कोई कानून अपने हाथ में लेता है तो उस पर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए और इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश रखना चाहिए। पायलट ने कहा,‘‘हमारे दलित भाई बहनों को विशेष रूप से संरक्षण की जरूरत है और मैं और हम सब लोग हमेशा हमारे दलित भाइयों के साथ खड़े रहेंगे