BREAKING NEWS

कोरोना प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बोले PM मोदी- 7 दिन तक 1 घंटा लोगों से सीधे करें बात◾KKR vs MI IPL 2020: कोलकाता नाइट राइडर्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾ड्रग केस में बड़ी कार्यवाही : NCB ने दीपिका, सारा , श्रद्धा कपूर और रकुल प्रीत सिंह को भेजा समन◾दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की तबीयत बिगड़ी, LNJP हॉस्पिटल में भर्ती◾राहुल गांधी का तीखा वार : मप्र में कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ किया, भाजपा ने झूठे वादे किए◾कृषि बिल पर विरोध : दिल्ली की ओर कूच कर रहे युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका, कई हिरासत में◾धोनी पर बरसे गंभीर , कहा - सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करना मोर्चे से अगुवाई नहीं◾DRDO ने टैंक रोधी मिसाइल का किया सफल परीक्षण, रक्षा मंत्री ने दी बधाई ◾कोविड-19: देश में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में लगातार तेजी, रिकवरी रेट 81.25 प्रतिशत ◾कृषि बिल पर विरोध जारी, संसद परिसर में गांधी प्रतिमा से अंबेडकर प्रतिमा तक विपक्ष का मार्च ◾कृषि बिल : विपक्ष का संसद परिसर में प्रदर्शन, आज शाम 5 बजे 5 नेताओं से मिलेंगे राष्ट्रपति◾बारिश की वजह से डूबी मुंबई, सड़क और रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित ◾सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया-शोविक की सुनवाई टली, मुंबई में बारिश के चलते आज HC की छुट्टी◾कश्मीर के मुद्दे को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति पर भड़का भारत, कहा- आंतरिक मामलों में दखल स्वीकार नहीं◾राहुल ने पीएम मोदी पर पड़ोसी देशों के साथ संबंधों को नष्ट करने का लगाया आरोप◾कोरोना संक्रमण के फैलते प्रकोप की वजह से संसद का मानसून सत्र आज से अनिश्चित काल के लिए स्थगित ◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 56 लाख के पार, 90 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾पीएम मोदी की 7 राज्यों के CM के साथ बैठक आज, कोरोना महामारी पर करेंगे चर्चा ◾अमेरिका में वैश्विक महामारी के नए मामलों में कमी, कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 2 लाख के पार ◾आज का राशिफल (23 सितम्बर 2020)◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

CM गहलोत बोले-BJP में गुटबाजी चरम पर पहुंची, विधायकों को बचाने के लिए की जा रही है बाड़बंदी

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि देश का दुर्भाज्ञ हैं कि ऐसे लोग सत्ता में बैठे हुए हैं जो लोकतंत्र को कमजोर करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सत्ता में है और बाड़बंदी बीजेपी कर रही है। इससे साफ लगता है कि उनका षड़यंत्र सफल नहीं हो रहा। 

जैसलमेर में अपने समर्थक विधायकों से मिलने पहुंचे अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी के कैलाश मेघवाल पहले ही कह चुके है कि चुनी हुई सरकार को गिराने का षडयंत्र गलत परंपरा है। बीजेपी के कई विधायक भी ऐसा मानते हैं। उन्होंने कहा कि अब बीजेपी अपने विधायकों की तीन-चार अलग स्थान पर समूहों में बाड़बंदी कर रही है। 

गहलोत ने कहा कि जब राज्य में कांग्रेस की सरकार है तो फिर बीजेपी को अपने विधायकों की बाड़बंदी करने की नौबत क्यो आई? इससे जाहिर है कि बीजेपी में गुटबाजी चरम पर पहुंच गई है और आपसी फूट के कारण विधायकों को टूटने से बचाने के लिए बाड़बंदी की जा रही है।

उन्होंने कहा कि हम लोकतंत्र की रक्षा के लिए विधायकों को एकजुट कर रखे है। जीत हमारी होगी, क्योंकि जनता हमारे साथ है। यह देश का दुर्भाज्ञ है कि केंद्र में सत्ता में ऐसे लोग बैठे हैं जो संकट के समय में सरकार गिराने लगे हैं, जबकि इस समय लोगों का जीवन और रोजगार बचाने की जरूरत है। ऐसे लोग किस प्रकार शासन चला रहे हैं इसे समझा जा सकता है। 

उन्होंने कहा कि मैने खुद प्रधानमंत्री से बात की। गृह मंत्री अमित शाह के क्या बात करें? उनका रवैया किसी से छुपा नहीं है। केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान एवं पीयूष गोयल जिनका नाम वे पहले भी ले चुके हैं और ये सब मिलकर षडयंत्र रच रहे हैं। ये लोग लोकतंत्र को कमजोर कर रहे है। जिसे जनता ने 70 साल से सहेज कर रखा।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि यह लड़ाई लोकतंत्र को बचाने के लिए है और यह 14 अगस्त के बाद भी जारी रहेगी। विजय हमारी होगी, विजय सत्य की होगी, विजय प्रदेशवासियों की होगी और विजय उन सभी विधायकों की होगी, चाहे वह पक्ष में हो या विपक्ष में। सभी विधायकों को पत्र लिखे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैंने सभी विधायकों को पत्र लिखा है और उनसे कहा है कि वे अपनी अंतरात्मा की बात सुने। साथ ही अपने क्षेत्र की जनता की आवाज सुनकर फैसला लें।

वसुंधरा राजे की दिल्ली में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात के बारे में जब सीएम से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बीजेपी क्या करती है, इसके बारे में मुझे कुछ मतलब नहीं है, लेकिन देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रही है। जिसको देश और प्रदेश की जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। 

अशोक गहलोत ने बागी विधायकों के बारे में कहा कि अधिकांश बागी वापस हमारे साथ आयेंगे, लेकिन यह चिंताजनक है कि उनकी सुरक्षा के लिए 200-200 पुलिसकर्मी तैनात किये जा रहे हैं। उनके परिवार वालों को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है और सुरक्षा का कड़ा पहरा है। एसओजी और एसीबी भी गई थी कानूनी रूप से बातचीत करने, लेकिन उन्हें भी नहीं मिलने दिया गया। 

उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेताओं सहित कांग्रेस के बागी विधायकों के खिलाफ घर-घर में गुस्सा है। ऐसे में 19 विधायक खुद समझ गए होंगे और उनमें से अधिकांश लोग वापस हमारे साथ आ जायेंगे।