BREAKING NEWS

बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : सिल्ली में जीत का 'चौका' लगा पाएंगे सुदेश महतो?◾झारखंड: विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए 20 सीटों पर मतदान जारी, PM मोदी ने की लोगों से वोट डालने की अपील ◾जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव रेप पीड़िता, सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत◾महिलायें अपने हाथ में लें देश की बागडोर : प्रियंका गांधी वाड्रा◾हैदराबाद मुठभेड़ मामले में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोली चलाई : येदियुरप्पा◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने ताबड़तोड़ बैठकें कर जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की ◾TOP 20 NEWS 6 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

राजस्‍थान

CM अशोक गहलोत बोले-एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी के रूप में काम कर रहा है RSS

 gehlot

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधते हुए कहा कि वह देश में ‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’ (संविधानेत्तर प्राधिकार) के रूप में काम कर रहा है और उसकी मर्जी के बिना न कोई मंत्री बन सकता है, न मुख्यमंत्री न ही प्रधानमंत्री। उन्होंने कहा कि आरएसएस को खुद को राजनीतिक पार्टी में बदलकर खुलकर चुनावी मैदान में उतरना चाहिए। 

गहलोत विधानसभा में भारतीय संविधान को अंगीकृत करने के 70 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में भारत के संविधान तथा मूल कर्तव्यों पर हुई चर्चा में भाग ले रहे थे। सामने बैठ प्रतिपक्ष बीजेपी के सदस्यों की ओर इशारा करते हुए गहलोत ने विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की नियुक्तियों का जिक्र किया और कहा, ‘‘आरएसएस का दबदबा बढ़ रहा है सब क्षेत्रों में और भविष्य में आप अपनी 'मोदी है तो मुमकिन है' की योजना पर आप कामयाब हो जाओ ये आपकी चाल है।’’ 

संविधान को केंद्र बिंदु बनाकर भविष्य की ओर देखना होगा : सचिन पायलट

उन्होंने कहा, ‘‘आपातकाल के दौरान संजय गांधी पर आरोप लगता था कि ये देश में ‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’ के रूप में काम कर रहे हैं। वे तो करते थे या नहीं, सब जानते हैं पर आज आरएसएस ‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’ के रूप में काम कर रहा है देश में। बिना उससे पूछे न कोई मंत्री, न मुख्यमंत्री, न प्रधानमंत्री बन सकता है। बिना उनकी मर्जी के कोई नहीं बन सकता।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘आरएसएस के प्रचारक रहे मोदी मुख्यमंत्री बन गए। बाद में प्रधानमंत्री बन गए, इसका मतलब आरएसएस का ही राज है। वल्लभभाई पटेल ने आरएसएस पर प्रतिबंध लगाया तो बाद में आपने माफी मांगी कि हम अब कभी राजनीति में भाग नहीं लेंगे केवल सांस्कृतिक क्षेत्र में काम करेंगे।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री कम से कम देश से एक माफी मांगे कि उस वक्त हम महात्मा गांधी व पटेल को समझ नहीं पाए थे, इसलिए उस वक्त हम इनका नाम लेते नहीं थे इनको मानते नहीं थे। अब हम इनको दिल से मानते हैं, दिमाग से मानते हैं। खाली दिमाग से नहीं मानते हैं।’’ 

इसके साथ ही गहलोत ने आरएसएस को राजनीतिक संगठन के रूप में काम करने की सलाह देते हुए कहा, ‘‘आरएसएस को मेरी एक सलाह है कि अब इनको अपने आपको राजनीतिक दल में बदल लेना चाहिए। किसी वक्त आपने राजनीतिक नहीं करने का लिखकर दिया होगा, वह अलग बात थी। अब आप देश पर राज कर रहे हो आपको लिखकर देना चाहिए कि आरएसएस खुद सरकार में बदल जाए। नाम चाहे बीजेपी का रहे।’’ 

गहलोत ने कहा, ‘‘आरएसएस के विचारक गोविंदाचार्य ने किसी समय कहा था कि तत्कालीन प्रधानमंत्री वाजपेयी मुखौटा हैं, हमारे पीछे कोई और है। मैं चाहूंगा कि कृपया करके आप आरएसएस को राजनीतिक दल में बदल दो। खुलकर मैदान में आओ फिर देखो क्या होता है। आपका मुकाबला करेंगे हम।’’