BREAKING NEWS

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भारत को एक बहुत बड़ी शक्ति, वक्त की कसौटी पर खरा उतरा मित्र बताया◾पंजाब के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के साथ सीमा व्यापार खोलने की वकालत की◾महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾देश में 'ओमिक्रॉन' के बढ़ते प्रकोप के बीच राहत की खबर, 85 फीसदी आबादी को लगी वैक्सीन की पहली डोज ◾बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾दुनिया बदलीं लेकिल हमारी दोस्ती नही....रूसी राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी◾UP चुनाव को लेकर प्रियंका ने बताया कैसा होगा कांग्रेस का घोषणापत्र, कहा- सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाएगा◾'Omicron' के बढ़ते खतरे के बीच MP में 95 विदेशी नागरिक हुए लापता, प्रशासन के हाथ-पांव फूले ◾महबूबा ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- यहां गोडसे का कश्मीर बन रहा◾अखिलेश सरकार में होता था दलितों पर अत्याचार, योगी बोले- जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा जानामाना गुंडा ◾नागालैंड मामले पर लोकसभा में अमित ने कहा- गलत पहचान के कारण हुई फायरिंग, SIT टीम का किया गया गठन ◾आंग सान सू की को मिली चार साल की जेल, सेना के खिलाफ असंतोष, कोरोना नियमों का उल्लंघन करने का था आरोप ◾शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾

कोरोना को लेकर CM गहलोत ने की जनता से अपील, नहीं किया नियमों का सख्ती से पालन तो होगी कार्रवाई

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बावजूद प्रदेशवासी अपने लापरवाही भरे व्यवहार में बदलाव लाकर मास्क पहनने, उचित दूरी बनाए रखने तथा भीड़ से दूर रहने के हैल्थ प्रोटोकॉल का  पालना नहीं करेंगे, तो राज्य सरकार सख्त कदम उठाने पर मजबूर होगी। मुने ख्यमंत्री निवास पर शनिवार रात को संक्रमण और टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा बैठक में यह बात कही। उन्होंकहा कि दूसरी लहर के दौरान संक्रमण बहुत अधिक तेजी से फैल रहा है तथा सभी लोग स्वास्थ्य नियमों का पालन कर इसे नियंत्रित रखने में सरकार की मदद करें। 

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के प्रसार के दौरान जिस तरह सभी वर्गों एवं समुदायों के लोगों ने राज्य सरकार का भरपूर सहयोग दिया और सभी स्वास्थ्य नियमों एवं अन्य दिशा-निर्देशों का पालन किया था, उसी भावना और समर्थन की फिर से आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हम सबके लिए यह चिंता का विषय होना चाहिए कि आज प्रदेश में कोविड के अभी तक के सर्वाधिक 4401 मामले सामने आए हैं। कोविड की इस गंभीरता को आम लोग अभी भी नहीं समझ रहे हैं। मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि कोविड प्रोटोकॉल यानी मास्क, सोशल डिस्टैंसिंग और हाथ धोना ही आपको इस बीमारी से बचा सकता है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने इसके लिए सभी जिलों में स्थानीय प्रशासन क्षेत्र के प्रभावशाली लोगों के साथ बैठक की तथा सख्ती के माध्यम से आमजन से स्वास्थ्य नियमों का पालन कराने की रणनीति बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगले एक-दो दिन में सभी कलेक्टर विभिन्न व्यापारी एवं व्यवसायिक संगठनों धार्मिक स्थलों के प्रबंधकों एवं अन्य प्रभावशाली लोगों के साथ बैठकें करें। इसी प्रकार पुलिस अधिकारी भी थाने के स्तर तक कम्युनिटी लाइजन ग्रुप (सीएलजी) के सदस्यों के साथ आवश्यक रूप से बैठकें कर कोविड प्रोटोकॉल के पालन में उनका सहयोग लेना सुनिश्चित करें।

सीएम गहलोत ने बताया कि उदयपुर में सबसे तेज गति से संक्रमण फैलने के कारण रात्रिकालीन कर्फ्यू शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक 12 घंटे की अवधि के लिए लगाया गया है। उन्होंने कहा कि उदयपुर में अधिक संख्या में टेस्ट किए जा रहे हैं, फिर भी हर तीसरा व्यक्ति कोरोना से संक्रमित पाया जा रहा है। यहां पॉजिटीविटी दर 30 प्रतिशत तक पहुंचने के साथ ही शहर के अस्पतालों में 66 प्रतिशत आईसीयू और ऑक्सीजन बेड पर मरीज भर्ती हैं।

उन्होंने कहा कि कोटा, जोधपुर और जयपुर में भी संक्रमण की गति काफी तेज है। इन शहरों में शनिवार को पॉजिटिविटी दर 22, 15 और 8.4 प्रतिशत रही, जो गंभीर चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को इस स्थिति के बारे में स्थानीय स्तर पर प्रभावशाली लोगों, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक संस्थाओं से चर्चा कर यह संदेश देना चाहिए कि वे लोगों को हैल्थ प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए प्रेरित करें, क्योंकि संक्रमण अधिक बढ़ने पर हालात बहुत बिगड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, पंजाब एवं गुजरात सहित कई राज्यों में संक्रमण की स्थिति बेकाबू हो रही है।

सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कई स्थानों पर कोविड टीकाकरण का काम रोकना पड़ सकता है। शनिवार को कई जिलों में वैक्सीन खत्म हो गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने रविवार को वैक्सीन के 4 लाख डोज उपलब्ध कराने की बात कही है, लेकिन हमारे पास 5 लाख 80 हजार वैक्सीन प्रतिदिन लगाने की क्षमता है, जो देश में सर्वाधिक है। बैठक में स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. राजाबाबू पंवार तथा एसएमएस मेडिकल कॉलेज के डॉ. सुधीर भंडारी सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने संक्रमण की तेज गति को नियंत्रित करने के लिए आगामी दिनों में कई कदम उठाने के सुझाव दिए।

सुझावों में वैवाहिक एवं सामाजिक आयोजनों में उपस्थित व्यक्तियों की संख्या 50 करने, रात्रिकालीन कर्फ्यू की अवधि शाम 6 से सुबह 6 बजे तक करने, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में धार्मिक मेलों, उत्सवों, जुलूस आदि पर रोक, सरकारी कार्यालयों की तर्ज पर निजी कार्यालयों में उपस्थिति 75 प्रतिशत करने, कोचिंग संस्थानों में कक्षाओं पर रोक लगाने, स्कूलों एवं शैक्षणिक संस्थानों में विद्यार्थियों को केवल परीक्षा के लिए ही प्रवेश तथा बसों एवं अन्य सार्वजनिक वाहनों में यात्रियों की संख्या पचास प्रतिशत करना शामिल है।