BREAKING NEWS

अखिलेश का BJP पर कटाक्ष, बोले- जिनके पास परिवार नहीं है, वे जनता का दर्द नहीं समझ सकते ◾Winter Session : राज्यसभा में हंगामे की भेंट चढ़ा शून्यकाल और प्रश्नकाल, सदन की कार्यवाही स्थगित ◾दिल्ली में 8 रुपए सस्ता हुआ पेट्रोल, केजरीवाल सरकार ने VAT में कटौती का किया ऐलान◾SKM का दावा '700 से ज्यादा किसानों ने गंवाई जान', तोमर बोले- सरकार के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं...◾4 दिसंबर को होगी SKM की अहम बैठक, रणनीति को लेकर होगी बड़ी घोषणा, टिकैत बोले- आंदोलन रहेगा जारी ◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के नेताओं के विवादित बयान ◾निलंबन के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विपक्ष का प्रदर्शन, राहुल समेत कई नेता हुए शामिल ◾EWS वर्ग की आय सीमा मापदंड पर केंद्र करेगी पुनर्विचार, SC की फटकार के बाद किया समिति का गठन ◾Today's Corona Update : एक दिन में 8 हजार से ज्यादा नए मामले, 1 लाख से कम हुए एक्टिव केस◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर समेत 2 आतंकी ढेर◾Winter Session: लोकसभा में आज 'ओमिक्रॉन' पर हो सकती है चर्चा, सदन में कई बिल पेश होने की संभावना ◾महंगाई : महीने की शुरुआत में कॉमर्श‍ियल सिलेंडर की कीमतों में हुआ इजाफा, रेस्टोरेंट का खाना हो सकता है मंहगा◾UPTET 2021 पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार◾कोरोना के नए वेरिएंट के बीच भारतीय एयरलाइन कंपनियों ने दोगुनी की कीमतें, जानिए कितना देना होगा किराया ◾IPL नीलामी से पहले कोहली, रोहित, धोनी रिटेन ; दिल्ली की कमान संभालेंगे ऋषभ पंत, पढ़ें रिटेंशन की पूरी लिस्ट ◾गृह मंत्री अमित शाह दो दिन के राजस्थान दौरे पर जाएंगे, BSF जवानों की करेंगे हौसला अफजाई◾पंजाबः AAP नेता चड्ढा ने सभी राजनीतिक दलों पर लगाया आरोप, कहा- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल बनाम सभी पार्टी होगा◾'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾

'सब ठीक है' का संकेत देने के लिए CM गहलोत की डिनर डिप्लोमेसी, क्या खत्म हो गए पार्टी में गिले-शिकवे

राजस्थान कांग्रेस में मची उथल-पुथल के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने सरकारी आवास पर कांग्रेस विधायकों के लिए रात्रिभोज का आयोजन किया, ताकि यह संदेश दिया जा सके कि राजस्थान के प्रभारी अजय माकन के पार्टी के साथ बातचीत का दौर पूरा होने के तुरंत बाद पार्टी में 'सब ठीक है'। गुरुवार की रात भोज का आयोजन किया गया। दो दिवसीय आमने-सामने बातचीत का उद्देश्य गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के नेतृत्व वाले दो खेमों के बीच दूरियों को मिटाना था।

हैरानी की बात यह है कि दिल्ली में होने के कारण पायलट इस तथाकथित डिनर डिप्लोमेसी में नदारद थे, जो शहर में चर्चा का विषय बन गया। इस बीच, सीएम ने अपने आह्वान को दोहराया कि सभी विधायक अतीत के गिले-शिकवे को भूलकर राज्य के विकास के लिए आगे बढ़ें। यह वही संदेश है जो उन्होंने पिछले साल पायलट के विद्रोह के बाद पार्टी में लौटने के बाद दिया था, जब प्रियंका गांधी वाड्रा सहित दिग्गज नेताओं ने राज्य में समीकरणों को संतुलित करने में हस्तक्षेप किया था।

बैठक को संबोधित करते हुए गहलोत ने सभी विधायकों को निर्देश दिया कि अगले कुछ महीनों में वे अपने क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यो का विवरण देते हुए एक निर्देशिका प्रकाशित करवाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विकास कार्यों में किसी प्रकार की कमी नहीं आने देगी। उन्होंने कहा, आप लोग मांग करते-करते थक जाएंगे, लेकिन देते हुए मैं कभी नहीं थकूंगा। माकन ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य का प्रभारी होने के नाते मैं मुख्यमंत्री से कहना चाहता हूं कि वह राजस्थान में उसी तरह विकास कार्य करवाते रहें जिस तरह से वे कर रहे हैं।

कांग्रेस के एक विधायक ने नाम न छापने की शर्त पर माकन को सलाह दी कि वरिष्ठ नेताओं को मार्गदर्शक की भूमिका दी जानी चाहिए। कई विधायकों ने माकन से उन मंत्रियों को हटाने को कहा, जिनके रिपोर्ट कार्ड सही नहीं है, नहीं तो आने वाले चुनावों में पार्टी को नुकसान हो सकता है। शनिवार को माकन पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों से बात करेंगे। सूत्रों ने कहा कि सभी विधायकों के फीडबैक का मूल्यांकन करने के बाद कांग्रेस आलाकमान को एक रिपोर्ट सौंपी जाएगी।