BREAKING NEWS

धमकी भरे फोन के बाद एयर एशिया फ्लाईट की इमरजेंसी लैंडिंग, 150 से अधिक लोग थे सवार◾6 जून से शुरू हो सकता है नयी लोकसभा का पहला सत्र◾लड़ाई कितनी भी लंबी हो, कभी पीछे नहीं हटूंगी : सोनिया गांधी◾BJP के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत , जानिए ! Modi का ये फॉर्मूला ◾MP की घटना में शामिल लोग BJP और Modi के हैं मतदाता : ओवैसी◾ADR रिपोर्ट : नयी लोकसभा में 475 सांसद करोड़पति, ये सांसद है सबसे आमिर◾सीबीआई ने कोलकाता के पूर्व पुलिस प्रमुख पूछताछ के लिए तलब किया ◾दाभोलकर हत्याकांड में गिरफ्तार 2 लोगों को एक जून तक CBI हिरासत में भेजा गया ◾PM मोदी ने माँ हीराबेन से लिया आशीर्वाद◾जेटली का स्वास्थ्य बिगड़ने संबंधी खबरें झूठी, निराधार : सरकार ◾आतंकवादी भारत के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाएं, इसलिए किया गया था बालाकोट हमला : जनरल रावत ◾अमेठी में सुरेन्द्र सिंह की हत्या पर स्मृति ईरानी बोली - दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवायी जाएगी◾राफेल सौदे में FIR या CBI जांच का कोई सवाल ही नहीं है : केंद्र ◾नरेन्द्र मोदी 30 मई को लेंगे प्रधानमंत्री पद एवं गोपनीयता की शपथ ◾इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, मिलकर काम करने की इच्छा जताई ◾मोदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी : बाबा रामदेव◾TOP 20 News 26 MAY : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी, करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को दिया कंधा◾राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में पार्टी के सफाए से राहुल गांधी ज्यादा नाराज !◾अमेठी : सुरेंद्र सिंह के भाई ने बताया- राजनीतिक रंजिश में हुई हत्या◾

राजस्‍थान

ब्यौरा नहीं देकर कांग्रेस सरकार ने किया किसानों का नुकसान : गजेंद्र सिंह शेखावत

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि राजस्थान सरकार ने प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना के लिए किसानों का ब्यौरा उपलब्ध नहीं करवाया जिससे राज्य के पात्र किसानों को नुकसान हुआ है। मंत्री ने कहा कि अगर अशोक गहलोत सरकार किसानों के ब्यौरे संबंधी प्रक्रिया पूरी कर देती तो उन्हें योजना के तहत पहली किस्त मिल चुकी होती।

शेखावत ने कहा, \"यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों का हित करने वाली सरकार बनने का दावा कर सत्ता में आई अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान के किसानों का नुकसान किया है।\" उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत राज्य की सरकारों को अपने अपने राज्य के लघु एवं सीमांत पात्र किसानों का ब्यौरा केंद्र सरकार को उपलब्ध करवाना था। इस योजना के तहत पात्र किसान को सालाना 6000 रुपये दिए जाने हैं।

\"किसान\"

राजनीतिक एजेंडे के लिए मनमानी व्याख्या करना मोदी की आदत : अशोक गहलोत

शेखावत ने दावा किया कि योजना के तहत पहली किस्त पौने तीन करोड़ किसानों के खातों में पहुंच चुकी है। मंत्री ने कहा, \"राजस्थान में 50 लाख से अधिक ऐसे लघु और सीमांत पात्र किसान हैं जिनको इस योजना के माध्यम से प्रत्यक्ष लाभ मिलना तय था। चूंकि इस योजना में सारा पैसा केंद्र सरकार दे रही है, अत: प्रदेश सरकार पर इसका एक रुपये का बोझ नहीं आना था। राज्य सरकार को केवल अपने यहां के पात्र किसानों की सूची देनी थी। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि गहलोत सरकार ने इन किसानों को उनके हक से वंचित रखा।\"

उन्होंने कहा, \"फौरी तौर पर एक लाख से कुछ अधिक किसानों का डेटा भेजा गया। इसमें से आधे से ज्यादा डेटा का विभिन्न त्रुटियों के चलते सत्यापन नहीं हो पाया। राजस्थान सरकार ने इस डेटा का पुनर्सत्यापन कर नहीं भेजा। लगभग 27,000 किसानों का डेटा सत्यापित हो गया लेकिन उनको पैसा स्थानांतरित करने का अंतिम आदेश दुर्भावनापूर्ण तरीके से राज्य सरकार ने आचार संहिता लागू होने तक रोके रखा। इस प्रकार इन किसानों को भी पैसा नहीं मिला।\" उन्होंने आरोप लगाया \"इस सरकार ने किसानों का निवाला छीना है। राज्य सरकार ने किसानों को उनके अधिकार से क्यों वंचित रखा, उसका जवाब उसे देना चाहिए।\"