BREAKING NEWS

दिल्ली परिवहन निगम ने 300 इलेक्ट्रिक बसें खरीदने को मंजूरी दी ◾आईएसएफ प्रमुख अब्बास सिद्दीकी का दावा, कहा- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता TMC और BJP की कठपुतली हो गए ◾PM मोदी के बाद अमित शाह ने भी लगवाई कोविड-19 वैक्सीन, मेदांता अस्पताल में ली पहली डोज◾देशभर में प्रचार करने वाले भगवा पार्टी के नेताओं ने असम में सीएए लागू करने पर चुप्पी साध रखी है : प्रियंका ◾BJP की ताकत उसका बूथ स्‍तर का कार्यकर्ता, जिन्होंने योजनाओं को अंतिम व्‍यक्ति तक पहुंचाया है : जेपी नड्डा ◾यूपी में सरकारी एवं निजी संपत्ति को नुक्सान पहुंचने वाले आंदोलनकारियों को होगी जेल, विधेयक को मिली मंजूरी ◾मुख्यमंत्री योगी बदलेंगे पश्चिम बंगाल में सियासी पारे का पैमाना, कल मालदा में रैली कर भरेंगे हुंकार ◾चुनाव से पहले भाजपा का आरोप, कोलकाता पुलिस फर्जी मतों के लिए कर रही है पोस्टल बैलट्स का गलत इस्तेमाल◾मुंबई की बिजली गुल करने के पीछे था चीनी हैकर्स का हाथ, पूरे भारत के पावरग्रिड सिस्टम को फेल करने का था प्लान◾नरेंद्र मोदी और आरएसएस को नहीं करने देंगे तमिल संस्कृति का अपमान : राहुल गांधी◾Corona Vaccine Registration : Co-Win पोर्टल पर आज शुरू हो गया रजिस्ट्रेशन, जानें पूरी प्रक्रिया◾तमिलनाडु में बोले राहुल गांधी- राज्य में ऐसा व्यक्ति CM जो तमिल संस्कृति का प्रतिनिधित्व करता हो◾किराएदार सिपाही के पति ने मकान मालिक के परिवार को जलाया जिंदा, 2 मासूमों की मौत ◾दो दिवसीय असम दौरे पर पहुंची कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, कामाख्या मंदिर में पूजा से की शुरुआत ◾देश की एक बड़ी जमीन मोटे अनाज के लिए बहुत उपयोगी, किसानों के लिए ये चीज प्राथमिक जरूरत है : मोदी◾महीने के पहले दिन आम आदमी को एक और झटका, LPG सिलेंडर के दामों में हुआ इजाफा◾Today's Corona Update : देश में कोरोना संक्रमण के सामने आए 15,510 नए मामले, 106 मरीजों की मौत◾दुनिया में कोरोना मरीजों की संख्या 11.4 करोड़ से अधिक, 25.3 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत◾डोनाल्ड ट्रंप ने किया बड़ा ऐलान, कहा- नई पार्टी शुरू करने की योजना नहीं, रिपब्लिकन का दूंगा साथ ◾देश में आज से कोरोना वैक्सीन का दूसरा चरण शुरू, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को लग रहा है टीका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जयपुर : PAK के साथ सेना की गुप्त जानकारी साझा कर रहा डिफेंस कर्मचारी गिरफ्तार

मिल्रिटी इंटेलिजेंस (एमआई) जयपुर द्वारा दिए गए खुफिया इनपुट के आधार पर राजस्थान पुलिस ने राज्य के निवारू में मिल्रिटी इंजीनियरिंग सर्विसेज (एमईएस) के एक नागरिक रक्षा कर्मचारी को 'जासूसी एजेंट' के रूप में काम करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। यह कर्मचारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सेना की गुप्त जानकारियां दे रहा था।

इस साल सितंबर में एमआई जयपुर को पता चला था कि निवारू में एक 'जासूसी एजेंट' काम कर रहा है, जो पाकिस्तान में अपने संचालकों को सैन्य-संबंधित जानकारी दे रहा था। इस व्यक्ति की पहचान एमईएस के साथ काम करने वाले एक सिविल मोटर ड्राइवर रामनिवास गौरा (28) के रूप में की गई। पता चला कि गौरा फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से जसमीत कौर के नाम से पाकिस्तान इंटेलिजेंस ऑपरेटर (पीआईओ) के संपर्क में था।

पीआईओ के साथ 2 साल तक संपर्क में रहने के दौरान उसने निवारू और जयपुर की यूनिट्स और संरचनाओं के बारे में जानकारी साझा की। साथ ही इन दोनों जगहों के विभिन्न कार्यालयों और कर्मचारियों के बारे में भी बताया। तब इसकी जानकारी जयपुर में पुलिस मुख्यालय के साथ साझा की गई और फिर गौरा को पकड़ने के लिए संयुक्त अभियान चलाया गया।

इसके बाद गौरा को शुक्रवार को हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ के दौरान उसने कथित तौर पर कबूल किया है कि उसे फरवरी/मार्च 2020 में पीआईओ की फेसबुक प्रोफाइल 'एकता' से फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली थी, जिसे उसने स्वीकार कर लिया था। जल्द ही उनकी अच्छी दोस्ती हुई और फिर व्हाट्पएप के जरिए ऑडियो/वीडियो कॉल और चैट शुरू हो गई।

पीआईओ ने एक भारतीय व्हाट्सएप नंबर का इस्तेमाल किया था और दावा किया कि वह प्रिंसिपल कंट्रोलर ऑफ डिफेंस अकाउंट (पीसीडीए) शिमला के साथ काम करती है। बाद में एकता ने गौरा से सैन्य जानकारियां लेनी शुरू कीं और इसके बदले में गौरा ने 10,000 रुपये मांगे। जयपुर पुलिस इंटेलिजेंस और एमआई आगे की जानकारियां जुटा रही हैं और अन्य एजेंसियां भी जांच में शामिल हो गई हैं।

राजस्थान पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (इंटेलिजेंस) उमेश मिश्रा ने मीडिया को बताया कि टीम को पिछले कई दिनों से जानकारी मिल रही थी कि गौरा सेना की गुप्त सूचनाएं पाकिस्तान भेज रहा है। गौरा को पुलिस जल्द ही स्थानीय अदालत में पेश करके आगे की जांच के लिए पुलिस रिमांड मांगेगी। अधिकारियों ने कहा है कि अभी और सुराग मिलने की उम्मीद है।

कृषि कानूनों का विरोध कर किसानों को गुमराह कर रहे हैं मुख्यमंत्री गहलोत : सतीश पूनियां