BREAKING NEWS

वैज्ञानिक नवाचार के लिए हब के रूप में उभर रहा भारत : जितेंद्र सिंह ◾कोरोना योद्धाओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं : हर्षवर्धन◾राज्य, जिलों को कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों का पूर्व पंजीकरण को-विन 2.0 पर कराना होगा ◾वाम, कांग्रेस व आईएसएफ गठबंधन ने जनहित सरकार पर दिया जोर, पहले दिन दिखी दरार ◾अमित शाह ने तमिलनाडु, पुडुचेरी में तमिल भाषा और संस्कृति की सराहना की ◾जम्मू-कश्मीर : फारूक अब्दुल्ला का बड़ा बयान, बोले- चाहता हूं कांग्रेस मजबूत हो◾कृषि कानून वापस नहीं होगा तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा : राकेश टिकैत◾गणतंत्र दिवस हिंसा के लिए केजरीवाल ने केंद्र को ठहराया जिम्मेदार, कहा- तीनों कृषि कानून किसानों के डेथ वारंट◾महाराष्ट्र सरकार के वन मंत्री संजय राठौड़ ने दिया इस्तीफा, टिकटॉक स्टार की आत्महत्या के बाद उठ रहे थे सवाल◾भाजपा के शासन में अमीरी-गरीबी की खाई बढ़ी, कांग्रेस सत्ता में आएगी तो न्याय योजना को किया जाएगा लागू : राहुल◾किसान आंदोलन को धार देने की जुगत में लगी BKU, मार्च महीने में होगी दर्जन भर महापंचायत◾ मन की बात के कार्यक्रम में मोदी ने तमिल भाषा न सीख पाने को बताया अपनी कमी◾BJP अध्यक्ष नड्डा 2 दिवसीय दौरे पर पहुंचे वाराणसी, CM योगी समेत कई पार्टी नेताओं ने किया स्वागत◾मन की बात : PM मोदी बोले- जल सिर्फ जीवन ही नहीं, आस्था और विकास की धारा भी◾नए साल में भारत का मिशन सफल, अमेजोनिया-1 समेत 18 अन्य उपग्रहों ने श्रीहरिकोटा से भरी उड़ान ◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 11.3 करोड़ से अधिक ◾Today's Corona Update : देश में कोरोना संक्रमण के सामने आए 16,752 नए मामले, 113 मरीजों की मौत◾ चुनावी कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए अमित शाह आज तमिलनाडु और पुडुचेरी का करेंगे दौरा ◾चिदंबरम ने PM से किया सवाल, बोले- किसानों से बातचीत के लिये दिल्ली सीमा पर क्यों नहीं जाते मोदी◾किसान आंदोलन के प्रति समर्थन जुटाने के लिए राकेश टिकैत इन 5 राज्यों का करेंगे दौरा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजस्थान : डूंगरपुर प्रदर्शनकारियों की शर्त- अगर सरकार तीन मांगे माने तो नहीं उतरेंगे हाईवे पर

राजस्थान के डूंगरपुर में शिक्षक भर्ती में अनारक्षित पदों को आरक्षित करने की मांग को लेकर हिंसक हुए प्रदर्शनकारी अब अपनी तीन प्रमुख मांगों की शर्त के साथ हाइवे पर नहीं उतरने का फैसला किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कंकरी डूंगरी पर जनजाति संगठनों के प्रतिनिधिमंडल ने वार्ता की और जिसमें तय किया गया कि उनकी प्रमुख तीन मांगे हैं।

जिनमें प्रर्दशन के दौरान दर्ज मुकदमे वापस लेने, गिरफ्तार लोगों को छोड़ने एवं 1167 रिक्त पदों पर अनुसूचित जन जाति अभ्यर्थियों को नियुक्ति शामिल है। इन मांगों को मान लेने पर प्रदर्शनकारी हाइवे पर नहीं उतरेंगे। प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि सरकार के सामने उनकी ये तीन प्रमुख मांगे हैं और उनके पांच सदस्य सरकार के साथ उदयपुर में होने वाली बैठक में भाग लेंगे।

प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधिमंडल के वार्ता करने के बाद डूंगरपुर में फिलहाल कहीं से उपद्रव की खबर नहीं आई हैं लेकिन बताया जा रहा है कि उदयपुर जिले के आसपुर स्टेट हाइवे पर डाबेला में रास्ता जाम कर दिया गया है। उधर प्रतापगढ़ जिले के धरियावद, पीपलखूंट एवं अरनोद उपखंड तथा उदयपुर जिले ऋषभदेव क्षेत्र में भी आगामी चौबीस घंटों के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है।

उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए हाइवे एवं आस पास के क्षेत्रों में भारी पुलिस बल तैनात किया हुआ हैं। प्रदर्शन के दौरान दो दर्जन से अधिक वाहनों को आग लगा दी गई तथा कई जगहों पर तोड़फोड़ भी की गई है। उल्लेखनीय है कि शिक्षक भर्ती के अनारक्षित 1167 पदों को अनुसूचित जाति वर्ग से भरने की मांग को लेकर कांकरी डूंगरी पहाड़ पर गत सात सितंबर से प्रदर्शन किया जा रहा था जो 24 सितंबर को हिंसक हो गया था।

रीट परीक्षा से जुड़ी मांगों को लेकर हो रहे प्रदर्शन ने लिया उग्र रूप, पुलिस दल पर किया पथराव