BREAKING NEWS

SCO समिट में बोले PM मोदी- दुनिया के लिए कट्टरता एक बड़ी चुनौती, अफगानिस्तान है इसका उदाहरण◾यूपी में मानसून की भीषण तबाही जारी, अबतक 42 लोगों की मौत, ये जिले है सबसे ज्यादा प्रभावित ◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23 करोड़ के करीब, साढ़े 46 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾उत्तराखंड : कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा, CM पुष्कर सिंह धामी का ऐलान◾तेलंगाना कांग्रेस चीफ ने शशि थरूर को कहा था 'गधा', विवाद के बाद मांगनी पड़ी माफी ◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 34403 नए मामलों की पुष्टि, रिकवरी रेट 97.65 प्रतिशत ◾LAC विवाद : भारत की ड्रैगन को चेतावनी- रिश्तों को लेकर पूर्वाग्रहों से बाहर आये चीन◾कृषि कानूनों को एक साल पूरा : अकाली दल का 'ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च', धारा 144 लागू ◾SCO में ईरान और आर्मेनिया के विदेश मंत्री से मिले एस जयशंकर,अफगानिस्तान की स्थिति पर केंद्रित थी बातचीत ◾राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रमुख मंत्रियों, नेताओं समेत राहुल गांधी ने पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुशांबे में चीनी समकक्ष वांग से की मुलाकात◾आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजस्थान में मूसलाधार बारिश से कई इलाकों में बाढ़ के हालात, गहलोत बोले- जरूरत पड़ने पर ली जाएगी सेना की मदद

देश में मॉनसून अपने चरम पर है और उत्तर और मध्य भारत में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। तेज बारिश ने लोगों को राहत देने के बजाए उनके लिए आफत बनकर आई है। मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान के कई इलाके भी बाढ़ की चपेट में आ गए है और कुछ को हाई अलर्ट पर रखा गया है। राजस्थान के हाडौती क्षेत्र में लगातार बारिश से कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है, यहां 100 से अधिक गांवों से सड़क सम्पर्क टूट गया है।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘‘कोटा, बारां, बूंदी एवं झालावाड़ के कुछ इलाकों में भारी बारिश से बाढ़ के हालात बन गए हैं। प्रशासन को राहत एवं बचाव कार्यों के संबंध में निर्देश दिए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) एवं सिविल डिफेंस के दल मदद कार्य कर रहे हैं। जरूरत पड़ने पर सेना की मदद ली जाएगी।’’
उन्होंने बुधवार को ट्वीट किया, ‘‘धौलपुर में भी चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है एवं भरतपुर में अधिक बारिश के कारण कुछ इलाकों में बाढ़ के हालात बन सकते हैं। भरतपुर एवं धौलपुर में भी प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है। आमजन से अपील है कि सावधानी बरतें एवं परेशानी होने पर प्रशासन को तुरंत सूचित करें।’’ मौसम विभाग के अनुसार पिछले कुछ दिनों में राज्य के पूर्वी इलाकों में भारी बारिश हुई है। बारां और उसके आसपास के क्षेत्रों में भारी से अति भारी बारिश के कारण कई गांव द्वीप जैसे बन गये है और उनका सड़क सम्पर्क कट गया है।

एसडीआरएफ कमांडेंट पंकज चौधरी ने कहा कि बल के दलों को उन इलाकों में तैनात किया गया है जहां बाढ़ जैसी स्थिति बन रही है। दलों को खासतौर पर धौलपुर, सवाईमाधोपुर, करौली में तैनात किया गया है। धौलपुर में चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। चौधरी ने बताया कि चंबल नदी में खतरे का निशान 129.79 मीटर पर है और खतरे का स्तर 130.79 मीटर है जबकि बुधवार सुबह नदी का गेज 143 मीटर था और जल स्तर बढ रहा हैं।
वहीं पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी इलाकों में व्यापक बारिश का दौर जारी है। बारां, सवाईमाधोपुर, कोटा और बूंदी के कई इलाकों में भारी बारिश और अन्य कई इलाकों में भारी से अति भारी बारिश दर्ज की गई। विभाग के अनुसार सबसे अधिक बारिश कोटा के खातोली में 280 मिलीमीटर, बूंदी में 258 मिलीमीटर दर्ज की गई। विभाग ने आगामी दो दिन पूर्वी राजस्थान के कुछ इलाकों में भारी से अति भारी बारिश की संभावना जताई है।